Syed Waseem Rizvi Pdf Book Muhammad in Hindi | सय्यद वसीम रिजवी ( jitendra narayan singh tyagi) का जीवन परिचय

Wasim Rizvi Book Pdf Download Hindi

सय्यद वसीम रिजवी (जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी) के बारे में इस पोस्ट में सम्पूर्ण जानकारी दी गई है। इससे पहले मैं आपको उनके द्वारा लिखित पुस्तक ‘ मोहम्मद ‘ के बारे में बताना चाहता हूं। आप इस पैराग्राफ के नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक पर क्लिक करके ये बुक डाउनलोड भी कर सकते है। पीडीएफ फॉर्मेट में जो बिल्कुल निशुल्क है। सबसे पहले मैं सभी हिन्दू और मुस्लिम भाइयो से यह आग्रह करता हूँ की कोई भी धर्म हमें गलत काम करना नही सीखाता। हर धर्म में इंसानियत की पूजा की बात की गई है। मेरे बहुत सारे मुस्लिम दोस्त है, जो अंडा, मांस-मछली नही खाते। तो क्या सभी मुस्लिम मांसाहारी है? ये बात सच है की जितने भी मुगल शासक इस देश में आये वे सब दुष्ट और हरामी थे। इनका एकमात्र मकसद भारत के खजाने को लूटना, हिन्दू व अन्य धर्मों की महिलाओ के साथ अत्याचार करना, मंदिरों को तोड़ना और मस्जिदें बनाना। लेकिन वर्तमान में भारत देश के अंदर जितने भी मुसलमान निवास कर रहे है। उन सब को गलत ठहराना उचित नही है। ‘Mohammad Book’ के अंदर लेखक सय्यद वसीम रिजवी  कहते है की हमें अगर इस्लाम को समझना है तो सबसे पहले अल्लाह के आखिरी पैगम्बर मुहम्मद को समझना पड़ेंगा। क्योकी पूरे इस्लाम धर्म इसी मोहम्मदवाद पर टिका हुआ है।

मोहम्मद (Wasim Rizvi)【 muhammad book by wasim rizvi pdf in hindi Download link 】

 

Waseem Rizvi Biography In Hindi ( Jitendra Narayan Singh Tyagi Life Story)


पुराना नाम (old name)सैयद वसीम रिजवी
New Name ( Naya Naam)जितेंद सिंह त्यागी
जन्म स्थान (Birth Place)Kashmiri Mohalla, Lucknow, उत्तरप्रदेश।
पिता का नाम ( Father) - सैयद मोहम्मद जकी
Childrenदो बेटियां, एक बेटा
धर्म (Religion)हिन्दू Hindu (पहले मुस्लिम)
नागरिकता (Nationality)भारतीय (indian)
पत्नी का नाम (wife)फातिमा (Fatima)
पेशा (Occupation)Social Activist, Politician, Film Director, Writer.
भाषा का ज्ञान (Language)हिंदी, उर्दू, अंग्रेजी ( Hindi, Urdu, English)
School/Collageलखनऊ विश्वविद्यालय
Date of birth (birthday)Not Known
उम्र ( Age)Not Confirmed
माता का नाम (Mother)Not Known
शिक्षा (education qualification)N/A
SonNot Known
DaughterNot Known
लम्बाई (Height)5'×7' Feet
वजन (Weight) 75Kg

