Patanjali Yogpeeth in Hindi – पतंजलि योगपीठ कहां पर है और वहाँ पर क्या होता है?

Table of Contents

पतंजलि योगपीठ कहाँ पर है और पतंजलि से कैसे जुड़े? पतंजलि योगपीठ हरिद्वार के बारे में जानकारी

पतंजलि योगपीठ फेज 1 और फेज 2 इन दोनों जगह को आप पतंजलि आश्रम भी कह सकते है। जहाँ पर स्वामी रामदेव जी रहते है और पतंजलि संगठन के सारे महत्वपूर्ण कार्यो को क्रियान्वयन किया जाता है। योगपीठ भवन क्षेत्रफल की दृष्टि से बहुत बड़ा है। आज की इस पोस्ट में आपको पतंजलि योगपीठ का मेरा अनुभव, बाबा रामदेव से बात कैसे करे, और योगपीठ हरिद्वार के बारे सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त होंगी।
how to join patanjali yog shivir, what is patanjali yogpeeth,

पतंजलि से कैसे जुड़े? [patanjali se kaise jude]

पतंजलि संगठन भारत का सबसे बड़ा आध्यात्मिक संगठन (Spiritual Organization) है। जिसमें  तकरीबन पूरी दुनिया से 70 करोड़ से अधिक लोग डायरेक्ट-इनडायरेक्टली जुड़े हुए हैं। पतंजलि योगपीठ मतलब योग गुरु स्वामी रामदेव से जुड़ना हर उस व्यक्ति का सपना होता है जो भारत माता की सेवा करना चाहता है। इस पोस्ट में, मैं अपना एक महीने का अनुभव आपके साथ साझा कर रहा हूँ।

चार तरीको से आप पतंजलि से जुड़ सकते? 4 Ways to Join Patanjali Spiritual Organization in india)

patanjali se kaise jude, how to join patanjali,

 

१.) पतंजलि कंपनी के नियमित ग्राहक बनकर

जेसा की आपको पता ही है की पतंजलि एक भारत की अग्रणी एफएमसीजी  स्वदेशी कंपनी है। यदि आप नियमित या महीने में एक-दो बार भी पतंजलि के उत्पाद खरीदते हैं तो इसका मतलब आप रामदेव जी और पतंजलि परिवार से जुड़ गए। इसके बाद आप स्वामी रामदेव की योगपीठ की सभी गतिविधियों में भाग ले सकते हैं।

२.) योगाचार्य बनकर

यदि आपको योग सीखने में और सीखाने में रूचि है। तो आप योगपीठ में योग शिविर करके योगाचार्य बनकर भी पतंजलि से जुड़ सकते हैं। शिविर कब होता है और कैसे सम्पर्क करें? इसकी जानकारी इसी पोस्ट में दी गई है।

३.) Retailer और Distributor बनकर –

इसके लिए आपको पतंजलि कंपनी की franchise / Store / Mega Store लेकर अपने गांव-शहर में पतंजलि के उत्पाद बेच सकते है। फ्रैंचाइज़ी लेने के बहुत सारे लाभ है।

४.) स्थायी रूप से सन्यासी और ब्रह्मचारी बनकर

आप किसी भी कारण से अपना पूरा जीवन स्वामी रामदेव जी और पतंजलि आध्यात्मिक संगठन को अर्पित या समर्पित करने की इच्छा रखते हैं तो लड़कियां / महिलाएं भी सन्यासी बन सकती है उनकी ट्रेनिग वहाँ पर पतंजलि की महिला सन्यासी अध्यक्ष करवाती है। सभी प्रकार की सुविधाएं संन्यास जीवन जीने वालो के लिए योगपीठ में उपलब्ध है। अधिक जानकारी निम्न उपबिन्दु में देखें।

 

पतंजलि योगपीठ में सन्यासी और ब्रह्मचारी कैसे बने? (How to become Sanyasi and brahmachari at Patanjali Swami Ramdev Yogpeeth)

