My Job story in Hindi – मुम्बई, दिल्ली, हैदराबाद, ऑनलाइन, ऑफलाइन नौकरी कैसे पाएं?

My Job story in Hindi | koi bhi job chahiye तो मेरी ट्रिक अपनाए

ये पोस्ट में उन सभी लोगों के लिए लिख रहा हूँ जो किसी भी मकसद से शहर में नोकरी करना चाहते हैं वो कारण निम्नलिखित हो सकते हैं।

  • हो सकता है आप गांव में रहते हो व शहर जाने या वही पर स्थानीय निवासी बनने के लिए आपने नोकरी करने की योजना बना दी हो।
  • हो सकता है आप किसी पारिवारिक समस्या के कारण नोकरी  की तलाश के चक्कर में जा रहे हो।
  • हो सकता है शहर की चकाचौंध भरी रोशनी को देखने व नया अनुभव लेने के लिए जा रहे हो।

देखिए कारण जो भी हो , आज की यह पोस्ट उन सभी लोगों के लिए मददगार साबित होंगी जो किसी महानगर या छोटे शहर में नोकरी की तलाश में जा रहे हैं।

मुम्बई में नौकरी करने का अनुभव ( Mumbai me mujhe naukri kaise mili)

राजस्थान हो या कोई भी राज्य हर व्यक्ति की यह इच्छा होती है की वह ड्रीम सिटी मुम्बई को एकबार देखे। लेकिन मैं मुम्बई किसी अन्य कारण की वजह से जा रहा था। और वह कारण था की मुझे शहर का माहौल देखना था। इसी बीच मेरे गाँव के दुकान के नजदीक ही जैन सेठ की दुकान थी। वे लोग अपने पूरे परिवार के साथ मुंबई जा रहे थे। तो मैं भी उनके साथ चल दिया ये सोचकर की उनकी दुकान पर जॉब भी कर लेंगे और सिटी लाइफ का मजा भी ले लेंगे। जैसे ही मुम्बई पहुंचा और हाथ-मुंह धोकर अपने सेठ की दुकान पर पहुँचा तो वहाँ पर पहले दिन तो जैन सेठ जिसे राजस्थानी भाषा में (बाणिया) कहाँ जाता है उसने अच्छी ख़ातिदारी की। लेकिन उसके बाद जो हुआ उस पूरी घटना से मुझे अहसास होने लग गया की बॉम्बे नोकरी करने वाले लोगो के लिए नर्क हैं। ध्यान रखे मैं Unprofessional जॉब की बात कर रहा हूँ। जिसमें कोई डिग्री या अनुभव की जरूरत नहीं होती। बस आपको कुछ काम दिया जाता है और आप उसको करते हो। हुआ यूं की वो सेठ मुझे एक सेकेंड भी फ्री बैठा हुआ नही देखना चाहता था। काम मेरे से दबाकर लेता था व उसके बदले में मुझे दो समय की टाइम पर रोटी भी नही मिलती थी। सुबह का भोजन दोपहर 2 बजे मिलता था उससे पहले कोई चाय-नाश्ता नही तथा शाम का भोजन 9 बजे मिलता था। देखा आपने? कितना हरामी सेठ था। यहाँ पर मैंने सिर्फ 15 दिन नौकरी की जो की 15 साल के बराबर थी। हर एक दिन मुझे एक साल के बराबर लगता था। उन दिनों बारिश का मौसम था उस समय भी वो मुझसे बिना रुके नॉनस्टॉप काम करवाता था। जबकी पैसो की उसके पास कोई कमी नही थी। सिर्फ नियत में खोट थी। मेरा आपसे यही अनुरोध है की अगर आप भी मेरी तरह शहर का माहौल देखने जा रहे हैं वो भी बॉम्बे में तो जैन (jain) के पास नोकरी बिल्कुल ना करें। किसी अन्य कास्ट जैसे कुमार, चौधरी या अन्य जाती के वहाँ पर नोकरी करते हैं तो आपको दिक्कत नही आयेगी। हम दुकान में काम करने वाले सभी लड़के जिस कमरे में रहते थे। उतने एरिया में तो सिर्फ मेरे गाँव की छत थी। मतलब बहुत छोटा कमरा था।

हैदराबाद में नौकरी करने का अनुभव (traditional job experience in Hyderabad)

हैदराबाद जॉब स्टोरी भी मुझे दो टुकड़ों में बांटनी पड़ेंगी। क्योकी हैदराबाद में पहली नौकरी की कहानी बहुत दुखद और इमोशनल है वही दूसरी स्टोरी बहुत रोचक और इन्फॉर्मेशनल है।