jitendra narayan singh tyagi pariwar, jitendra narayan singh tyagi wikipedia,
वसीम रिजवी का जन्म उत्तरप्रदेश के लखनऊ शहर के कश्मीरी मोहल्ले में हुआ था। उनके पिता का नाम सैयद मोहम्मद जकी था। जब रिजवी जी 10 साल के थे। तभी उनके पिता की मृत्यु हो गई थी। रिजवी के दो भाई और एक बहन है। वसीम रिजवी अल्पायु में ही नोकरी की तलाश में एक एंजेसी के जरिए सऊदी अरब चले गए थे। बाद में वसीम को पता चला की उन्हें एजेंट के जरिए धोखे से भेजा गया था। वहां पर उन्हें मजबूरी के कारण होटल पर बर्तन मांजने की नौकरी करनी पड़ी। यहाँ पर उनके साथ धोखा भी हुआ, रिजवी को होटल मालिक की तरफ से आधी तनख्वाह ही दी गई। इस बीच उनको भारत वापस आने की योजना बनाई। लेकिन उस होटल मालिक ने भारत भेजने के नामपर कई दिनों तक एक रेगिस्तान के खंडहर जगह पर रखा गया। जहाँ पर उनको पानी पीने के लिए भी चार किलोमीटर पैदल चलना पड़ता था।
भारत आकर वे नगीनो की ट्रेडिग का काम करने लगे। उसके बाद लखनऊ से अपने वार्ड के दो बार पार्षद के लिए चुने गए। जिसके कारण उनको उत्तरप्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने उन्हें अपना चेयरमैन बना दिया। उनके बहुत सारे हिन्दू दोस्त थे। वे कट्टर धर्म को मानने वाले लोगो से दूरी बनाकर रखते थे।

 

Waseem Rizvi Films ( वसीम रिजवी अबतक तीन मूवी बना चुके है )

1. राम की जन्मभूमि – इस movie के अंदर नारायण सिंह त्यागी सुनी मुसलमानों के लीडर जाफर खान से मिलकर बताते है की किस तरह बाबर ने मंदिर को तोड़कर यहाँ पर मस्जिद बनाई थी।

2. Helpless Movie   –  हेल्पलेस मूवी में एक हिन्दू परिवार की दर्द की कहानी है जो पाकिस्तान के इस्लामाबाद में रहने गई थी। और उसे वहाँ के मुसलमान जबरदस्त धर्म परिवर्तन करने को कहते है।

3.  Waseem Rizvi Aisha Movie  –  इसके बारे में शार्ट में जानने के लिए नीचे दिया गया वीडियो देखें। आयशा अल्लाह के रसूल (मोहम्मद) की सबसे युवा पत्नी थीं। आयशा के बारे में विस्तार से जानना है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े। आपकी रूह काफ उठेंगी।

4. Waseem Rizvi Srinagar [Kashmir] Movie –
श्रीनगर फ़िल्म में रिजवी कहते है। की इन दिनों कश्मीर की हसीन वादियों में एक समय ‘अल्लाह हूँ अकबर’ की दुआँए लगती थी और मंदिरों में घण्टियों की आवाज सुनाई देती थी। लेकिन इन इस्लाम का चोला पहने आंतकी भेड़ियो ने कश्मीर में जुल्म की सारी हदे पार कर दी। जुल्म करना इनका पेशा था और दिल में इनके पथतर। इन्ही आंतकी भेड़ियो ने कश्मीरी पंडितों को जला दिया, हिन्दू औरतों के साथ बलात्कार किया, घर उजड़ते गए। निष्कर्ष के तौर पर ये मूवी कश्मीरी पंडितों पर हुए जुल्म पर बनाई गई है।

  Jitendra Narayan Singh Tyagi Achievements & Awards

  • वसीम रिजवी भारत के पहले ऐसे मुस्लिम नेता, फ़िल्म अभिनेता, डायरेक्टर है जो इंसानियत की बात करते है और इस्लाम में चल रहे गलत रीति रिवाजों की खुलकर आलोचना करते है।
  • मोहम्मद पुस्तक लिखने के बाद वे पूरी दुनिया में वायरल हो गये। क्योकी इस पुस्तक को सारे सबूतों व तथ्यों के आधार पर लिखी गई है।
  • वसीम रिजवी ने चार फिल्में भी बनाई है जिसके बारे में जानकारी इस पोस्ट में दी गई है। वे ‘वसीम रिजवी फिल्म्स’ वेंचर को भी चलाते हैं।
  • 2008 में शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य और चेयरमैन भी रह चुके है।

 

