Sterilization Disadvantages – नसबंदी के नुकसान

पुरुष व महिला नसबंदी ऑपरेशन करवाने के नुकसान 

यहाँ पर विषय नसबंदी का है चाहे वो महिला नसबंदी हो, पुरुष या फिर किसी भी पशु- पक्षी (जानवरों) की नसबंदी ही क्यों न हो। यह बहुत दर्दनाक होती है। अब बात करते हैं कि आखिर इसकी जरूरत क्यों पड़ी? फायदे आपको एलोपैथी के डॉक्टर और अन्य बिकाऊ मीडिया, प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक्स मीडिया, चिला- चिलाकर बताएंगी। लेकिन किसी भी विश्व की जानी मानी स्वास्थ्य संगठन, संस्था, व्यक्ति विशेष ने नसबंदी के नुकसान के बारे में आपको एक शब्द भी बताया? और बताएंगे भी क्यों? इस पूंजीवादी सोच वाले संसार में हर मनुष्य फायदे के बारे में सोचता है भले दीर्घकालीन उसको हजारो नुकसान हो। लेकिन इस कलयुग में भी बहुत सारे ऐसे लोग है जो मानवता के लिए बिना किसी निस्वार्थ भाव से दिन रात काम करते हैं। आज की इस पोस्ट में भारत के जाने-माने आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, नेचुरोपैथी, डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के नसबंदी पर दिए गए व्याख्यान के बारे में आपको जानकारी मिलेंगी।

महिला नसबंदी कराने के नुकसान (Tubectomy Disadvantages in Hindi)

पहले बात करते हैं प्राचीन भारत की। सोचने वाली बात है की पुराने समय में जब अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति नही थी तब हमारे पूर्वज कैसे नसबंदी करवाते थे? क्या इसका आयुवेर्दिक उपाय है? जी बिल्कुल है। सबसे पहले बात करते हैं महिला नसबंदी के अंदर क्या किया जाता है? उत्तर है औरत के शरीर के अंदर एक सबसे अद्वितीय (Unique) चीज होती है जिसका नाम है बच्चेदानी! अब नसबंदी ऑपरेशन के द्वारा आपकी बच्चेदानी को बाहर निकाल दिया जाता है ताकी आपके पति (Husband) आपके साथ शारिरिक संबंध बनाए तो वो वीर्य, बच्चे का रूप ना ले। लेकिन सवाल यह उठता है की यदि बच्चेदानी खराब है या बच्चे नही चाहिए इसके लिए बच्चेदानी निकालते है तो भगवान ने फिर बच्चेदानी क्यों बनाई? अभी आप कुछ देर के लिए विज्ञान और अन्य लोगो की बातों को छोड़कर अपना खुद का दिमाग लगाए और सोचे की भगवान ने चाहे पुरूष हो या महिला सबको शरीर के अंग-अवयव किसी न किसी मकसद-उद्देश्य से दिए गए हैं अभी आप प्रकृति के विरुद्ध जाकर अपने किसी भी अंग से छेड़छाड़ करोंगे तो प्रकृति आपसे नाराज होंगी या नही? इसका उत्तर आप स्वंय दे। काफी लोग गलत विचारधारा के कारण अपने पत्नी की नसबंदी करवाते हैं जैसे किसी अन्य मर्द के साथ संभोग कर लिया तो उसको बच्चा हो जाएगा, मेरी इज्जत चली जाएगी। इत्यादी दुनियाभर की गलत धरणाओं के कारण ऐसे गलत काम पुरूष अपनी वाइफ के साथ कर लेता है। देखिए, आप तो जोर जबर्दस्ती या बिकाऊ मीडिया की बातों में आकर अपनी पत्नी की नसबंदी करवा देते हैं। लेकिन आपकी पत्नी उसका दर्द जीवनभर झेलती है। यदि रियल लाइफ उदाहरण दू। तो मेरे रिश्तेदार में एक औरत है जिसके दो बच्चे हैं लेकिन उसने अभी तक नसबंदी नही करवाई। क्या हुआ? सबकुछ नॉर्मल अच्छे से चल रहा है जबकी मैं देखता हूँ वो अन्य महिलाओं की तुलना में अच्छा महसूस करती है।

