Plant Based Food क्या है? पेड़-पौधों पर आधारित भोजन करने के फायदे।

Plant Based Food क्या है? पेड़-पौधों पर आधारित भोजन करने के फायदे।

प्लांट बेस्ड फ़ूड एक ऐसा भोजन है जो आपके स्वास्थ्य लक्ष्य को प्राप्त करवाने की काबिलियत रखता है। यह भोजन आपके उत्तम सेहत के लिए जरूरी है। इसी भोजन को 100% प्राकृतिक/नेचुरल व भगवान द्वारा बनाया गया भोजन कहा गया है। आज आपको इस पोस्ट में Plant Based Food यानी पेड़-पौधों से प्राप्त भोजन के बारे में पूरी जानकारी दी जायेगी।

Plant Based Food की क्यों आवश्यकता है?

हमारी संस्कृति, प्रकृति और पर्यावरण को बचाने के लिए इस भोजन को करना जरूरी है। ये भोजन भगवान (God) ने बनाया है। पौधों पर आधारित भोजन करने से पर्यावरण का संतुलन बना रहता है। अगर सभी लोग अपने पापी-पेट के लिए जानवरों को मारना शुरू कर देंगे। तो जीवों की कमी हो जायेगी। और ये बात शायद आपको पता नहीं होंगा की जब हमारे वातावरण में किसी भी एक आवश्यक चीज की कमी हो जाती है तो प्रकृति माता अपना रुद्र रूप मानवीय जाती को दिखाती है। प्लांट बेस्ड फ़ूड खाने से सभी जीवों को संतुष्टि मिलती है। आपके अंदर एक कमाल की उर्जा का संचार होता है, आप अपने पूरे दिन का भरपूर आनंद ले पाते हैं।

प्लांट बेस्ड फ़ूड में क्या खाद्य पदार्थ आता है?

इस पृथ्वी पर उपलब्ध सभी प्रकार की सब्जियां, फल, साबुत अनाज, फलियां, डॉयफ्रूट्स और बीज इसके अंदर आते हैं। इस डाइट को बिना गर्म किये, बिना पकाये करना होता है। मतलब कच्चा ही खाना होता है। पौधों पर आधारित फ़ूड जैसे – मटर, गाजर, मूली, टमाटर, सेब, अनार, केला, संतरा, अन्नानास, काजू, बादाम, किशमिश, अखरोट, पिस्ता आदि फ़ूड आते हैं।

Plant Based Food डाइट लेने के फायदे

1. पेड़-पौधों से प्राप्त भोजन करने से हमें शरीर में मौजूद सभी आवश्यक पोषक तत्व मिल जाते हैं। जिसमें सभी प्रकार के विटामिन्स, मिनरल्स, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट शामिल हैं।

2. इस आहार से टीबी, डायबिटीज, कैंसर जेसी खतरनाक बीमारियां खत्म हो जाती है।

3. जब आप इस भोजन को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लेते हैं या फिर कह सकते हैं की आदत बना ले तो आप 24 घण्टे ऊर्जा से भरे रहेंगे। आपको एक कमाल की एनर्जी मिलेंगी।

4. ये आहार आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) को इतना मजबूत बना लेती है। की कितने भी फ्लू/संक्रमण/वायरस आपके शरीर में आ जाये आपका कुछ भी नही होंगा।

5. इस diet को लेने का सबसे बड़ा Benefit यही है की आपका खाना बनाने का, पकाने का, जलाने का समय बहुत बच जाता हैं। क्योकी इसमें आपको सबकुछ कच्चा खाना है।

6. ये आहार लेने से आप जीवनभर स्लीम एंड फिट रहेंगे। आपको मोटापे की समस्या नहीं आयेगी। जिन लोगों का पेट बाहर आया हुआ है वे लोग कुछ दिन इस प्राकृतिक भोजन को जरूर ग्रहण करें। लेकिन इसमें भी एक शर्त है की आपको सही डाइट का चुनाव करना ज़रूरी है और उसको सही समय पर लेना जरूरी है इसके लिए Google पर ये कीवर्ड सर्च करे “Dip Diet by internet Gyankosh”

7. इससे केंसर जेसे रोग का खतरा कम हो जाता है। इसके साथ ही ट्यूमर को बढ़ने से रोकता है।

8. शरीर में गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त सेल्स को ठीक करता है।

Very Powerful Plant Based Food in Hindi

आपके मन में यह सवाल चल रहा होंगा की प्लांट बेस्ड फ़ूड में सबसे शक्तिशाली चीज क्या है? इसका जवाब है हरे पत्ते (Green Vegetable) मतलब हरे पत्ते वाली सब्जियां। जिसमें पालक व मैथी शामिल है। मैं सिर्फ इन दो सब्जियों की बात नहीं कर रहा। मैं तो इस देश के हर कोने/शहर/गांव में मौजूद हरे रंग की सब्जियों की बात कर रहा हूँ। आप इनको कच्चा भी खा सकते हैं और इसका ज्यूस बनाकर भी पी सकते हैं। ये आपको वो सारी शक्तिया देंगी, जो पशु-पक्षियों को मिलती है। सारे एनीमल्स घास के रूप में या किसी भी प्रकार के पौधे से हरे पत्ते ही खाते हैं। और इन्ही हरी पत्तियों से उनको सभी प्रकार के विटामिन्स व न्यूट्रिशन मिलते हैं।

प्लांट बेस्ड प्रोटीन फूड (क्या फल-सब्जियों में Protein होता है?)