 मुस्लिम वसीम रिजवी से जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी के हिन्दू बनने के कारण (waseem rizvi converted to hinduism)

muslim se hindu bane log, muslim se hindu kaise bane,
आपके मन में यह सवाल चल रहा होंगा की आखिर वो क्या वजह थी जिसके कारण वसीम रिजवी ने हिन्दू धर्म को अपनाया? आइये आपको बताते है वो प्रमुख कारण;  जब उन्होंने इस्लाम धर्म, मोहम्मद और कुरान को हिंदी में समझा और पढ़ा तो वो इस धर्म की सारी सच्चाई समझ गये। ये सबसे बड़ा कारण है मुसलमान से हिन्दू बनने का। भारत के मुस्लिम संगठन या बोर्ड उनको जान से मारने की धमकी देते थे। त्यागी बताते है की हर जुम्मे की रात के बाद हमारे सिर काटने की राशि में बढ़ोतरी हो जाती थी। इसके अलावा जब उन्होंने अपनी Mohammad book के जरिए पैगम्बर मुहम्मद की सच्चाई को उजागर किया और सुप्रीम कोर्ट में कुरान की 26 आयतों को हटाने की मांग की थी। जिन लोगो को सच सुनने की आदत नही है  वे भड़क गए और त्यागी पर कई तरह का दबाव बनाने लगे। इसी कारण वसीम रिजवी ने सनातन धर्म को अपनाया। त्यागी खुद अपने कई भाषण में कहते है की धर्म तो सिर्फ एक ही है सनातन (हिन्दू) धर्म, बाकी सब तो मजहब व सम्प्रदाय है। इसके अलावा इनका मानना है की इस्लाम जबर्दस्ती लोगो पर थोपा गया धर्म है। वे अपने एक टीवी इंटरव्यू में कहते है की इतना मोहम्मद के बारे में पढ़ने के बाद और इस्लाम के बारे में सारी सच्चाई जानने के बाद कोई बेशर्म ही होंगा जो मुस्लिम धर्म को नही छोड़ेंगा।

FAQ About Sayed Wasim Rizvi 

प्रश्न) जितेंद नारायण सिंह की बहन का नाम क्या है?

उत्तर - जितेंद नारायण सिंह त्यागी की हिन्दू बहन का नाम उदिता त्यागी है जो अखिल विश्व ब्रह्मऋषि त्यागी महासंघ से जुड़ी हुई है। उदिता त्यागी जी ने घर वापसी के दिन यानी वसीम रिजवी के धर्म परिवर्तन के दिन ही राखी बांधकर अपना भाई बनाया।

Waseem Rizvi in Hindi ( वसीम रिजवी कौन है))

वसीम रिज़वी वर्तमान में एक हिन्दू राजनेता, फ़िल्ममेकर, बुक लेखक व एक प्रसिद्ध समाजसेवी है। जब से उन्होंने इस्लाम धर्म को छोड़ा है तब से लेकर अबतक वे हमेशा पूरे भारत में सुर्खियों में रहते है।

Syed waseem rizvi vs union of india in Hindi
हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने उनके द्वारा पिटीशन किए गए 26 कुरान आयतों को हटाने की अपील को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। साथ ही 50,000 रूपये का जुर्माना भी वसीम रिजवी पर लगाया गया।

Waseem Rizvi Sources of income, Networth, Salary, Earnings

वसीम रिज़वी मुख्य रूप से अपने राजनीतिक कैरियर व लेखन से कमाते हैं। इसके अलावा उनके कुछ ऑफलाइन बिजनेस भी चलते है जहाँ से उनको अच्छी खासी कमाई होती है।

 वसीम रिज़वी का परिवार (Family Background)

उनके दो लड़कियां और और एक लड़का है। तीनो की शादियां हो चुकी है। उनकी पत्नी का नाम फातिमा है।

 Waseem Rizvi (Jitendra Narayan Singh Tyagi) All social media accounts

narayan singh Twitter handle
Instagram - Not Created Yet
Facebook - Abhi tak nhi banaya
wasim rizvi Youtube Channel
Website - Not Created Yet
Phone/Mobile Number - N/A
Email - N/A
Home Address/ Contact Details
- 394/13 A कश्मीरी मोहल्ला, थाना सआदतगंज, लखनऊ, उत्तरप्रदेश- 226003