महिला नसबंदी का आयुर्वेदिक और प्राकृतिक विकल्प (Natural / Ayurvedic alternative to Tubectomy)

[1]. ब्रह्मचर्य का पालन – आपको जितनी संतान चाहिए थी। उसकी पूर्ति हो गई हो तो आप ब्रह्मचर्य का पालन कर सकते हैं। ब्रह्मचर्य का मतलब होता है आप अपनी पत्नि के साथ संभोग नही कर सकते हैं। उसके साथ रह सकते हैं लेकिन किसी भी तरह से आपको वीर्यवेग नही करना है।

[2.] आयुर्वेदिक गर्भनिरोधक – इस टॉपिक पर एक डेडिकेटेड पोस्ट लिखने वाला हूँ। उसको जरूर पढ़ें। Direct Google पर सर्च करें

internet gyankosh ayurvedic garbh nirodhak ‘ उस पोस्ट को पढ़े। वैसे फिर भी आपको इस पोस्ट में सारे टिप्स बता रहा हूँ।

१.) मासिक धर्म (पीरियड) के 14 दिन गुज़रने के बाद ही सेक्स करें तो बच्चा नही होंगा। मतलब (गर्भधारण नही होंगा) इस विषय पर इंटरनेट पर बहुत सारे वीडियो उपलब्ध है उसको अच्छे से देखकर रिसर्च करके ही इस काम को करे।

२). आप नियम बनाए की महीने में एकबार या दो बार ही सेक्स करेंगे वो भी कंडोम पहनकर। ऐसा करने से कभी गर्भधारण नही होंगा।

पुरुष नसबंदी कराने के नुकसान ( Vasectomy Disadvantages in Hindi)

इस बात का ध्यान रखें, जब किसी पुरुष की नसबंदी कर दी जाती है। तो उसकी सारी यौवन शक्ति नष्ट हो जाती है। वो हिंजड़ा बन जाता है। मनुष्य को भगवान जो दिव्य शक्तिया देता है वो इस बंध्याकरण के साथ ही समाप्त हो जाती है। नसबंदी करवाने वाला पुरूष अन्य सामान्य पुरुषों के मुकाबले अपने आपको कमजोर महसूस करता है। ठीक ऐसा ही जानवरों के साथ होता है। जानवरों को बध्या करवाने के बाद भी वो पूरी तरह अंदर से टूट जाता है। ध्यान रखें जबतक आपमें यौवन शक्ति है तबतक आप जीवन के किसी भी क्षेत्र के कार्य को कर सकते हैं। लेकिन यौवन शक्ति (उतेजना और सेक्स पॉवर) जाने के बाद इंसान में किसी भी कार्य को करने का मन नही लगता।

Audio सुने –


आज आपको नसबंदी (Nasbandi) करवाए या नही, इसके बारे में सटीक और प्रामाणिक जानकारी मिल गई है। अब ये आपके ऊपर है की आपको करवाना है या नही। इस पोस्ट को भारत की हर अविवाहित (Unmarried) लड़की और लड़कों को शेयर करे ताकी उनको शादी से पहले ही सही वैवाहिक ज्ञान प्राप्त हो जाए और अपनी पूरी जिंदगी खुशी-खुशी व्यतीत कर सके। अपनी राय देने के लिए नीचे ब्लॉग कॉमेंट बॉक्स में कमेंट करें।


इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

जीवन शक्ति को क्षीण होने से कैसे बचाए? 

शरीर कमजोर होने का कारण बनती है ये गलत अनहेल्दी फूड की आदतें

स्वस्थ और रोगमुक्त जीवन कैसे जिएं 

Leave a Comment