Dr Awadhesh Pandey Health tips & Biography | Dr Amar Singh Azad biography

डॉ अवधेश पांडे का जीवन परिचय | डॉक्टर अमर सिंह आजाद का जीवन परिचय 

उपरोक्त दोनो क्रांतिकारी भारतीय डॉक्टरों का जीवन परिचय बताने से पहले मैं आपको ये बताना चाहता हूं इनको पूरे भारत में पहचान कैसे मिली। पहले भी ये अच्छा काम कर रहे थे लेकिन जब से  डॉक्टर बिस्वरूप रॉय चौधरी और आचार्य मनीष जी ने हिम्स हॉस्पिटल चंडीगढ़ में अपना अस्पताल खोला और कोरोना फर्जी महामारी के ऊपर अपने व्याख्यान देने लगे तब डॉक्टर अवधेश पांडे जी और एलोपैथी डॉक्टर अमर सिंह आजाद (भूतपूर्व)  भी इनके साथ जुड़ गए। यही से बिस्वरूप जी के फैन्स और फॉलोवर इन दो को जानने लग गए। इसके अलावा स्वदेशी के कट्टर समर्थक और महान समाजसेवी  राजीव दीक्षित जी  के समर्थक भी इन दोनों डॉक्टरों को जानने लगे।  उन लोगो में एक नाम मेरा भी है। विशेषकर में Docto Awadhesh Panday जी बहुत ज्यादा प्रभावित हुआ हूँ। इनका बोलने का अंदाज बहुत उम्दा है। चलिए आज अवधेश जी और अमर जी के जीवन के बारे में बात करते हैं ;

Dr Awadhesh Pandey Biography in Hindi ( डॉक्टर अवधेश पांडे की जीवनी )

dr avdhesh pandey wikipedia, dr awadhesh pandey himms,

Name  Dr Awadhesh Kumar Pandey
Date of birth1975
Birth PlaceDelhi
Age
45 years (2022)
QualificationMBBS, DRM, PHD.
Religion  Hinduism
Nationality Indian
Occupation Nuclear Physician
Language SpokenHindi, English
Height 5 ' feet × 30 inch
Weight- 55Kg
Father & MotherNot Known
Food Habit Vegan
Hometown New Delhi
Wife nameNot Known

डॉ अवधेश पांडे का जन्म हरियाणा और पंजाब की राजधानी चंडीगढ़ में हुआ था।  डॉक्टर अवधेश पांडे पूर्व में निजाम इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, हैदराबाद में असिस्टेंट प्रोफेसर रह चुके है। इसके अलावा मेरठ में नुक्लेअर मेडिसिन छत्रपति शिवाजी सुभारती हॉस्पिटल में हेड का कार्यभार भी संभाल चुके है।  इनके उत्तर भारत में बहुत सारे ‘INMAS’ नाम के चिकित्सालय सेंटर चलते है उन डाइग्नोस्टिक सेंटर का पूरा नाम ‘ institute of nuclear medicine and allied services’ है। वर्तमान में वे ‘HIIMS HOSPITAL’ चंडीगढ़ से जुड़े हुए हैं। अवधेश जी की शैक्षणिक योग्यता की बात करे तो वे Certified Nuclear Medicine Physician है। आप Himms हॉस्पिटल की टीम के मुख्य सदस्यों की सूची में शामिल हैं। डॉक्टर साहब इम्यून डीजिज और गंभीर रोगो अपने स्वास्थ्य ज्ञान से ठीक करते हैं।

 Dr Awadhesh pandey chandigarh Himms Hospital Health Tips 

#1.  आपकी शक्ल (चेहरा) आपके पूरे शरीर के स्वास्थ्य को दर्शाता है। ना की कमर,  मसल्स या हाथों के डोले-शोले या अन्य चीजें।

#2. जब हम कुछ भी सीधी बनी बनाई (कूक फ़ूड) खाते हैं। तो हमारे चेहरे पर झुर्रियां आ जाती है। चेहरे की त्वचा ढीली पड़ जाती है,  जिससे हम जवानी में ही बूढ़े दिखने लगते हैं।