पहले तो मैं आपको बता दूं, प्रोटीन के झमले में आपको नही पड़ना है वरना आप फालतू में अपने शरीर की बैंड बजवा दोंगे। आपने वो कहावत तो सुनी ही होंगी की ” आदमी खुद अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारता है ” ज्यादातर अज्ञानी जिम ट्रैनर आपको ये सलाह देंगे की आपको रोज अपने शरीर के वजन के अनुसार प्रोटीन लेना जरूरी है। जबकी आप ये सोचे, की सारे वो जानवर जिनका हड्डियों का घनत्व इंसानो से कई गुना ज्यादा है क्या वे एनिमल्स बाल्टी भर भरकर दूध पीते हैं? उदाहरण के लिए हाथी, घोड़ा। क्या ये जीवनभर डेयरी प्रोडक्ट खाते हैं? इनको Protein कहाँ से मिलता है? उतर है – पौधों से यानी Plant से। फिर भी मैं आपको कुछ वेजेटेरियन प्लांट बेस्ड फ़ूड के नाम बताता हूँ जिससे आप भरपूर प्रोटीन ले सकते हैं। जिसमें सभी प्रकार की Unpolished दालें, सोयाबीन की फलियां तथा छोले शामिल हैं। इसके अलावा सभी प्रकार के फल और सब्जियों में प्रोटीन होता है।

Plant Based Diet In Hindi

प्लांट बेस्ड फ़ूड का पहला नियम यही है की आप सुबह-सुबह पेट भरकर अलग-अलग प्रकार के मौसमी फल खाये। जो भी खाए उसमें चार प्रकार हो। आप चाहे तो 5 से 10 प्रकार के भी ले सकते हैं वो आपकी आर्थिक स्थिति पर निर्भर करता है लेकिन न्यूनतम चार प्रकार के फल होने चाहिए। अब इस डाइट का दूसरा नियम है सुबह व शाम का भोजन करने से पहले सलाद जरूर खाये। कितना खाये कम से कम दो से चार कटोरी भरकर। सलाद में क्या आता है? वो सारी कच्ची सब्जी जिसको बिना उबाल कर भी खाया जा सकता है वो सलाद में आता है। जैसे; टमाटर, खीरा, शकरकंद, चुकन्दर इत्यादी। 

Plant Based Food Diet, Timings, Guide in Hindi ( कब, कितना, क्या और कैसे ले?)

देखिए, अभी तक आपने यह तो समझ लिया की हमें कौनसा भोजन जीवनभर स्वस्थ रहने के लिए करना है लेकिन अगर आपने सही तरह से Plant Based Food नही लिया तो कोई फायदा नही मिलेंगा। उदाहरण के लिए आयुर्वेद में भी कहा गया है की खाना खाने के बाद फल नही खाये। ऐसे में नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करके सम्पूर्ण स्टेप बाय स्टेप हिंदी भाषा में पढ़े।

यह भी पढ़े –  जानिए प्लांट बेस्ड फ़ूड डाइट लेने का सही तरीका।

इस तरह आपने मानव इतिहास के सबसे शक्तिशाली पेड़-पौधों पर आधारित भोजन के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की। आप नीचे दिए गए अन्य Health Related आर्टीकल भी पढ़ सकते हैं। इस पोस्ट को सभी के साथ शेयर करें और अपने सवाल/सुझाव/विचार नीचे ब्लॉग कॉमेंट सेक्शन में लिखे।

इन्हें भी पढ़े 【 Related Articles 】

वीगन डाइट के फायदे 

जानवरों से प्यार करते हो उन भोजन को छोड़ दो जो दिखता शाकाहारी है लेकिन है असल में मांसाहारी (Nonveg)

शरीर कमजोर होने का कारण बनती है ये गलत अनहेल्दी फूड की आदतें

महत्वपूर्ण हैल्थ टिप्स सभी चिकित्सा के बारे में जानकारी

टेलीविजन के लाभ और हानि

स्वस्थ और रोगमुक्त जीवन कैसे जिएं

योग निद्रा कैसे करे? योग निंद्रा करने के 25 फायदे

सुबह जल्दी उठने के 100 फायदे! 

बीमार व्यक्ति की घर पर देखभाल कैसे करें?

देखिए कैसे अंग्रेजी दवाई [एलोपैथी मेडिसिन] लोगो को मौत के घाट उतारती है।

आँखों की देखभाल कैसे करें?

 सूर्य नमस्कार कैसे करे?

Leave a Comment