 Syed Waseem Rizvi Muhammad Book Summary in Hindi 

wasim rizvi pdf book download, muhammad book by wasim rizvi,

【अस्वीकरण】– यहाँ पर लिखी गई सारी बातें मुहम्मद बुक से ली गई है। इस ब्लॉग के लेखक ने एक भी बात मन से नही लिखी है। ब्लॉग के लेखक किसी भी धार्मिक मतभेद और साम्प्रदायिक हिंसा फैलाने में विश्वास नही करता। लेखक विनोद वैष्णव ‘मानवता को धर्म’ मानता है। और भारत में जीवन व्यापन कर रहे सभी नागरिकों को मिल-जुलकर, खुशी-खुशी रहने के लिए प्रेरित करते है।

1. इस्लाम आंतकवाद कुरान पुस्तक की ही देन है। वे कहते है जब मैंने इसको उर्दू में पढ़ा था। तब मुझे इसका मतलब समझ में नही आया।

2.  पैगम्बर मोहम्मद एक मानसिक बीमारी के शिकार थे। इस रोग में शरीर की हड्डियों का आकर बढ़ जाता है। व हाथ-पैर सूखने लगते हैं, जिससे सेक्स की इच्छा तीव्र हो जाती है। यही कारण था की मोहम्मद की 13 बीवियां थी।

3. इस्लाम में जो बुर्खे पहने की प्रथा है वो भी मोहम्मद ने शुरू की थी ताकी कोई उसकी पत्नियों के साथ कोई दूसरा व्यक्ति यौन संबंध ना बना पाये। इन बुर्खे वाली महिलाओं को माँ का दर्जा भी दे दिया गया।  इस्लाम धर्म में एक माँ ही ऐसा रिश्ता है जिसके साथ कोई परिवार का सदस्य यौन संबंध नही बना सकता। बाकी तो आपने खुदने ही देखा ही होंगा की, ज्यादातर मुस्लिम लोग अपने बेटे की शादी अपने भाई की बेटी के साथ ही करवा देते है।

4.  कुरान में बताया गया है की मूर्ति पूजा करने वालो को मारो जिसे काफिर बताया गया है। इसी आयत को हटाने की मांग की जा रही है।

5. अबतक मोहम्मद की गलत विचारधारा के कारण दुनिया भर में करोड़ो निर्दोष लोगो का कत्लेआम हुआ है।

6. रिजवी कहते है की मैंने इस पुस्तक कोखास करके मुसलमानों के लिए लिखा है मोहम्मद एक लुटेरे गिरोह के सरदार थे, सामूहिक नरसंहार करने वाला, बच्चो के साथ यौन संबंध स्थापित करने वाले थे, अनेक महिलाओं के साथ यौन संबंध स्थापित करनेवाले औरतखोर थे। और काफी कुछ मोहम्मद को कहा जा सकता है लेकिन मुसलमान बिना समझे इस तरह की बातों को सिरे से खारिज कर देते हैं और बिना सवाल किए इस्लाम की हर इस तरह की बकवास पर भरोसा करते है 

7. कुरान (Quran 4:89) में लिखा है जो गैर-मुस्लिम है जो इस्लाम नही मानने वाला हो (जिसको इनकी भाषा में काफिर कहते है) उससे किसी प्रकार की दोस्ती मत बनाओ, अगर वह ईमान लाने से इंकार करे तो उन्हें उठा लाओ और मार डालो।

8. Wasim Rizvi thoughts on Quran in hindi 
कुरान (8:65) की आयत के जरिए मोहम्मद ने मुसलमानों को जिहाद के लिए उकसाया। गैर-मुसलमानों की हत्या कर दी गई, बम विस्फोट करते रहे।

9. पा0 10, सूरा9, आयत5,2 ख पृ.368 में लिखा है – ” जब हराम के महीने बीत जाए, तो मुश्रिकों (मूर्तिपूजक) को जहाँ-कही पाओ कत्ल करो। और अगर वे नमाज अदा करे तो उनका मार्ग छोड़ दो।
और भी बहुत सारी बाते है लेकिन मैं महत्वपूर्ण ही बता रहा हूँ।

10. उपरोक्त सभी आयतों में स्पष्ट है की गैर मुसलमानों के लिए ईष्या, घृणा, कपट, लड़ाई-झगड़ा, लूटमार और हत्या करने के आदेश कुरान के माध्यम से मोहम्मद द्वारा अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग हालात में दिए गए हैं। इन्ही कारणों से देश व विश्व में मुसलमानों और अन्य दूसरे धर्मों के साथ दंगे हुआ करते है।