#3. आजकल के लोग जिम (Gym) तो जाते हैं, डोले-शोले बनाते हैं पर उनका चेहरा लटका रहता है। शक्ल से वो बुजुर्ग दिखते हैं।

#4. जब हम कच्चा नारियल, कच्ची सब्जियां व फल खाते हैं तो चेहरे को पूरी तरह हिलाते है। या कोई भी ऐसा खाना हम खाते हैं जिससे हम जबड़ो को, दांतो को, मुँह को ज्यादा हिलाना पड़ता है उसमें हमारी चेहरे की स्किन टाइट होती है। बुढा आदमी भी जवान दिख सकता है।

#5. इसके अलावा आंखों की भौहें कम होना, आंखों के नीचे के बाल कम होना, आंख पीली पड़ जाना, ये सब किसी न किसी बीमारी के लक्षण है।

#6. आज लोग फेस शक्ल पर कोई ध्यान नहीं देता सिर्फ अपने  डोले-शोले पर ध्यान व्यस्त हैं। जबकी चेहरे का व्यायाम (फेसियल एक्सरसाइज) सबसे महत्वपूर्ण है। चेहरे पर 43 मसल्स है इनकी एक्सरसाइज नही करोंगे तो चेहरे की त्वचा ढीली पड़ जाएगी।

#7. जब हम भोजन, नारियल, गन्ना और अन्य अच्छी चबाने वाली चीजें एकसाथ खाते हैं तो चेहरे पर रौनक आती है। चेहरा चमकने लगता है। इसलिए कहा गया है  नीम का दातुन करो इससे दांतों की समस्या भी नही होंगी और  चेहरे पर भी रौनक आयेगी।

#8. जिन लोगों के दांत नही है वो गुबारा फुलाकर व शंख बजाकर भी अपने चेहरे का पूरा व्यायाम कर सकते हैं।

#9. दुनिया का कोई भी जानवर भोजन को पकाकर नही खाता। हम सब प्रकृति का हिस्सा है
उसके मालिक नही। 50%  कच्चा खाए और 50% आग लगाया हुआ कुक फ़ूड खा सकते हैं।ताकि शरीर की पांचों इंद्रियां संतुष्ट हो सके।

#10. invoke the divine before consuming any food का मतलब कोई खाद्य पदार्थ खाने से पहले भगवान को हाथ जोड़े उनके नाम का स्मरण करें।

#11. मॉडर्न साइंस के डॉक्टर बीमारी की जड़ को पकड़ने के बजाय उसको ऊपर से ही ठीक करने की कोशिश करते हैं यही समस्या है।

#12. आप गलत फ़ूड को छोड़कर क्या खाना है, कब खाना है, और कैसे खाना इन बातों का ध्यान रख देते हैं तो आप गंभीर से गंभीर रोगों से बच सकते है।

 Dr avdhesh pandey Achievements

  • डॉ अवधेश पांडे जी के पास राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में 13 प्रकाशन है।
  • जिसमें इंडियन जर्नल ऑफ नेफ्रोलॉजी में एक समीक्षा आर्टिकल है। उन्होंने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में 200 से अधिक मौखिक प्रेजेंटेशन दी हैं।
  • डॉक्टर साहब ने हजारो लोगो को  Whole Foods Raw Diet  से पूरी तरह रोगमुक्त किया है।
  • INMAS, National Heart Institute, New Delhi, Mohali, Chandigarh का कार्यभार संभालते है।
  • देहरादून, जालंधर, अमृतसर, सुभारती यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल मेरठ में CMI पद पर कार्यरत है।

