Donation In Hindi | Donation Kya hai meaning in hindi | हिंदू सनातन धर्म में 9 प्रकार के दानों का वर्णन किया गया है

 डोनेशन क्या है? Donation ka matlab kya hota hai

किसी व्यक्ति द्वारा अर्जित किए गए धन में से कुछ पैसा स्वेच्छा से समाज में दिए जाने की प्रक्रिया को दान(donation) कहते हैं। डोनेशन का हिंदी में मतलब ‘दान’ होता है। डोनेशन एक english शब्द है। डोनेशन की दूसरी परिभाषा/मीनिंग – किसी पुरुष, स्त्री या किशोर बालक द्वारा कमाए गए पैसो को गरीबो की मदद के लिए देना भी दान ही कहलाता है। आज इस पोस्ट में डोनेशन से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी दी जायेगी।

दान देने के फायदे (Donation Benefits)

ऊपर के शुरुआती परिचय में आपने दान क्या है और उसका मतलब क्या है उसके बारे में पढ़ा। अभी डोनेशन देने के फायदे जानते हैं;

  1. आप सिर्फ अपने देश में ही नहीं पूरे विश्व में प्रसिद्ध होते हैं।
  2. दान देने वाले व्यक्ति का नाम स्मारकों व शिलालेख पर लिखा जाता है।
  3. दान चाहे 1,000/- रूपये का हो या एक हजार करोड़ का उसका एक महत्व होता है।
  4. दान करने से आपके धन की कीमत जीवनभर के लिए बन जाती है। उदाहरण के लिए अगर आपके पास अतिरिक्त एक लाख रुपये है तो उसको खाने-पीने की चीजों में उड़ाने की जगह आप इससे अच्छी प्रेरणादायक पुस्तकों को खरीदकर गरीब बच्चो में बांटते हैं तो उससे सैकड़ो बच्चो का भविष्य बन सकता है। क्योंकी ज्ञान से ही मनुष्य अपने दुःखों को दूर कर सकता है बाकी कोई तरीका नही।
  5. डोनेशन देने से आपके बच्चे आप पर गर्व करते है, गांव वाले सम्मान देते है। कई भी कार्यक्रम में बुलाते हैं तों आपको सम्मान देते हैं
  6. आपकी वजह से देश का विकास होता है। राज्य सरकार ऐसे लोगो को राज्यीय स्तर पर सम्मानित करती है।
  7. मनुष्य को किसी भी तरह का डोनेशन देने पर आत्मसंतुष्टि मिलती हैं। वो खुशी दानकर्ता व्यक्ति बार-बार हासिल करना चाहता है।

दान कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Donation in Hindi)

#1.पैसो का दान [Money Donation]

ऐसा माना गया है की सभी डोनेशन में धन के दान को सबसे उच्चा माना गया है। क्योंकी पैसो से किसी भी व्यक्ति, सामाजिक संगठन, सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों को आर्थिक सहायता मिलती हैं।

#2.विद्या का दान [Knowledge Donation]

पैसो के बाद विद्या यानी ज्ञान के दान को सर्वश्रेष्ठ माना गया है। शास्त्रों में अध्यापक को गुरु के समान उपाधि दी गई है। यह दान मुफ्त में मिलता है। यह आप अपना किसी भी एक या दो से अधिक क्षेत्रो में अपना नॉलेज बढ़ाकर अपने गांव शहर में लोगो को बांट सकते हैं।

#3.कन्या का दान [Girl Donation]

इसका आप उल्टा अर्थ मत निकालना। कन्यादान का मतलब होता है जब कोई पिता अपनी बेटी की शादी कराता है उस प्रक्रिया में बेटी को ससुराल वालों को सौंपना पड़ता है उसी को कन्यादान कहते है।

#4.गौ का दान [Cow Donation]

भारतीय संस्कृति में गाय को कामधेनु कहा जाता है कामधेनु का मतलब है, आपकी सभी इच्छाओं को पूरा करने वाला। गाय उस व्यक्ति को दी जाती है जिसको गाय के मह्त्व के बारे में जानकारी हो, जो तन-मन-धन से उसकी सेवा कर सके। तभी ये दान आपका फलित होंगा।

#5. गुरु दक्षिणा का दान [Guru Dakshina]

हर इंसान जिसने इस धरती पर जन्म लिया है, जो किसी भी क्षेत्र में सफल है उसका कोई न कोई गुरु जरूर होता है। वैसे जो अनपढ़ व्यक्ति होता है उसका भी कोई न कोई सांसारिक व आध्यात्मिक गुरु जरूर होता है। गुरु ने जो उसको ज्ञान दिया उसके बदले में दिए गए उपहार को गुरु दक्षिणा का दान कहा जाता है। इसमे गुरु स्वयं अपनी इच्छा से किसी वस्तु को मांगते हैं।

#6. समय का दान [Time Donation]

समयदान का कॉन्सेप्ट भारत के आध्यात्मिक शहरों व गांवो में देखने को मिलता है। जहाँ पर व्यक्ति बिना पैसे लिए अपनी इच्छा से कुछ समय के लिए कार्य करता है। इसी को टाइम डोनेशन कहा गया है। इसको आप वोल्युण्टरिंग भी कह सकते है 

#7. जीवन का दान [Life Donation]

किसी आध्यात्मिक, सामाजिक, सरकारी-गैर सरकारी संस्थाओं, आश्रमो, मंदिरों में अपने पूरे जीवन को समर्पित करने को जीवनदान कहते है।
भारत में अधिकतर लोग 60 साल की आयु के बाद जीवनदान देते हैं व अपनी शेष जीवन को किसी एक काम को करने में लगा देते हैं।

