स्मार्टफोन सेफ्टी गाइड | Phone ko safe kaise rakhe

Phone Ko Safe Kaise rakhe? 

हम सब लोग नया स्मार्टफोन मोबाईल खरीदने के बाद डिब्बे के अंदर आयी हुई ‘ mobile using guidelines’ को नही पढ़ते। ये ही कारण है की कुछ ही सालो के अंदर आपके फोन की बैटरी खराब हो जाती है, फ्लेश लाइट काम नही करती, कैमरा खराब हो जाता है और अन्य हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर संबंधित प्रॉब्लम्स आने लगती है। ऐसे में आप यदि अपने स्मार्टफोन को लंबे समय तक उसकी Hardware & Software को Safe रखना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े।

मोबाईल की बैटरी 100% mobile चार्ज होने के बाद फोन को और अधिक चार्ज ना करे। 

ये गलती मैं एक हजार से भी ज्यादा बार कर चुका हूँ। अंत में एक दिन 10,000/- रूपये के शानदार स्मार्टफोन की बैंड बजी उसके बाद मुझमे अक्ल आयी की 100% होने के बाद फोन बिल्कुल चार्ज नही करना है। अधिक चार्ज करने से फोन की बैटरी फूल जाती है और हमें इसके बारे में तब पता चलता है जब हमारा मोबाइल का बैकपैनल टूट जाता है या आगे वाली (Front Screen) टूट जाती है। मेरा तो आपको सुझाव है की 90% होने के बाद चार्जर पिन फोन से बाहर निकाल दो।

इयरफोन उपयोग करने के दिशा निर्देश 

यदि आप कान में डालने वाले यंत्र इयरफोन का उपयोग सिर्फ और सिर्फ मनोरंजन के लिए कर रहे हैं तो आपको कानो की विभिन्न प्रकार की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है जिनमें से कुछ रोगों का नाम बताना चाहता हूं जैसे ; कान में सिटी बजना, कान में दर्द होना, बहरापन इत्यादी। हाँ, आपके लिए एक अच्छी खबर यह है की आप महत्वपूर्ण कार्यो के लिए इयरफोन का उपयोग कर सकते हैं।

जिस कंपनी का स्मार्टफोन है उसी कंपनी के सारी एसेसरी खरीदे 

इस बात का हमेशा ध्यान रखें की आपने जिस ब्रांड कंपनी का फोन खरीदा है उसी कंपनी का चार्जर, बैटरी, पॉवर बैंक, ईयरफोन, केबल पिन, इत्यादी वस्तुएं खरीदे। इससे आपका स्मार्टफोन अच्छा और लंबा चलेगा। दूसरी कंपनियों के या नकली कंपनियों की एसेसरी का इस्तेमाल करने से आपके फोन का सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनो पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

गीला हाथ मोबाइल स्क्रीन व चार्जर पर नही लगाए (mobile phone touch screen safety tips in hindi)

हम अक्सर आदतन नहाकर आते ही हाथ धोते ही मोबाइल चलाने लग जाते हैं इससे आपकी होम स्क्रीन और कैमरे में पानी लगने से वो खराब हो सकती हैं। इसके अलावा फोन के फ्लेश लाइट व माइक स्पीकर पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। स्वास्थ्य की बात करे तो, फोन स्क्रीन पर हजारो प्रकार के सूक्ष्म बेक्टिरिया और वायरस होते हैं जो आपको दिखते नही है। ऐसे में सलाह यह है की सुबह व शाम दो समय अपने फोन को एक कपड़े से साफ करें। आप फोन के लिए छोटा अलग कपड़ा भी तैयार कर सकते हैं।

फोन को समय पर अपडेट करते रहे 

आपके मन में एक सवाल चल रहा होंगा की सब लोग कहते हैं अपडेट करो, अपडेट करो लेकिन ‘mobile ko update karne se kya hota hai? आज इसी सवाल का जवाब इस पैराग्राफ में आपको अच्छी तरह से मिल जायेगा। आपका फोन ‘अप टू डेट’ नही होंगा तो बहुत सारी कमियां और समस्याएं फोन में आयगी। जैसे;- फोन का हेंग होना, कोई भी फीचर या ऐप्प जल्दी ना खुलना, बेवजह स्पेमी मेसेज आना इत्यादि। फोन अपडेट करने का सबसे आसान तरीका है अपने Setting > About > Software Update में जाकर देखे की कोई अपडेट आया हुआ है या नही। इसके अलावा एक और Update करना जरूरी है वो है गूगल प्ले स्टोर के सारे एप्पलीकेशन। इसके लिए Open Play Store > Update > Abhi Aapko Sab Apps Ki List Dikh Jayegi > Update All पर क्लिक करें > That’s it. एंजॉय करो!! अपडेट करने से पूरा फोन अंदर से नया हो जाता है फोन की गंदगी साफ हो जाती है।