Dr Awadhesh Pandey : Networth, income

डॉ अवधेश पांडे वर्तमान में चंडीगढ़ के डेरा बस्सी में बिस्वरूप रॉय चौधरी जी के हिम्स हॉस्पिटल में सलाहकार और उनकी टीम के मुख्य सदस्य के रूप में कार्यरत हैं। इसके अलावा वे अपना साइड में  क्लिनिक भी चलाते है जहाँ से वे मरीज को हेल्थ एडवाइस देकर अपनी आय अर्जित कर सकते हैं। मोटा माटी डॉ अवधेश पांडे जी महीने के 50,000 से 70,000 रूपये कमाते हैं। कुल संपति की बात करे तो 1 करोड़ से 2 करोड़ रूपये है।

Dr Awadhesh Pandey Contact Number और Address के बारे में जानकारी

National Heart institute दिल्ली के सेंटर में आप अवधेश जी से मिलना चाहते हैं तो इस पते पर जाए;  49-50 Community Centre, East of Kailash, Delhi। इसके अलावा Government Medical Collage & Hospital में सेक्टर 32, चंडीगढ़ शहर इनका पता है।  उनका सम्पर्क सूत्र (कॉन्टेक्ट नम्बर) Call Today to schedule an appointment! 88264 62558 . 78072 65049 . 97796 21200 है।

Alkaline Water Explained by Dr Awadhesh Pandey

घर पर ही डॉक्टर अवधेश पांडे का जादुई पानी (मैजिक वॉटर)  बनाने के लिए पहले एक मिट्टी का मटका लीजिए फिर उस मटके में एक कॉपर (तांबे) की गिलास या लोटा डाल दीजिए। ध्यान रहे मटके में पानी होना चाहिए। जैसे ही 12 घण्टे आपका तांबे का लोटा पानी में पड़ा रंहेगा वो मिनरल वॉटर बन जायेगा। अभी जानिए आगे के स्टेप क्रमबद्ध तरीके से;

  1. बारह घण्टे के बाद मटके से वो लोटा निकालकर उस लोटे की मदद से मटके के अंदर से पानी लेकर एक बर्तन में डाल दे।
  2. अभी आपने जो पानी डाला उसके अंदर एक नींबू का टूकड़ा, एक अदरक का टूकड़ा, दो मिर्च का टुकड़ा, धनिया, पुदीना, गाजर, खीरा, आँवला, इन सबके दो-दो पीस टुकड़ा करके उस पानी में डाल दे। और 6 घण्टे तक उस पानी को पड़ा रहने दे।
  3. ध्यान रखने वाली बात यह है की मिट्टी के बर्तन से जब आप पानी लो उसको एक बड़े जग में डाले > क्योकी इस Alkaline Water को बनाने में आपको कुल 18 घण्टे का समय लगेंगा तो क्या आप सिर्फ एक लोटा एलकाइन वाटर ही बनायेगे? इसलिए बड़ा जग ले।
  4. और उस पानी को 6 घण्टे होने के बाद दो टुकड़े आंवले के डाल दे। पहले नही डाले। इस तरह ये आपका ‘Alkaline Water’ मैजिक पानी बन जायेंगा।

Alkaline Water Benefits

कैंसर, लीवर प्रॉब्लम, शूगर, बीपी कब्ज, गैस, किडनी फेल, ऑटो इम्यून डिजीज इन सबमें ये एलकाइन वाटर जादू की तरह काम करता है। डॉक्टर अवधेश पांडे  बताते हैं की एसिडिटी में जीवन जलता है और Alkalinity में जीवन पलता है। आपका खून एलकाइन है। हम जो भी काम करते हैं बॉडी एसिड बनाती है।और उस एसिड को निकलने के सिर्फ चार ही तरीके है लेकिन पांचवा तरीका ये एलकाइन वाटर है।

When Is Best To Drink Alkaline Water?