how to become a brahmachari in hindi, how to become sanyasi in hindi,

पहला तरीका तो यह है की आप सीधे बाबा रामदेव जी से सम्पर्क कर सकते हैं। दूसरा तरीका यह है की जो लोग वहां पर सन्यासी या ब्रह्मचारी का जीवन जी रहे हैं उनके समक्ष अपनी समस्या / बात को रख सकते हैं। अब आती हैं बात की रामदेवजी से डायरेक्ट फेस टू फेस कैसे मिले? इसके लिए आप एक काम कीजिए। तीन दिवसीय योगपीठ में रहने का बंदोबस्त कीजिए। वहाँ पर सारे कमरों Room Booking (निशुल्क और Paid) दोनो व्यवस्था है। योगपीठ फेज-II (Phase-2) में एक बड़ा योग भवन बना हुआ है। वहाँ वे प्रतिदिन सुबह पाँच बजे योग करवाते हैं इस योग प्रोग्राम में योगपीठ के सन्यासी लोग और आम जनता होती है जो किसी न किसी मकसद से पतंजलि योगपीठ आते हैं। और इस प्रोग्राम को संस्कार और आस्था चैनल पर सीधा प्रसारण (Live Telecast) भी किया जाता है। यही पर आप एक सवाल जवाब (QNA) सेशन भी होता है जहां पर आप सीधे स्वामी रामदेव जी से अपने सवाल पूछ सकते हैं। इसके अलावा पतंजलि योगपीठ की तरफ से समय-समय पर ब्रह्मचारी दीक्षा कार्यक्रम भी चलाया जाता है।

पतंजलि से जुड़ने के फायदे  (Benefits of Joining Patanjali swami Ramdev)

पतंजलि से जुड़ने के हजार से भी ज्यादा फायदे है लेकिन कुछ महत्वपूर्ण और लाभदायक फायदों के बारे में बताना चाहता हूं जिनको मैंने अनुभव किया।

  1. आप बेधड़क पूरे पतंजलि योगपीठ की सैर (यात्रा) कर सकते हो। जबकी आम नागरिक को इतनी खुली छूट नही मिलती।
  2. आप हरिद्वार में जाकर पतंजलि पर्यटक स्थल (Patanjali Tourist Places) को देख सकते हो वहाँ पर आपका कोई भी खर्च नही लगेगा।
  3. हरिद्वार में पतंजलि योगपीठ के अलावा रामदेव जी के अन्य बहुत सारे भवन, पयर्टक स्थल, प्रोजेक्ट देखने लायक है। जिनमें आपको एक विशेष छूट मिलेगी।
  4. जब आप पतंजलि मेगा स्टोर या पतंजलि की दुकान से कुछ भी खरीदारी करके बाहर निकलते है तो आपको गर्व महसूस होता है। क्योंकी पतंजलि उत्पाद शत प्रतिशत स्वदेशी होता है।
  5. पतंजलि परिवार से जुड़ने का एक फायदा यह भी है की आपको हर दिन योग करने को मिलता है जिससे आपका स्वास्थ्य अच्छा होता है।
  6. इनकी मासिक पत्रिका योग संदेश को पढ़कर आपको जीवन के हर क्षेत्र में सफलता कैसे प्राप्त करे उसके बारे में जानकारी मिलती है।
  7. योगपीठ में होने वाले हर छोटे-बड़े उत्सव में भाग लेने का मौका मिलता है।

 पतंजलि योगपीठ के शिविर में कैसे भाग ले? (How to attend Shivir/Camp/Yoga Traning in Patanjali Yogpeeth Haridwar?)

पतंजलि योगपीठ के शिविर में भाग लेने के बहुत सारे रास्ते है। जैसे;-
१). इनकी आधिकारिक वेबसाइट से पता लगाकर

इनकी ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर देखे की वर्तमान में इस महीने कोई शिविर चल रहा है या अगले महीने होंगा।

२.) योगपीठ से संपर्क करके यात्रा करना

सबसे पहले योगपीठ के अंदर कार्य करने वाले लोगो से फोन पर शिविर/केम्प/योग ट्रेनिग की जानकारी ले ले फिर वहाँ जाये।

३.) अनिश्चित काल में हरिद्वार जाना

मतलब आप किसी भी दूसरे कार्य के उद्देश्य से हरिद्वार जा रहे हो तो एकबार पतंजलि योगपीठ जरूर जाए क्योंकी वहाँ पर कोई न कोई शिविर चल ही रहा होता है। ये मेरा व्यक्तिगत अनुभव है।

 FAQ SAWAL JAWAB

Q.) पतंजलि योगपीठ क्या है? What is Patanjali Yogpeeth?

उत्तर - पतंजलि योगपीठ स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण जी महाराज की रीढ़ की हड्डी है। लगभग-लगभग सभी पतंजलि के महत्वपूर्ण कार्यो को अंजाम इसी योगपीठ से दिया जाता है। इसके अंदर भारत स्वाभिमान का भवन है, पतंजलि कंपनी में काम करने वाले कर्मचारी इधर ही रहते हैं तथा वानप्रस्थ आश्रम भी बना हुआ है। इसके अलावा छोटे-मोटे सांस्कृतिक कार्यक्रम, उत्सव और प्रतिदिन योग गतिविधियां का आयोजन किया जाता है।

Q.) पतंजलि योगपीठ किसने बनाया? Who is Owner of Patanjali Yogpeeth?