#8.स्वास्थ्य का दान [Health Donation]

सेहत दान के अंदर भी दो कैटेगरी है पहली अंग्रेजी एलोपैथी चिकित्सा  इस चिकित्सा पद्धति के अंतर्गत बहुत धनी व्यक्ति अपने पैसो से बाजार से शरीर का अंग, खून आदि जरूरत की दवाएं खरीदकर मरीज तक पहुँचाता है।

दूसरी आयुर्वेदप्राकृतिक चिकित्सा  द्वारा रोगी को ठीक करना वही दूसरी और ऊपर बताई नेचुरल चिकित्सा पद्धतियों में अमीर व्यक्ति अपने पैसो से रोगी को बिना दवाई और डॉक्टर की मदद से ठीक करता है।

#9. भूमि दान [Land Donation]

भूमिदान में एक धनी व्यक्ति समाज के किसी अच्छे काम के लिए अपनी जमीन दान करता है जिसमे गौशाला के लिए भूमि, गुरुकुल के लिए, पानी की प्याऊ लिए, बस स्टैंड आदि जगहे शामिल है।

 

दान देने के लिए सुविचार (Donation Quotes in Hindi)


ज्यादातर लोग जिनके पास बहुत सारे पैसे भी होते हैं पर उसको दान करने के लिए इंटरनेट पर मोटिवेशन खोजते हैं। ऐसे विचारो की तलाश करते हैं जिनसे उन्हें डोनेशन देने की प्रेरणा मिले।

 

राजा बलि, दानवीर राजा कर्ण और राजा विक्रमादित्य इन तीनो की संसार में अबतक प्रशंसा दान देने के कारण ही होती है। दान देने से ये लोग इतिहास के पन्नो में अमर हो गये।

 

कौटिल्य अर्थशास्त्र ग्रंथ में आचार्य चाणक्य ने कहा है की जो व्यक्ति दान नही करता उसका धन नष्ट हो जाता है।

 

डोनेशन देने से धन में वृद्धि होती है। कई अवतारी पुरुषों व साधु-संतो ने दान के माहात्म्य को बताया है।

 

भारत के समझदार धनी व्यक्ति इनकम टैक्स को पैसा नही देते क्योंकी उनका मानना है की इसी पैसो से पानी की प्याऊ बनवा दो, सामाजिक कार्य करवा दो ताकी इससे जीवनभर सबको लाभ होंगा।

 

जितना हम डोनेशन देते हैं उसका दस प्रतिशत बढ़कर वापस हमारे पास किसी न किसी मार्ग से आ ही जाता है। ऐसे में ये नफे का सौदा है।

भारत में कौनसा व्यक्ति सबसे अधिक दान देता है? (Biggest Donor in India Hindi Me)

शायद आपको इसकी जानकारी नहीं होंगी की दान देने की शुरुआत पूरे विश्व में सबसे पहले भारत (india) में हुई थी। भारत में बहुत सारे बड़े-बड़े दानवीर राजाओ ने जन्म लिया था, जिनके बारे में आप ऊपर पढ़ चुके हैं। सनातन (हिंदू) धर्म के वेद-शास्त्रों में दान के बारे में बहुत विस्तार से वर्णन किया गया है। अभी जानते हैं भारत में कौन वे व्यक्ति है जिन्होंने सबसे अधिक डोनेशन दिए और हर साल देते है,पहले नम्बर पर टाटा कंपनी के संस्थापक श्री रतन टाटा जी है। रतन टाटा हर साल 50 अरब रूपये का डोनेशन देते है। दूसरे नम्बर पर विप्रो कंपनी के मालिक अजीम प्रेमजी है। Wipro India एलईडी बल्ब व लाइट बनाने वाली कंपनी है जो पूरी दुनिया में फैली हुई है। तीसरे स्थान पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के फाउंडर मुकेश अंबानी है। इनकी पत्नी नीता अंबानी भी बहुत अधिक दान करती है। अगर बॉलीवुड में अभिनेताओं की बात करे तो नाना पाटेकर, सोनू सूद सबसे अधिक चैरिटी करते है। वही साउथ इंडियन फ़िल्म के हीरो में सुपरस्टार रजनीकांत और महेश बाबू सबसे ज्यादा लोगो की सहायता करते हैं। राजस्थान में दानवीरों को भामाशाह कहते है। हर राज्य में डोनर का अलग-अलग नाम होता है।

इस तरह आपने दान यानी डोनेशन के बारे में सबकुछ जाना। इस पोस्ट को अपने गांव-शहर के हर धनी/मध्यम वर्गीय व्यक्ति तक पहुंचाओ। ताकी उसको भी इस आर्टिकल का लाभ मिल सके। अपने सवाल/सुझाव/विचार नीचे ब्लॉग कॉमेंट सेक्शन में लिखे।


इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

भारतीय संस्कृति में गाय का महत्व

ध्यान क्या है और कैसे करे?

 शरीर कमजोर होने का कारण बनती है ये गलत अनहेल्दी फूड की आदतें

 सुबह जल्दी नहाने के फायदे 

इन वीडियो ने मेरी जिंदगी बदल दी | Life Changing Videos

किसी के पास ज्ञान है तो पैसा नहीं है और पैसा है तो ज्ञान नही

जब इंसान मौत के करीब होता है तब वो कैसा महसूस करता हैं? 

भारत की ऐसी जगहें जिसको मरने से पहले जरूर देखें

 भारत में बन रहे मेगा प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी

Leave a Comment