सुबह खाली पेट उकडू आसन (हिंदुस्तानी टॉयलेट स्टाइल)  में बैठकर एक घूट पानी को लेकर उसे चबाना है। एक घूट को दस से बीस बार रोटी की तरह चबाए। इसको आपने दिन में तीन से चार बार पी लिया तो अनेक रोगो में ये रामबाण है।

Dr. Awadhesh Pandey All Social Accounts, Handle, ID

Mobile Number9646121701, 97796 21200,
Official WebsiteClick here
appointment!88264 62558 . 78072 65049,
email idnil
WikipediaNot Created

Dr Awadhesh Pandey reviews

रिव्यू देखने के लिए इनकी ऑफीशियल वेबसाइट Drpandey.org पर जाकर नेविगेशन मेनू में  reviews  या ‘Patient Stories’ पर क्लिक करें। या पर आपको विदेशी मरीज और भारतीय लोगो के भी रिव्यू मिल जायेंगे।

 Video: Dr. Awadhesh Pandey Chandigarh Wale





Dr Amar Singh Azad Biography in Hindi ( डॉक्टर अमर सिंह आजाद जीवनी )

dr amar singh azad patiala wikipedia, dr amar singh azad diet plan,

Name 
Amar Singh Azad
Date of birth1958 
Birth PlaceVillage Sarwan Bola
Age  65 Years Old
education qualificationGovernment Collage Ludhiyana
ReligionHinduism
OccupationAllopathy Dr. & Millet Man
DegreeMBBS, MD
Height 6' feet
Weight60Kg
Language SpokenHindi, English, Punjabi
Food Habit  
Vegan
Hometown Patiyala 
FatherNot Known
MotherNot Known
Wife name
Not Known
Nationality Indian

डॉक्टर अमर सिंह आजाद का जन्म भारत के पंजाब राज्य के मुक्तसर जिले में सारवान बोला गांव में हुआ था। अपनी जवानी डॉक्टर साहब ने मेडिकल कॉलेज पटियाला में  NACO सीनियर ऑफिसर के पद पर रहकर बितायी। लेकिन इनके क्लीनिक लुधियाना और अमृतसर शहर में भी चलते है। इसके अलावा बाबा फरीद यूनिवर्सिटी में हैल्थ सर्विस विभाग में अस्टिटेंट ऑफिसर और पंजाब सरकार में सीनियर मेडिकल ऑफिसर के पद पर भी रह चुके हैं। वर्तमान में डॉक्टर अमर सिंह आजाद अंग्रेजी दवाइयों और चिकित्सा के नुकसान जानने के बाद  लोगो को पंचदाना मिलेट और  प्राकृतिक चिकित्सा  से लोगो का इलाज करते हैं। साथ ही वे Himms Hospital चंडीगढ़ की टीम के मुख्य सदस्य भी है।

 Dr. Amar Singh Azad Achievements

  • डॉक्टर अमर सिंह आजाद कोरोना फर्जी महामारी के खिलाफ आवाज उठाने वाले पहले एलोपेथी डॉक्टर थे।
  • वर्तमान में ये शर्बत दा भला चेरिटेबल ट्रस्ट में काम रहे हैं।
  • बच्चो के लिए बाबा फरीद सेंटर में काम करते हैं। इसके अलावा खेती विरासत मिशन के भी सदस्य है।
  • अमर सिंह आजाद जी के पास पीडियाट्रिक्स में MBBS-MD की डिग्री और कम्युनिटी मेडिसिन में MD की डिग्री प्राप्त की है।

Dr Amar Singh Azad: Networth, income

डॉक्टर अमर सिंह आजाद भी चंडीगढ़ में Himms Hospital की टीम के मुख्य सदस्य हैं इसके अलावा वे पंचदाना मिलेट के बारे में भी बताते हैं।इन दोनों को मिलाकर उनकी आय प्रतिमाह 40,000 से  50,000/- रूपये है। कुल संपति  50 लाख है।

 Dr Amar Singh Azad Contact Number और Address के बारे में जानकारी

डॉक्टर अमर सिंह आजाद से किसी भी प्रकार की बात करने के लिए डायल करे 98726-61321 और स्वास्थ्य संबंधित सलाह प्राप्त करें। बात करे Address की तो आप इनके पटियाला शहर में जा कर मिल सकते हैं या फिर हिम्स हॉस्पिटल चंडीगढ़ में ये सप्ताह में एकबार मिल जाते हैं।

 Dr Amar Singh Azad Diet Plan क्या है?