【Hyderabad job Struggle Part -1 】
ये बात उस समय की है जब मेरे अंदर अपने बिगड़े स्वास्थ्य को ठीक करने का भूत सवार था। मुझे उस समय हेल्थ का मतलब यही पता था की इसके लिए अच्छा भोजन करना पड़ता है। लेकिन हकीकत तो यह है की आपको पहले जो गलत खा रहे हो उसे छोड़ना पड़ेंगा। वरना आप कितना भी अच्छा खा लो, साथ में गलत फ़ूड को नही छोड़ रहे तो बहुत दिक्कत आयेगी। आपको जानकर यह हैरानी होगी की गलत भोजन में वो सबकुछ आता है जो आप सुबह से शाम खाते हैं। लेकिन ये मुझे ज्ञान नहीं था। वही दूसरा कारण हैदराबाद जाने का, ताकी कोई नया शहर घूमने को मिलेंगा। इसी बीच जब मैं हैदराबाद जाने वाली ट्रेन में बैठा था तो हर किसी से अनजान व्यक्ति से दोस्ती बनाकर नोकरी की बात कर रहा था। क्योकी मैं उस समय घर से ये मन बनाकर निकला था की कैसे भी करके 3-5 महीने में घर पर नही आऊंगा। मुझे कैसे भी करके पैसे कमाकर अच्छा भोजन करना है व मुझे एक शांत वातावरण की भी जरूरत थी। ऐसे में रेल के अंदर एक गुजराती मिला उसका ढाबा चलता था, उसने मुझे अपने ढाबे पर रखने के लिए हामी भरी लेकिन मैंने उसको मना कर दिया। उसके बाद मुझे एक राजस्थानी लड़का मिला जो राजस्थान के बीकानेर जिले का निवासी था उससे मैंने बात की तो उसने बोला की लकड़ी का काम है जिसमें आपको हेल्प करनी है। इस लड़के ने हैदराबाद में एक बड़ी बिल्डिंग में कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा था उसमें मुझे जॉब दिलाने में मदद की। लेकिन साथ ही उसने मुझे बुली (bully) भी बहुत किया, मानसिक रूप से प्रताड़ित किया, मुझे बहुत बार टॉर्चर किया। अभी उस कंपनी के निर्माण कार्य में, मैं और मेरे साथ वाले लड़के सुबह 9 बजे हेलमेट पहनकर जाते थे व शाम 11 बजे वापस आते थे। उस कंपनी में Amazon & Flipkart ई-कॉमर्स कंपनी के ऑफिस भी बन रहे थे। यहाँ पर मैं गधों की तरह काम करता था। लेकिन इसके साथ-साथ जिंदगी के बहुत सारे अनुभव भी सीख रहा था। इसी के साथ अब मैं इस बेकार जिंदगी से ऊब गया था। फिर मैंने यहाँ से भागने की तौयारी की। अपने 15 दिन की 4,500 रूपये तनख्वाह लेकर निकल गया दूसरी जॉब की तलाश में क्योकी मुझको दो से तीन महीने कैसे भी करके घर के बाहर गुजारने थे।

【 Hyderabad job Struggle Part -2 】
अभी हैदराबाद की दूसरी जॉब के बारे में बताता हूँ। यहाँ पर मैं हैदराबाद मेट्रो में बैठे-बैठे ही अपनी फोन कांटेक्ट लिस्ट को खंगलाना शुरू किया। तब मुझे एक जाना-पहचाना नम्बर मिला उनको फोन करके उनसे घर का पता पूछा। Actually वो आदमी मेरे दादा के कुछ रिश्ते में लगते थे इसलिए शाम को अपने घर पर ही रखा, प्यार से रोटी खिलाई, उनके बाथरूम में नहाने का भी मजा आ गया। उनकी प्यारी छोटी-छोटी बेटियो ने मेरे पैर छुए, वो पल मेरे लिए बहुत यादगार था। फिर उन्होंने अपने जाती भाई को फोन लगाया जहाँ पर मुझे नोकरी करनी थी। एकदिन तो रुका उनके घर उसके बाद सेठजी रात को बाइक लेकर मुझे लेने आये। उनकी मोटरसाइकिल में बैठकर रात को हैदराबाद के हाइवे का मजा लिया और रात 10 बजे उनके घर पर पहुंचा। घर पहुँचते ही वड़ा-पाव खाने को बोला। मैं फास्टफूड स्वास्थ्य की दृष्टि से नही खाता था। लेकिन क्या करे इतने अच्छे घर, अच्छे लोग और अच्छे माहौल में पहला दिन था तो मना भी नहीं कर पाया। उनकी दुकान हार्डवेयर की थी। जिसमें लाइट-फिटिंग्स, पानी नल का का सामान और कलर पेंट सबकुछ मिक्स था। पहला दिन बहुत अच्छा था पहला दिन क्या मैं वहाँ पर कुल दो महीने का समय गुजारा जिसमें घर के लोग, हर रविवार को उनके परिवार के सदस्यों के साथ घूमने जाना, सुबह समय पर नाश्ता, दोपहर 1 बजे भोजन, कभी-कभी भोजन नही मिलता तो पैसे दे देते थे की जा तुझे जो खाना है वो खाले। लेकिन यही नहीं बात खत्म होती सेठ और सेठानी ने भी खूब प्यार दिया। मेरे बहुत सारे अधुरे सपने भी पूरे हुये। लेकिन किसी व्यक्ति ने क्या खूब लिखा है


