Rail [Train] Mein Free Yatra (Travel) Kaise kare? मुफ्त रेल यात्रा का अनुभव

Rail [Train] Mein Free Yatra (Travel) Kaise kare? मुफ्त रेल यात्रा का अनुभव

रेल यात्रा करना हर इंसान का सपना होता है। सबसे अच्छी बात यह है की ट्रेन का सफर इतना सस्ता होता है की गरीब से गरीब व्यक्ति भी आराम से जीवन में एकबार नही, सैकड़ो बार रेल यात्रा का आनंद ले सकता है। लेकिन कई बार हम भारतीयों के साथ या फिर दुनिया के किसी भी रेल सुविधा उपलब्ध नागरिकों के साथ यह समस्या देखने को मिलती है की उनके पास ट्रैन का टिकट नही होता, पर उन्हें अपने गंतव्य स्थान पर जाना जरूरी होता है। ऐसे में अगर आप बिल्कुल नये-नये रेल यात्री हो, तो आपको काफी असुविधा का सामना करना पड़ता है। आपके मन में बिना रेल टिकट यात्रा करते समय ये सवाल भी उठ सकते हैं।
अगर टीटी ने बिना टिकट पकड़ लिया तो मुझे जेल होंगी या फिर कितना रूपये चार्ज लंगेगा?
● बिना टिकट यात्रा करने पर किसी की भी खाली सीट पर बैठ सकते हैं क्या?
ऐसे तमाम सवालों का जवाब इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद में आपको मिल जायेंगा। लेख पढ़ते समय इस बात का भी ध्यान रखें की मैंने अपने जीवन संघर्ष के समय कई बार फ्री में (निशुल्क) रेल यात्रा की है उसी के अनुभव के आधार पर यह पोस्ट लिख रहा हूँ। अगर आप एक indian Train Lover है तो ये पोस्ट आपके लिए ही है। हर रेलप्रेमी के लिए लेख बहुत कीमती है।

 

Rail Ke General Dibbe (Coach) me free yatra Kaise Kare?

भारतीय रेल या दुनिया की किसी भी रेल में जनरल श्रेणी का एक या दो ट्रैन कोच (डिब्बे) होते हैं। इसका किराया बहुत कम होता है। उदाहरण के लिए, जयपुर से दिल्ली तक जाने का 200 रूपये किराया है, तो जनरल डिब्बे में आपका किराया 85 से 95 रुपये ही लगेंगा। अभी बात करते हैं की इस रेल कोच में मुफ्त यात्रा कैसे करें? कुछ महत्वपूर्ण तथ्य आपके साथ साझा करना चाहता हूँ रेल के जनरल डिब्बे के बारे में, जिससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेंगा। इन्ही चार बिंदुओं के माध्यम से आपको इस उपबिन्दु में किये गए वादे को भी पूरा कर दूंगा।

● 80% भारतीय जनरल डिब्बे में बिना टिकट ही बैठते हैं, क्योकी इसमें कभी भी टीटी, आपका टिकट चेक करने नही आता।

● कभी कभार दुर्घटनावश आ जाये तो अलग बात परन्तु 99% केस में टीटी साहब नही आते हैं।

● इस डिब्बे में अधितकर वह लोग बैठते हैं जिनको किसी एक नजदीकी स्टेशन या कम दूरी का सफर तय करना होता है। दूसरी श्रेणी के वे लोग होते हैं, जिनके पास सफर करने के पैसे तो होते हैं पर वो रेल टिकट का पैसा देना नही चाहते।

● वही तीसरी श्रेणी के वे लोग होते हैं जिनके पास वास्तव में पैसे नहीं होते है या फिर सिर्फ इतने पैसे होते हैं की वे जिस भी शहर जाना चाहते हैं वहाँ का सफर करने जितना ही पैसा होता है। या फिर ऐसे यात्रियों के पास सिर्फ भोजन का पैसा होता है। जिसके कारण वो भोजन के लिए पैसा बचाते हैं और बिना टिकट जनरल डिब्बे में यात्रा करते हैं।

● इस तरह आपने रेल के जनरल डिब्बे (सामान्य श्रेणी रेल कोच) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की व Without Train Ticket की यात्रा करना सीखा।

 

 Sleeper Coach (Reservation Dibbe) Train Me free Travel (yatra) kaise kare?