उत्तर - पतंजलि योगपीठ के मालिक बाबा रामदेव और उनके मित्र आचार्य बालकृष्ण जी महाराज है। वर्तमान में ये ही इस अरबो रुपये की जमीन के मालिक है।

Q.) पतंजलि योगपीठ भारत के किस राज्य और शहर में स्थित हैं।

उत्तर - पतंजलि योगपीठ भारत देश के उत्तराखंड राज्य के अंदर हरिद्वार शहर में दिल्ली-हरिद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है।

Q.) पतंजलि योगपीठ में जाने का सबसे बड़ा फायदा क्या है?

उत्तर –  क्या मस्त सवाल है जवाब भी बहुत मजेदार होने वाला है। पतंजलि योगपीठ में जाने का सबसे बड़ा फायदा यह है की आप सीधा योगगुरु स्वामी रामदेव से बात कर सकते हैं। उनसे व्यक्तिगत रूप से मिलकर अपने सवाल पूछ सकते हैं। हर बड़े कार्यक्रम में वो योगपीठ में जरूर आते हैं।

स्वामी रामदेव से कैसे मिले? How to meet baba ramdev?

baba ramdev se sampark kaise karen, baba ramdev se baat karna hai,
स्वामी रामदेव से सम्पर्क करने के लिए आप पंतजलि योगपीठ जा सकते है। वहाँ पर प्रतिदिन सुबह 5 बजे योग कक्षा चलती है उसमें आप बाबा रामदेव से मिल सकते हैं।

Q.) How to Stay Free in Patanjali Yogpeeth? (पतंजलि योगपीठ में ठहरने की व्यवस्था और निशुल्क भोजन)

उत्तर –  इसकी सम्पूर्ण जानकारी नीचे के उपबिन्दु में दी गई है। 👇 ↓

 पतंजलि योगपीठ मैं किस उद्देश्य से गया था और मैं वहाँ पर क्या काम करता था? (My Daily Routine in Patanjali Yogpeeth)