नौकरी चाहे एक हजार की हो या 15 लाख की उसमें लड़ाई-झगड़ा, गुस्सा, तनाव, चिंता ये सब चीजें तो होनी ही है

यही मेरे साथ हुआ, मैंने कुछ लोगो को अपना भेद बता दिया था की मैं किस वजह से यहाँ पर काम कर रहा हूँ। इसी कारण उसी घर के कुछ सदस्य मुझे रोज परेशान करने लग गये। वही उस दुकान पर एक सीनियर जवानी में ही बुढ़ा बन चुका एक नोकर रहता था। उसने मेरे ऊपर बहुत सारी पाबन्दियां लगा दी थी। उसी से तंग आकर मैंने यह नोकरी भी छोड़ दी। यहाँ पर मुझे जो खाना-पीना मिला और अच्छा माहौल मिला उसी की कीमत 50,000 से अधिक थी। लेकिन मैंने उसको नही जोड़ा। कैश की बात करे तो उन्होंने 5,000 रूपये दिये थे। बाकी के पैसे सेठ ने बोला की मेरी दुकान पर नोकरी के लिए फिर से आ तब दूंगा। लेकिन मैंने मना कर दिया।

दिल्ली में नौकरी की तलाश और धोखा [ Delhi job scams fraud in Hindi ]

इस पूरी कहानी को मैं दो हिस्सों में बाटूंगा ताकी आपको पढ़ने में मजा आये और इस रियल अनुभव से आप कुछ सीख पाओ।
【Delhi Job Story 1】
ये बात है उस समय की जब में किसी मोटिवेशनल स्पीकर के सेमिनार को देखने, भारत की राजधानी दिल्ली गया था। तब मुझे पैसो की जरूरत तो थी ही, ऐसे में मैंने गूगल पर सर्च किया ‘job in Delhi’ तब अमूल कंपनी में 15000 प्रतिमाह + रहना + खाना भी साथ में था इसके अलावा वेकेंसी की बात करे तो कुल 150 पंद्रह से पच्चीस वर्ष के नवयुवकों की जरूरत थी। ये सब शब्द आपको सुनने में अच्छे लग रहे हैं पर हकीकत जानोंगे तो आपके भी रोंगटे खड़े हो जायेगे। इसी बीच मैंने उस Assured Job (पक्की नोकरी) देने वाली कंपनी से फोन के द्वारा संपर्क किया तब उन्होंने मुझे दिल्ली मेट्रो के किसी गेट नम्बर पर आने को बोला उस एरिया का नाम तो मुझे मालूम नही लेकिन इतना जरूर याद है की मैं उस समय आरटीओ इन्द्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन के हाइवे पर ही खड़ा था। मैं उस जगह से निकलने ही वाला था की मुझे एक दिल्ली का युवा लड़का मिल गया जो Sbi बैंक में अच्छी गवर्नमेंट जॉब कर रहा था। उसकी सेलेरी 25,000 per Month थी। तब मैंने उस अमूल कंपनी की जॉब वाली प्रोफाइल उस लड़के को दिखायी तो उसने देखते ही इसको फ्रॉड बता दिया। उसने बोला भाई ये दिल्ली है यहाँ पर लोगो को चूना लगाने वाले लोग ज्यादा है। इसलिए इनसे बचकर रहे। फिर मैं उस लड़के को धन्यवाद बोलकर निकल गया। वरना पता नही मेरे साथ क्या होता।