शूगर की बीमारी हमेशा गलत भोजन का चुनाव करने से होती है। आपके भोजन में जितना ज्यादा कच्चा भोजन होंगा (फल, खाने योग्य कच्ची सब्जी) उतने जल्दी आप किसी भी बीमारी से जल्द से जल्द मुक्त होंगे। इसके अलावा डॉक्टर साहब मिलेट के बारे में बताते हैं की आप गेंहू और चावल को आज ही छोड़े और पंचदाना (जौ, बाजरा, रागी, मक्का) जैसे अन्य कई प्रकार के विकल्प अनाज भारत के बाजारों में उपलब्ध है। उनको मिक्स करके दलिया बनाकर खाए या उनकी रोटी बनाकर खाये। इससे आपका शूगर, बीपी सब कंट्रोल रंहेगा और दूसरी बात इन अनाजो में अधिक पोषण होता है। 

 Read –   गेहूं और चावल खाने के नुकसान और इनके विकल्प 

 Dr Amar Singh Azad से Appointment कैसे ले?

इस पोस्ट में दिए गए संपर्क सूत्र में फोन मिलाकर बात करके आप उनसे मिलने का समय तय कर सकते हैं।

Dr. Amar Singh Azad  All Social Accounts, Handle, ID

patiala clinic phone number 9872661321
Clinic address Patiala city, state -punjab, india.
email id
Not available
Facebook IdInactive
Wikipedia Not Created
WebsiteNot available

Dr Amar Singh Azad Health Tips On Sugar, Diabties &  Lifestyle Diseases

#1. अगले दो दशकों में मैं और मेरे जैसे हजारो लोग जो इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं हम सब मिलकर भारत को शूगर मुक्त देश बना देंगे। ये काम होंगा लोगो को सही भोजन क्या है उसके बारे में जागरूक करके।

#2. कोई भी दवा आपको ठीक नही करती। मेडिसिन आपको और ज्यादा बीमार करती है।

#3. हमारे शरीर को हर दिन काम करने के लिए सिर्फ पांच ग्राम शूगर चाहिए। यदि हम उसमें बाहर के खाद्य पदार्थ और अन्य घर की बड़ी चीनी को शरीर में दस से बीस चम्मच हर रोज शरीर में डालेंगे तो बीमारियां तो होनी है।

#4. जो भी आप प्राकृतिक भोजन खाओ उसमें कुछ भी छेड़छाड़ ना करे। मतलब फल मार्केट से लाये तो उनको धोकर खा लो बाकि कुछ भी नमक और अन्य चीजें मिलाने की आवश्यकता नही है।

#5. शूगर में आप फल दबाकर खाये। जो भी मौसमी फल आपके पास है वो खाये। क्योंकी फल के अंदर जो Sugar होती है वो नेचुरल शूगर होती है। वो किसी प्रकार का नुकसान नही देती। फलों की शूगर आपको ठीक करती है।

Dr Amar Singh Azad video

 


आज आपने Dr Awadhesh Pandey और  Dr Amar Singh Azad के जीवन के बारे सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की।  अपने सवाल /सुझाव / विचार नीचे ब्लॉग कॉमेंट बॉक्स में लिखे। Rajiv Dixit ji और Dr. BRC को आप सपोर्ट करते हो तो इस पोस्ट को कम से कम दो लोगों के पास जरूर भेजे।

 

इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

क्रांतिकारी होम्योपैथी डॉक्टर लिओ रेबेलो का जीवन परिचय

मानस समर्थ का जीवन परिचय  (Team Member Of Dr. Brc)

 बीमार व्यक्ति की घर पर देखभाल कैसे करें?

शरीर कमजोर होने का कारण बनती है ये गलत अनहेल्दी फूड की आदतें

स्वस्थ और रोगमुक्त जीवन कैसे जिएं

जींस पैंट पहनने के दिल दहलाने वाले नुकसान

यौन शिक्षा (सेक्स एजुकेशन)

Leave a Comment