इन स्थानों पर मोबाइल नही चलाए 

अस्पताल और हवाई जहाज (Airplane & Hospital) में भूल से स्मार्टफोन ना चलाए। क्योकी इन दोनों जगह पर फोन चलाने से इन स्थानों पर आग लग सकती है। आपके फोन में जो ‘Flight Mode’ का फीचर है वो खास इसी के लिए बनाया गया है। दूसरी बात जब आप हवाई जहाज में Without फ्लाइट मोड़ मोबाइल चलाते हैं तब जो प्लेन का पायलट होता है वो अपने कंप्यूटर में अगले गंतव्य (डेस्टिनेशन) के सिंग्नल नही देख पाता, कहाँ पर उसको प्लेन उतारनी है इसकी जानकारी नही मिल पाती ऐसे में नुकसान किसका होंगा? हवाई जहाज में बैठे यात्रियों का। इसलिए हमेशा हवाई जहाज में बैठते समय फ्लाइट मोड़ का उपयोग करें।

मोबाइल फ्लैश लाइट का उपयोग इन जगह पर नही करना चाहिए  

आजकल सेल्फी का जमाना है और बहुत सारे Smartphone Brands ने सेल्फी कैमरा में ही फ्लैश लाइट का फीचर दे दिया है। लेकिन इसका उपयोग कैसे करना है? और इसका गलत इस्तेमाल आपको बहुत बड़ा नुकसान कर सकता है ये ज्ञान आपको कौन देंगा? हमेशा मेरी बताई इस बात को अपने मस्तिष्क में बिठा दे की फोन की फ्लैशलाइट से अपना फोटो नही खिंचवाए। ऐसा करने से अंधापन (Blindness) आ सकती है। यह एक कड़वा सच है। जब एकदम आंखों पर फ्लैशलाइट पड़ती है तो रेटिना व लेंस पर तगड़ा दुष्प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा जानवरो का भी रात के समय फोटो ना खींचे उनकी आंखों पर भी वही दुष्प्रभाव पड़ता है।

इन दो समय फोन को बंद करने में ही भलाई है

गाड़ी चलाते समय (Driving time) और रात को 10 बजे के बाद भूल से ना चलाए। ऐसा करने से आपकी जान तक जा सकती है। कार या बाइक चलाते समय हम स्मार्टफोन के नशे में इतने टली हो जाते हैं की हमें आगे क्या आ रहा है उसका ध्यान ही नहीं रहता। अब बात करे शाम दस बजे के बाद फोन क्यों नहीं चलाना? आंखों की देखभाल के लिए, आपको आंखों की सुरक्षा के लिए फोन में ब्लू लाइट फिल्टर लगाना पड़ता है  इसके बारे में तो जानकारी है नही और आप देर रात तक इसको चलाते है जिससे आपका कल का दिन भी खराब होता है, आँखों पर चश्मे भी लग जाते है और नींद नहीं आने की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है।

मोबाइल को ज्यादा गर्म व ठंडे स्थान पर ना रखें।

हर स्मार्टफोन कंपनी यह गाइडलाइन आपको स्मार्टफोन के डिब्बे में एक पेपर होता है उसमें लिखी होती है। लेकिन 99% लोग इसको इंगनोर कर देते हैं। लेकिन यह गाइड बहुत महत्वपूर्ण है। जब आप अधिक ठंडे या गर्म स्थान पर अपना फोन रखते हैं तो या तो उसका तापमान (temperature) बहुत गर्म हो जाएगा या बिल्कुल ही कम हो जायेगा। इस स्थिति में फोन में आग लग सकती है।


आज आपने ‘Phone ko safe kaise rakhe’ इस टॉपिक पर महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की। इस ब्लॉग की संबंधित पोस्ट एंव internet category को जरूर विजिट करें। यहाँ पर बहुत सारी मोबाइल से रिलेटेड जानकारी प्राप्त होंगी।

 

इन्हें भी पढ़े [ Related Articles ]

मोबाइल को सुरक्षित रखने के टिप्स

मोबाइल इंटरनेट स्पीड कैसे बढ़ाये?

Mobile Se Kisi bhi bank ka balance kaise check kare?

मोबाइल के बारे में रौचक तथ्य जरूर पढ़े 

एंड्राइड सीक्रेट ट्रिक्स

एंड्राइड के बारे में अनसुने व उपयोगी हैक्स

उपयोगी ऐप्स जिनको हर भारतीय जरूर डाउनलोड (इनस्टॉल) करें

Leave a Comment