11. इस पुस्तक में स्वामी दयानंद सरस्वती का ज़िक्र भी किया गया है। जहाँ उन्होंने अपने सत्यार्थ प्रकाश पुस्कतक में इस्लाम और कुरान को झूठा और फर्जी साबित किया।

12. कुरान की आयत (48:20) में खुला लिखा हुआ है की दूसरो का माल लूटकर उस कब्जा की गई दौलत पर मौज करो। ये सब जायज और अच्छा है। इसी एक आयत के कारण सदियों से मुसलमान दुनिया में लूटपाट-डकैती जैसी घटनाएं करता रहा है।

13. कुरान आयत (2:216) के कारण ही पूरी दुनिया व भारत में मुस्लिम आक्रमणकारियों ने हमले किए। उनका मकसद काफिरो को मारना व उनके धन को लूटकर जो की अल्लाह का इनाम है उसको हासिल करना।  इस जंग में जीती गई लड़किया मोहम्मद और उसके साथी अबू बकर उमर और उस्मान की अय्याशी का सामान बनाई जाती थी। क्योकी यह भी अल्लाह की तरफ से तोहफे में आई मानी जाती थी।

14.  अब आप खुद सोचिए कि मोहम्मद इतने शातिर थे कि उन्होंने लूटपाट, ख़ौफ़, महिलाओं के साथ यौन शोषण और हत्याओं को भलाई से कैसे अल्लाह के नाम पर जोड़ दिया।

15. मोहम्मद ने 50 वर्ष से 62 वर्ष की उम्र में कुल बारह 12शादियां की। जिसमें आयशा (aisha) जोकि मोहब्बत के सबसे करीबी दोस्त अबू बकर की लड़की थी। कहा जाता है कि मोहम्मद ने आयशा के साथ 6 साल की उम्र में शादी कर ली थी लेकिन जब आयशा 9 साल की हुई तब मोहम्मद ने आयशा से सेक्स किया। आपको जानकार हैरानी होंगी मोहम्मद की कई बीवियां सेक्स के बारे में खुलकर बोलती थी। जो की कई इस्लामिक पुस्तको में लिखा हुआ है। मोहम्मद सबसे अधिक प्यार Aisha से करते थे क्योकी वह सबसे कम उम्र की लड़की थी।  मोहम्मद की मृत्यु भी आयशा के गोद में हुई थी। ऐसा इतिहासिकार लिखते हैं कि मरते समय मोहम्मद ने कलमा नही पढ़ा था। इस बात के प्रमाण है की मुहम्मद की मौत सेक्स की अधिकता से हुई थी (हदीस-इब्ने-हाशाम, पेज संख्या 682)

16. आयशा ने कहा कि, मरते समय नबी ने कलमा नही पढ़ा था। क्योकी उस समय उनकी जीभ मेरे मुंह के अंदर थी। इसके अलावा बहुत सारी अश्लील बातें आयशा ने बोली है जो आप इस पुस्तक में पढ़ सकते है। [सही बुखारी – खंड7/किताब62/हदीस144]

17.  मुहम्मद के कई घिनोने अपराध किए शायद सबसे नीच और शर्मनाक 9 वर्षीय बच्ची के साथ उनके यौन उत्पीड़न का रिश्ता था। खुद मुस्लिम इस तथ्य पर शर्मिंदा है। यही कारण है आज भी मुसलमान कम उम्र की लड़कियों के साथ बड़े लोगो का विवाह करवाते है।

18. जो मुहम्मद ने किया वो ही आज के मुसलमान करते है चाहे वो काम कितना भी गलत क्यों न हो। एकबार जब कोई व्यक्ति मुस्लिम बन जाता है तो उसका मस्तिष्क समाप्त हो जाता है। वह अभी मनुष्य नही है।

19.  देखिए, बहुत सारी बातें इस मोहम्मद पुस्तक में ऐसी लिखी गई है जो बहुत उत्तेजिक है लेकिन एक-एक बात सच1 सभी बातें इस्लामिक ग्रंथो से उठाई गई है। उदाहरण के तौर पर अपनी सगी मौसी, बुआ, चचेरी बहन व दत्तक पुत्र की पत्नी से शादी करना व संभोग करना जायज है। ये परम्परा मोहम्मद साहब ने कुरान की आड़ में अपनी हवस पूरी करने के लिए शुरू की थी। जो आज भी चल रही है।