【Delhi Job Story Part -2】
मुझे घूमने का शौक था। इसलिए मैंने ट्रेवल से संबंधित कोई जॉब सर्च की। उसमें मुझे एक ट्रेवल बस एंजेसी के बारे में पता चला। अभी मैंने बिना किसी पूछताछ के दिल्ली पहुँचकर उनसे जॉब के बारे में चर्चा की। जेसे ही उस 10 मंजिला इमारत के अंदर में घुसा और उस ट्रेवल बस सर्विस कंपनी के बारे में बात की, उसने साफ-साफ मना कर दिया की हमारे पास ऐसी कोई जॉब नही है। इनका ये ऑफिस दिल्ली के पॉश एरिया ‘कनॉट प्लेस’ में आया हुआ था। इस अनुभव से मुझे भी बहुत शर्मिंदगी महसूस करनी पड़ी। क्योकी मैं बिना किसी पूछताछ और डिग्री के वहाँ पर नौकरी माँगने चला गया। यही पर तीसरी कहानी भी इसी के साथ सुनाने का मन हो रहा है। जिसमें सैकड़ो लड़के-लड़कियां एक के बाद एक अपना इंटरव्यू दे रहे थे। मैं भी उस कतार में लग गया। जब मेरा भी नम्बर आ गया। तो मुझसे गेट के बाहर खड़ी एक लड़की ने पूछा आपका CV रिज्यूमे बताये। मैंने कहा मेरे पास तो नही है। उसके बाद इंटव्यू देकर आये यूपी के एक लड़के ने कहा की यार तुम भी अपना रिज़्यूमे बना दो तुम्हारी भी नौकरी लग जायेगी। लेकिन मैं वहाँ से निकल गया क्योकी नौकरी में करना नही चाहता था लेकिन मजबूरी ने मुझे लाइन में खड़ा कर दिया।

ऑनलाइन जॉब के बारे में पूरी जानकारी (Complete information about online job in Hindi Me)

Online Jobs का ट्रेंड दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है इसका कारण यही है की आज हर कोई इंटरनेट के आविष्कार का भरपूर फायदा उठाना चाहता है। और दूसरा कारण सभी लोग घर बैठे ही काम करना चाहते है जिसे Work From Home Job भी कहते हैं। आज मैं आपको पहले ऑनलाइन नोकरी खोजने के कुछ रास्ते बताता हूँ उसके बाद कुछ टिप्स बताता हूँ जिससे आपको अपने मनपसंद की जॉब आसानी से मिल जायेगी। इसी पैराग्राफ में कुल तीन उपउपबिंदु हैं। जिसमें ऑनलाइन जॉब के बारे सम्पूर्ण जानकारी दी गई है।

Online Job Kaise Dhundhe ?

सबसे पहले कुछ ऑनलाइन जॉब देने वाले पॉपुलर प्लेटफार्म यानी वेबसाइट है इन पर अपना खाता बनाकर, अपना एकाउंट बना सकते हैं। जैसे


ये मैंने जितने भी ऊपर डिजिटल नोकरी तलाश करने के रास्ते बताये है ये सबसे लोकप्रिय है इनपर काम करके आपको आसानी से वर्क फ्रॉम होम काम मिल जायेगा।

Online Job Karne Ke Fayde

डिजिटल वर्क यानी ऑनलाइन नॉकरी करने का सबसे बड़ा फायदा यही है की आप 24 घण्टे अपने परिवार के साथ रहते हैं। अगर आप शादीशुदा है तो अपनी पत्नी को भरपूर समय दे पाते हैं। अक्सर भारत की पत्नियों की ये शिकायत होती है की उनके पति उनको ज्यादा टाइम नही दे पाते। ऐसे में ऑनलाइन घर पर ही जॉब करने से आपका ट्रेवल शून्य हो जाता है।

Online Job Karne Ke Nuksan

डिजीटल काम करने का सबसे बड़ा नुकसान या समस्या यह होती है की आप अपने काम के बारे में किसी को बता नही सकते या समझा नही सकते हैं। क्योकी आपके आसपास के मेहमान तथा जितने भी लोग होंगे वे या तो ऑफलाइन ही कोई नोकरी कर रहे होंगे या फिर ट्रेडिशनल बिजनेस। ऐसे में उन लोगो को कुछ भी समझ में नही आता और वे आपको कामचोर, बेरोजगार तथा लोफर समझते हैं।

Online Job Fraud Scams से कैसे बचे? जानिए कुछ सेफ टिप्स

1. सबसे जरूरी है आपको इंटरनेट चलाने में रूचि होना। अगर आपको इंटरनेट चलाने में ही मजा नही आता तो आप इसकी सिक्योरिटी से संबंधित कुछ भी सीखना पसंद नहीं करेंगे।

