भारत में रोजगार कैसे प्राप्त करे? | नौकरी और बिजनेस करने के लिए काम (कौशल) कहाँ से सीखे?

भारत में रोजगार कैसे प्राप्त करे? 

बेरोजगारी (Unemployment) पर हर साल देश में आंदोलन होते हुए देखे होंगे, पढ़े होंगे, सुने होंगे। एक सर्वे के मुताबिक भारत में हर साल एक करोड़ नए युवाओं की फौज तैयार होती है ये लोग देश के लिए बोझ बनते हैं क्योकी इनमें से 90% लोग शरीर से स्वस्थ होते हैं, इनमें से ज्यादातर लोग अपने जीवन में या नौकरी प्राप्त करना चाहते है या फिर कोई खुद का व्यापार (बिजनेस)। कोई भी व्यापार या नौकरी करने के लिए आपके पास कौशल (स्किल) और उस काम का अनुभव होना चाहिए और वो अनुभव आपको मिलेगा उस क्षेत्र से सम्बंधित कार्य को सीखाने वाली संस्था या व्यक्ति के वहाँ पर काम करके। अपने देश भारत में बहुत सारी ऐसी जगहें है जहाँ पर आप मुफ्त में रोजगार पा सकते हैं (Free Job in india), आपको कौशल सीखाने के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं दी जाएगी, जैसे – खाना, पीना और रहना। चलिए बिना ज्यादा प्रस्तावना पोस्ट की शुरुआत करते हैं की Naukari aur Business Sikhne Ke liye india me free training me koushal Kaise sikhe? इस पोस्ट का फायदा भारत का पड़ोसी देश नेपाल (Nepal) भी उठा सकता है। वैसे ये आर्टिकल भारतीयों को समर्पित है। मैं पहले ही ये बात बता देता हूँ ऊपर का एक पैराग्राफ पढ़ने से आपको कुछ समझ में नही आयेगा। वास्तव में आप रोजगार प्राप्त करना चाहते हो तो पूरी पोस्ट को पढ़े!!

【Step-1】पहला काम ये करें।

इस पोस्ट में बताए गए सभी ऑफलाइन ट्रेनिग प्रोग्राम और कौशल, बिजनेस को सीखने के लिए पहला काम आपको ये करना होंगा।
सबसे पहले आपको नो-दिवसीय साधना सत्र करना पड़ेगा। कैसे करना है कब करना है क्यों करना है उसकी जानकारी आपको इस पोस्ट में मिल जायेगी।

【Step-2】दूसरा काम काम ये करें।

नो-दिवसीय साधना सत्र करने के बाद आपको एक महीने का युगशिल्पी शिविर करना होंगा। अब इसके बाद आपकी विभिन्न प्रकार के रोजगार देने वाले कामो की शुरुआत होंगी।


【Step-3】अभी चलिए शुरू करते है

जैसे ही आप ऊपर बताए दो स्टेप पूरे कर लेते हैं। इसके बाद आप देव संस्कृति विश्वविद्यालय में 45 दिनों का निशुल्क शिविर करने के लिए योग्य (Eligible) हो जाएगें। इसके अलावा ऊपर के दो शिविर शान्तिकुंज हरिद्वार में होंगे। सबसे अच्छी बात इन दोनों जगहों की अलग से मैंने पोस्ट लिखी है जिसका लिंक इसी पोस्ट में दिया गया है। उनको आप ये पोस्ट पढ़ने के बाद पढ़ लीजिए। वैसे आप मेरे ब्लॉग के ‘All Post’ पेज में जाकर भी इन्हें ढूंढ सकते हैं। इस 45 Days के शिविर में आपको 30 से भी अधिक कुटीर उद्योग, लघु उद्योग और स्वालम्बन के बारे में हैंड होंल्डिग सपोर्ट के साथ सीखाया जाएगा। मैं खुद अपनी आंखों से देखकर सबकुछ देखकर आया हूँ। सबसे अच्छी बात सारी सुविधाएं निशुल्क रहेगी। यदि आप अभी शांतिकुंज और देव संस्कृति विश्वविद्यालय के बारे में जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट के ‘FAQ’ सबटाइटल में जाए वहाँ पर दोनो की लिंक दी गई है। जिससे विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 संगीत और वाद्ययंत्र में कैरियर बनाने का सुनहरा अवसर ( Music & indian instruments free skill training kaise Kaha par hoti hai?)