how to stay in patanjali yogpeeth free, how to stay free in haridwar,

यहाँ पर मैं आपको अपना योगपीठ का अनुभव बता रहा हूँ जिसमें आप भी 5 से 10 दिन हरिद्वार में रहकर निशुल्क स्वादिष्ट भोजन दोनो समय का और 3 स्टार होटल जेसी आवासीय सुविधा का फ्री में लाभ ले सकते हैं। मैं वहाँ पर स्वास्थ्य लक्ष्य (Health Goal) को प्राप्त करने के लिए रूका था। योगपीठ फेज-2 के नजदीक ही एक शानदार वाल्मीकि आश्रम नाम से बड़ा भवन बना हुआ है जिसमें संत रविदास लंगर भवन में कोई भी गरीब व आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति निशुल्क भोजन कर सकता है और ठहर सकता है। लेकिन मेरे आईडिया से कोई भी XYZ आदमी इस निशुल्क सुविधा का लाभ उठा सकता है।  इसके लिए आपको थोड़ा दिमाग लगाना पड़ेगा। ऐसे ही आपको शानदार रूम और चकाचक चमकते 5 स्टार होटल जेसा बाथरूम मुफ्त में नही मिलेगा। इसके लिए मैंने क्या मेथड अपनाया पहले उसके बारे में बताता हूँ; मैं वाल्मीकि आश्रम में जाकर झूठ बोला की मैं पंतजलि आयुर्वेद हॉस्पिटल में इलाज के सिलसिले में आया हूँ इसलिए तीन दिन यहाँ पर रुकना चाहता हूं। तब वहां के स्टाफ ने बोला की चलो अपनी चेकप स्लीप दिखाओ, मैंने बोला आज चेकप करवाना है अभी जा रहा हूँ, दूसरी बात यह भी सही है की कभी-कभार आपका भाग्य और किस्मत भी साथ देती है। मेरे चेहरे पर दुख के भाव देखकर वहाँ के एक विकलांग व्यक्ति ने मुझे तीन दिन रहने की इजाजत दे दी। उस व्यक्ति का नाम नही पता पर मैं उसको तहे दिल से धन्यवाद करता हूँ। क्योकी टोकन तीन दिन का दिया लेकिन, मैं वहाँ पर पांच दिन से भी ज्यादा रूका। अब बात करे भोजन की तो शुद्ध सात्विक आहार सुबह 12 बजे मिल जाता था और शाम का भोजन 7 बजे या कभी-कभार सूर्याअस्त से पहले। मैंने एक चीज को नोट किया बाबाजी तो व्यवहार और कर्म से सही है! लेकिन कुछ अंदर काम करने वाले नौकर और कर्मचारी हरामखोर है। साले प्रसाद इस तरह बाटते है जेसे इनका बाप का पैसा लग रहा है। हो सकता है अभी वो रसोइया या वाल्मीकि आश्रम में खाना बांटने वाला व्यक्ति बदल गया हो। क्योकी इस पोस्ट को मैं 4 जुलाई, 2022 को लिख रहा हूँ और मैंने योगपीठ की यात्रा सन 2019 में की थी। यदि आप जाओ और वो व्यक्ति आपको गुस्से में प्रसाद दे तो उसकी शिकायत जरूर करना। इसके अलावा मैंने एक चीज और नोटिस की, वो ये की आयुर्वेद के नियमों की यहाँ पर सरेआम धज्जियां उड़ाई जाती है। चाहे वो वाल्मीकि आश्रम हो या पतंजलि का हॉस्पिटल। अब फिर से मुद्दे पर आते हैं की मेरी दिनचर्या योगपीठ में क्या थी? सुबह ब्रह्मूहत में 3 बजे उठना उसके बाद यही पर बाहर घास का पार्क है वहाँ पर जाकर आसन और प्राणायाम करना, मैने वहाँ पर एक योगी को गाय के घी का दीपक जलाकर प्राणायाम करते भी देखा। शुद्ध भारतीय देशी गाय के घी का दीपक जलाकर प्राणायाम करने से शरीर की प्राण ऊर्जा बढ़ती है। फिर मैं कुछ समय स्वाध्याय और चिंतन करता था। अब वाल्मीकी आश्रम की भोजनालय वाले भवन के बगल में ही एक योग भवन है जहाँ पर एक सन्यासी आकर हर दिन सिर्फ इस वाल्मीकि आश्रम में ठहरने वाले लोगों को योग करवाते है ये आचार्य बहुत अच्छे है उनकी बोली और मुख पर ओज देखने लायक है। कभी-कभार फ्री में यज्ञ (हवन)  करने का भी मौका मिलता था।  अब जबतक भोजन बनता तबतक वापस योगपीठ फेज-2 में जाकर घूमता, स्वाध्याय करता, देश भक्ति से ओतप्रोत करने वाले व्याख्यानों को सुनता और फिर भोजन करके शाम को सो जाता। इस तरह मैंने अपने 5 दिन पतंजलि योगपीठ हरिद्वार  में बिताए।

Patanjali Yogpeeth All Treatment Charges

Answer – Visit https://patanjaliwellness.com/ official website for dedicated yogpeeth hospital all types treatments.

 पंतजलि आश्रम कहाँ है और इसका नाम क्या है (Patanjali Ashram information)

आपको जानकारी के लिए बता दूं। हरिद्वार में स्थित योगपीठ भवन को ही पंतजलि आश्रम कहते
है। इस आश्रम का पूरा नाम patanjali yogpeeth phase 1 और Phase २ है।

पतंजलि योगपीठ का पूरा पता (Patanjali Yogpeeth:  Address, Contact number, Email, helpline, toll-free, & More)

Patanjali Yogpeeth haridwar ka contact number, Yogpeeth website,

Mobile Number
01334 240 008
Helpline Number1334-240008, 244107, 246737
Google Map LocationTehsil, Delhi-Haridwar National Highway Near Maharshi Dayanand Gram Roorkee, Panchayanpur, Uttarakhand 249405
AddressMaharshi Dayanand Gram Delhi-Haridwar, National Highway, near Bahadarbad, Uttarakhand 249405
Official WebsiteClick here
Email ID[email protected]
toll free Number91-8954666111
Wikipedia Wiki here
Whatsapp NumberN / A
Room Booking Visit above mention site

आज आपने हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की।  अपने सवाल /सुझाव / विचार नीचे ब्लॉग कॉमेंट बॉक्स में लिखे। इस पोस्ट को पतंजलि से जुड़े सभी लोगो के साथ शेयर करें।

 

इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

पतंजलि कंपनी का इतिहास | पतंजलि कंपनी का मालिक कौन है? 

योग गुरु बाबा रामदेव जीवन परिचय

 आचार्य बालकृष्ण जी की जीवनी 

आचार्य बालकृष्ण जी के 30 आयुर्वेदिक नुस्खे

पतंजलि प्रोडक्ट्स के फायदे 

पतंजलि के सबसे अच्छे 10 उत्पाद

Leave a Comment