2. ध्यान रखे अगर कोई आदमी जॉब दिलाने की गारंटी के नाम पर आपसे पैसा मांग रहा है। तो वो पक्का स्केमर है।

3. अपनी जीमेल में किसी भी अनजान ईमेल से बिना उसकी सत्यता जांचे कोई भी डॉक्युमेंट्स शेयर ना करे। जिस भी कंपनी की सत्यता जांच रहे हो, उस कंपनी की ऑफिशियल email id देख लेवे।

4. फ्रॉड मैसेज को परखकर उनको ब्लॉक कर देवे। फेक मेसेज वाले आपको मोटी तनख्वाह वाली सैलेरी देने का वादा करेंगे। ठीक उसी तरह जिस तरह एक साफ-सफाई वाले आदमी को सीईओ जितनी तनख्वाह दिया जाना।

5. फिजिकल जॉब हो या डिजिटल एक बात हमेशा ध्यान रखे की जो भी नाम आपको जासा देने वाला दलाल देता है उसको गूगल-यूटुब पर सर्च कर देवे। जिससे आपको उस कंपनी के सारे रिव्यूज मिल जायेंगे

Offline Job Karne ke liye Tips in Hindi

  1. जैन जिनको मारवाडी भाषा में वोणीयो कहते हैं इनकी दुकान पर भूल से भी नोकरी नही करे। क्योंकी ये लोग आपकी खाल में नमक भरके आपसे काम करवाएंगे। आपके साथ कुत्तो की तरह व्यवहार करेंगे।
  2. इसके उलट आप राजस्थान के चौधरी समाज की दुकान पर काम करेंगे तो आपको सभी प्रकार की सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। आपको ये लोग अपने बच्चों की तरह पालेंगे जो आप खायेंगे वो ही खुद खायेंगे। आपको हर रविवार परिवार के साथ घूमाने ले जायेंगे।
  3. ऑफलाइन जॉब में आपको मुख्य रूप से हार्डवेयर, इलेक्ट्रिक की दुकान, मिठाई की दुकान में ज्यादा काम मिलता है।
  4. ऑफलाइन यानी फिजिकल जॉब में जिस भी शॉप पर आप जा रहे हो उसके सेठ से पहले ही अपनी पगार (salary) के बारे में बात कर ले। वरना ये सेठिया आपसे फोगट में एक – दो महीना सिर्फ रोटी पर काम करवाएंगे। ऐसा मेरे साथ हो चुका है। जब आप बिना पगार के काम करके फिर पैसे के लिए बात करते हैं तो वो सेठ आग बबूला हो जाता है।
  5. ऑफलाइन नोकरी करते समय लोकेशन का भी बिल्कुल ध्यान रखें। क्योकी अक्सर ये लोग अपने वर्करों को इतना गंदा कमरा तथा आसपास का वातावरण देते हैं। की टीम बीमार हो जाती है।
  6. किसी अनजान के यहाँ पर नोकरी ना करे क्योकि 10 में से 1 ही सही होता है बाकी 9 लोग गलत स्वभाव के होते है जो आपका शोषण करेंगे।

Job Quotes in Hindi ( नौकरी करने के लिए प्रेरणादायक विचार )

हर कोई कहता है जॉब मत करो, लेकिन जब जीवन में पैसा कमाना सब कामो से सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है तब जॉब ही एकमात्र सहारा होता है।



तबतक नौकरी करो, जब तक की तुम आय का दूसरा स्रोत (income source) ना बना लो।



तुम्हारे परिवार में खाने के लाले पड़ रहे हैं और आपातकालीन पैसो की जरूरत है ऐसे समय में बिजनेस करने के बारे में सोचना मूर्खता है।



इस तरह आपने मुम्बई, दिल्ली, हैदराबाद में नौकरी करने के क्या फायदे हैं, वहाँ का माहौल तथा मेरे रियल लाइफ जॉब अनुभव को पढ़ा। क्या आप भी किसी नौकरी की तलाश कर रहे हैं? क्या इस पोस्ट से आपको फायदा मिला? अपने विचार नीचे ब्लॉग कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें।


इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

Hindi content writer job कैसे करें?

Volunteer बनकर पैसा व खुशी कैसे प्राप्त करे?

इंटरनेट पर पैसे कमाने के गलत तरिके एकबार जरूर पढे काफी समय बच जायेगा 

Gaon me konsa business kare 

ट्विटर से पैसे कैसे कमाए? 

Leave a Comment