भारत के अंदर बहुत सारे ऐसे लोग है जिनको संगीत के क्षेत्र में रूचि होती है। जैसे ; गाना-बजाना, ढपली बजाना, गिटार बजाना,
ढोलक और हारमोनियम बजाना, मजीरा बजाना, ढोल और ताशे बजाना, भजन गाना इत्यादी असीमित म्यूसिक के फील्ड में गतिविधियां होती है। उपरोक्त बताई गई सभी स्किल होती है जिनको सीखकर आप अपने गांव-शहर में ही या अपने जिले में अपनी कला का प्रदर्शन करके महीने के 20,000 से 50,000 रुपए तक कमा सकते हैं। उदाहरण के लिए मारवाडी कलाकर सिर्फ मारवाड़ी भाषा में भजन गाकर एक रात का 1,00000/- रुपए चार्ज करता है जिसमें वो भजन सिर्फ चार गाता है बाकी पूरी रात ज्ञान बाटता है। क्यों है ना? फायदे का सौदा। इसके अलावा जिन लोगो को ढोलक और हारमोनियम बजाना आता है वे लोग भी बहुत ज्यादा पैसा चार्ज करते हैं। और ये दोनों कौशल तो ऐसा है जिसको हर कोई इंसान जिसको संगीत में रूचि नहीं है वो भी सीख सकता है। अभी सवाल आ रहा होंगा की;- म्यूजिक कैसे सीखें? किस जगह पर जाकर भारतीय इंस्ट्रूमेंट्स को फ्री में सीख सकते हैं। इसका पता है ऊपर बताया गया आश्रम ‘ शांतिकुंज हरिद्वार’ इस संगीत शिविर को करने के लिए आपको पहले नौ-दिवसीय तथा युगशिल्पी शिविर को करना होंगा। इन दोनों शिविर के बारे में जानकारी इस पोस्ट के ऊपर के उपबिन्दु में दी गई है। ये फ्री म्यूजिक ट्रेनिग प्रोग्राम हर साल आयोजित होता है यहाँ पर आपको अनुभवी संगीतज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके अलावा सभी प्रकार की सुविधाएं मुफ्त होती है। आपके तीन महीने का रहना, भोजन, आदि।


आपदा प्रबंधन शिविर करने से क्या होंगा? [ How to apply Free Disaster management training and shivir in India? ]

देखिए भारत सरकार का ये भी एक विभाग है जिसको आप आपातकालीन डिपार्टमेंट भी बोल सकते है। ये भी शांतिकुंज में ही होता है पूरा प्रोग्राम फ्री होता है। जिसमें आपको आपदा प्रबंधन मतलब भूकंप आ जाए तो अपने आप को कैसे बचाए, किसी जगह पर आग लग जाए तो खुद को और उस बिल्डिंग, घर में फंसे लोगों को सुरक्षित कैसे बाहर निकाले? घर का रसोई का सिलेंडर फट जाए तो ऐसी स्थिति में क्या करे? ये सारी चीजें आपदा प्रबंधन के अंतर्गत आती है। यहाँ से आप इसको सीखकर एक प्रोफेशनल Private या Government कोर्स कर सकते हो जिसमें आपको ज्यादा कुछ काम नही करना पड़ेगा जब आपदा आयेगी तब आपको याद किया जायेगा बाकी आराम से आप 30,000 से 45,000/- रुपए तक इस कौशल को सीखकर कमा सकते हैं।


FAQ महत्वपूर्ण सवाल जवाब 

प्रश्न.) उपरोक्त बताए सभी शिविर और ट्रेनिग प्रोग्राम को करने का पता क्या है?

उत्तर –
[नम्बर 1] – शांतिकुंज आश्रम हरिद्वार 

[नम्बर 2] – देव संस्कृति विश्वविद्यालय 

नोट – ऊपर दी गई लाल रंग की लाइन पर क्लिक करके इन जगहों के बारे सम्पूर्ण जानकारी और मेरा खुद का अनुभव पढ़ सकते हैं।

प्रश्न.2) क्या 12 महीने ये सब कार्यक्रम चालू रहते हैं?

उत्तर – नही, साल में आठ से पांच महीने चलते हैं। यहाँ पर जाने से पहले पूरी जाँच-पड़ताल और बातचीत करके जाए। Pre Or Advance Registration करवाके जाए। आजकल सबकुछ ऑनलाइन होता है। इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी मेरे ब्लॉग में ही शांतिकुंज पोस्ट में दी गई है।

25 से भी ज्यादा प्रकार के कौशल (Skills) घर बैठे सीखकर महीने का 10 हजार से 50 हजार कमाए

जी बिल्कुल सही पढ़ा, इसको आप ‘डिजिटल रोजगार मेला’ भी बोल सकते हैं। जहाँ पर आप घर बैठे ही अपने कंप्यूटर/ लेपटॉप /टेबलेट और स्मार्टफोन की मदद से अपना कैरियर बना सकते हैं। इन कौशल को सीखने के लिए सिर्फ 3 महीने से 6 महीनों का समय लगता है उसके बाद आपकी लाइफ सेट! कैसे करे? इसके लिए नीचे दी गई
पोस्ट को पढ़े;

→  25 से अधिक डिजिटल कौशल को सीखें


इस आर्टिकल की मदद से भारत का कोई भी बेरोजगार युवा रोजगार प्राप्त कर सकता है। अपने सवाल/ सुझाव/ विचार नीचे ब्लॉग कॉमेंट बॉक्स में लिखे। इस पोस्ट को अपने आसपास सभी बेरोजगार युवाओं के साथ साझा करें।

इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

शांतिकुंज की दिनचर्या

गांव में बिजनेस करना चाहते हो तो ये पोस्ट पढ़ो  A to Z important village Business Ideas

Freelancing freelancer क्या है? फ्रीलांसर से मैंने कमाए 40,000 रूपये।

 

Leave a Comment