20. Prophet Muhammad luts after ,& steals his adopted son’s wife pt.2 मतलब अपने गोद लिए हुए बेटे को कुरान की आयतें बनाकर उसको अपने अलग किया उसके बाद उसकी खूबसूरत जवान पत्नी से शादी करके उसके साथ सहवास किया। क्योंकी इनको पता था। की जबतक ये मेरे दत्तक पुत्र की पत्नी है तबतक मैं इसके साथ किसी प्रकार का व्यभिचार नही कर सकता।

21. इस्लाम में पत्नी के साथ गुदामैथुन ( रसूल ने इस आयत में औरत के साथ उसकी गुदा में संभोग करने की इजाजत देदी है।) इसके अलावा वेश्यावृत्ति (पैसे देकर दूसरी औरत के साथ सेक्स करना) उचित बताया है),आगे मुझसे लिखने की हिम्मत नही हो रही।
Source – Tafseer Durre Manthur, Volume 1, Page 638.
Dur al-Mukhtar, Volume 2, Page-474.
निष्कर्ष :– इस्लाम की शिक्षा के कारण आज मुसलमान राक्षस बन गए हैं। यहाँ तक उनकी औरते भी आतंकवादी बन जाती है या फिर लड़कियों से वेश्यावृत्ति करवाती है।

22. इसके विषय की गंभीरता को समझे। और बताए कि मुसलमान किस बात के आधार पर इस्लाम को सर्वश्रेष्ठ धर्म मानते है। मुसलमान इसी लिए अपनी उन किताबो को छुपा देते है, जिनमें उनके कुकर्मो का उल्लेख होता है। आज भी मुसलमानों की असली किताबे उर्दू या अरबी भाषा में है। और अधिकांश लोग उनसे अनजान हैं।

23.  Prophet Muhammad Daughter Fatima in Hindi
मोहम्मद जो कि एक फर्जी अल्लाह के पैगम्बर थे उनकी पुत्री संसार की सभी स्त्रियों के लिए आदर्श थी। मुस्लिम दुनिया में फातिमा को एक पवित्र महिला का दर्जा दिया गया है। फातिमा एक संयमी व तपस्वी थी। वो अपना घर का कार्य करके इबादत में लीन हो जाती थी। हम तो यह मानते है कि  मोहम्मद की बजाय मोहम्मद की पुत्री  फातिमा ने अगर इस्लाम धर्म स्थापित किया होता तो शायद आज मुसलमान कट्टरपंथी ना होता, हृदय में किसी के लिए नफरत ना रखता, सभी धर्मों को मानने वाले लोगो के साथ हमदर्दी रखता। और आपको जानकर हैरानी होंगी की फातिमा (पवित्र महिला) से शुरू हुआ परिवार की 12 नस्लों को  मोहम्मद कट्टरपंथी अनुनायियों ने मौत के घाट उतार दिया गया। जिनको इस्लाम में इमाम का दर्जा दिया गया। क्योकी ये लोग नही चाहते थे की फातिमा की अच्छी शिक्षा इस्लाम में फैले।

24. MUHHAMMAD Book के पेज नम्बर 126 में बताया गया है की मुसलमान मोहम्मद के चरित्र पर बात करने से क्यों डरते हैं? हर धर्म (ईसाई, बौद्ध, जैन, हिन्दू) अपने भगवान के बारे में अन्य लोगो को चित्र के माध्यम से बताते है) लेकिन इस्लाम में इसको पाप के साथ जोड़ दिया। वास्तविक बात तो ये है कि मोहम्मद का कोई चरित्र ही नही था जिसका चित्रण किया जा सके।

25. दुनिया का सबसे पहला इस्लामी आतंकवादी मोहम्मद ही था। इसके चाचा ने ना जाने कितनी बार उसकी जान बचाई  पर मरते समय तक कभी कुरैशो का मजहब नही छोड़ा और इस्लाम स्वीकार नही  किया, क्योकी उसको पता था की उसका भतीजा पागल है। खुद आयशा ने हफ्सा के साथ मिलकर मोहम्मद को जहर दे दिया था।

26. जानवरों के गले पर छुरी चलाते समय, चोरी करते समय, बम विस्फोट करते समय जैसे अनेक अमानवीय कार्य करते समय मुहम्मद व कुरान के नियमो का पालन करते हुए अल्लाह और रसूल का नाम लेते है। लेकिन बहुत कम लोगो को यह बात पता होंगी की सार्वजनिक रूप से सामूहिक बलत्कार करते समय भी “अल्लाहु अकबर” का नारा लगाते हैं। क्योंकी वे मुहम्मद को अपना आदर्श मानते है।

27.  पेज संख्या 139 में खुद इस्लामिक धर्मगुरुओं ने मुहम्मद साहब को  सुपर-मेन-ऑफ-सेक्स कह दिया। मुहम्मद साहब के दिल में जो भी बात होती थी वो पवित्र कुरान पुस्तक की आयत (अध्याय) बन जाता था। 

28. यही कारण है की आज मुसलमान किसी भी गैर मुस्लिम लड़की के साथ बलात्कार करते है तो उसको अल्लाह की जीत मानते है।  इसकी एक सच्ची घटना कैमरे में कैद हुई जो की खुद बलात्कारीयों ने ही बनाया। ये घटना मिस्त्र (Egypt) देश की है। जहाँ मुस्लिम लोगो ने एक इसाई लड़की  का सड़क पर सामूहिक बलात्कार किया। यह वीडियो इस साइट पर उपलब्ध है
Video: Christian Girls Gang Raped to screams of “Allah Akbar” in Egypt.

29. लेखक सैयद वसीम रिज़वी ने इस पुस्तक को गहरे अध्ययन, कई इस्लामिक ग्रन्थो के आधार पर लिखा है। पुस्तक की पीडीएफ लिंक सबसे ऊपर के पैराग्राफ के नीचे दी गई है वहाँ से आप Pdf Download कर सकते है।


इस कारण विवादों में फंसे थे नारायण सिंह त्यागी (Waseem Rizvi Controversy in Hindi )

अक्सर वसीम रिजवी इस्लाम धर्म के खिलाफ ही बोलते है। इसके अलावा उन्होंने जब अपनी लोकप्रिय पुस्तक  ‘मोहम्मद’ को लिखा। तब बहुत सारे देश के मुस्लिम संगठनों ने रैली निकालकर इनका कड़ा विरोध किया। बहुत सारे मुसलमानों ने जान से मारने की धमकी दी। हाल ही में हरिद्वार में सम्पन्न हुई ‘धर्म संसद’ में उन्होंने इस्लाम के कई राज खोले जिसके कारण उत्तराखंड पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर दिया। इसके अलावा जब उन्होने ‘Ram Ki Janmabhoomi’ फ़िल्म बनाई तब भी उत्तरप्रदेश के मुस्लिम समुदाय ने कड़ा विरोध किया।  इसके अलावा वे 2017 से ही चर्चा में बने हुए है। उन्होंने भारत की 9 मस्जिदों को हिंदुओ को सौंप दिए जाने की बात भी उठाई। इनका कहना है की कुतुब मीनार परिसर में मौजूद मस्जिद को भारत की धरती पर कलंक बताया है। इसके अलावा मदरसों की तलीम को आंतकवाद से जोड़ा था। वही सबसे ज्यादा विवाद कुरान की 26 आयतों को हटाने लिए सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर करने पर हुआ था।

 

आज आपने जितेंद नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी के जीवन के बारे सबकुछ जाना। अपने विचार/सुझाव/राय नींचे ब्लॉग कॉमेंट बॉक्स में लिखे। नीचे अन्य जीवन बदलने वाली जीवनियों (बॉयोग्राफी) को जरूर पढे। 

 

इन्हें भी पढ़ें [ Related Articles ]

क्रांतिकारी होम्योपैथी डॉक्टर लिओ रेबेलो का जीवन परिचय

कैप्टन अजीत वाडकायिल जीवन परिचय 

भारत में चल रहे सभी साज़िश व षड्यंत्रों का खुलासा

देशभक्ति कैसे करें? Desh Bhakt बनने के 10 तरीके

Leave a Comment