वेसे तो ये एक बहुत ही खतरनाक पैराग्राफ होंगा जो मैं लिख रहा हूँ, क्योकी रिजर्वेशन रेल कोच में बिना टिकट सफर कैसे करें? यह गैरकानूनी तरीका है। पर आप बिल्कुल चिंता ना करे। मैं आपको अपने व्यक्तिगत अनुभव के आधार पर आपको आपातकालीन परिस्थितियों में या सामान्य स्थिति में Reservation train Coach में निशुल्क रेल यात्रा करने के बारे में कुछ टिप्स दूंगा। आइये जानते हैं वो क्या टिप्स है।

1. अगर आपको मात्र 20 से 50 किलोमीटर तक कि रेल यात्रा करनी है, और आपके पास ट्रैन टिकट बुक करवाने के पैसे भी नहीं है, तो ऐसे में आप रिजर्वेशन वाले डिब्बे में बैठ सकते हैं।

2. अगर आप किसी विशेष अच्छे उद्देश्य से बिना टिकट स्लीपर कोच की यात्रा कर रहे हैं, तो मेरा विश्वास मानिए, आपका सामना टीटी से नही होंगा और हो भी गया तो वो आपको माफ कर देंगा। यह घटना मेरे साथ घटित हो चुकी है। उसके आधार पर बोल रहा हूँ।

3. तीसरा और अंतिम तरीका यह है की बहुत सारी शयनयान रेल श्रेणी ( Sleeper) की सीट बुक की हुई नही होती हैं। ऐसे में आप मौके का फायदा उठाकर बैठ सकते हो। और टीटी मास्टर आने पर रेल के शौचालय के डिब्बे में घुस जाओ। वह जबतक टीटी ना जाये तबतक टॉयलेट का दरवाजा खोलो ही मत। यह तरीका बहुत लोग स्लीपर कोच में निशुल्क (FREE) यात्रा करने के लिए आजमाते हैं।

 

 1st Ac, 2nd Ac & 3rd Ac Train Me Free Travel (yatra) kaise kare?

अब आती हैं ट्रैन के सबसे लक्सरी, वीआईपी डिब्बे में फ्री यात्रा करने की तो इसमें एक नियम व शर्त है। वह नियम और शर्त यह है, की आप किसी ऐसे स्लीपर कोच शयनयान रेल श्रेणी के डिब्बे) में बैठे हो, जो किसी ए.सी(AC) वाले डिब्बे से जुड़ा हुआ हो। ऐसे में आप टॉयलेट वाले दरवाजे के पास में ही उस AC डिब्बे का दरवाजा होंगा उसको खोलकर कुछ समय आराम से बैठ सकते हो। लेकिन यह सौभाग्य बहुत कम लोगो को मिलता है। क्योकी यह पूरा आपकी किस्मत पर निर्भर करता है। अगर आपका स्लीपर क्लास रेल डिब्बा AC वाले से जुड़ा हो, ऐसा बहुत कम बार ही मौका मिलता हैं।

 

 Bina Ticket Rail Yatra karte samya kuch baato ka Dhyan De & FAQ

Q.1. Train Ke T.T. Ne bina rail ticket pakad liya tou kya honga?

उत्तर – कुछ नहीं! घबराने की जरूरत नही। आपके पास वास्तव में एक भी रूपया नही है तो आप अपनी स्थिति के बारे में टीटी को बता सकते हैं। वो आप से एक रूपया भी नही मांगेगा व किसी प्रकार की पुलिस करवाई भी नही करेंगा। लेकिन आपके पास पैसे है तो टीटी को बता दे, की आपको जो भी अतिरिक्त शुल्क लेना है वो ले लीजिए। मैं पैसा देने के लिए तैयार हूँ। तो वह रेल टीटी आपको तुरन्त वही पर ट्रेन टिकट बनाकर दे देंगा। जब मैंने एक भी बार रेल यात्रा नही की थी, उस समय पता नही मेरे दिमाग में यह बात किसने बिठा दी थी, की बिना टिकट ट्रैन की यात्रा करने से जेल हो सकती है। जबकी वास्तव में ऐसा कभी नही होता। हाँ, अगर आप टीटी या किसी भी रेलवे कर्मचारियों से लड़ाई-झगड़ा करते हो, ऐसी स्थिति में आपको जेल जाना पड़ सकता है।

 

Q.2. Bina Train ticket Travel karte time kya hum kisi bhi rail coach ki khali seat par Baith sakte hain?

उत्तर – आप स्लीपर कोच (रिजर्वेशन ट्रेन डिब्बे) व ऐसी रेल कोच में नही बैठ सकते क्योकी वो पहले से बुक्ड (Booked) होते हैं। हो सकता है अगले रेलवे स्टेशन पर कोई यात्री आकर उस खाली सीट पर बैठ जाये। आप सिर्फ जनरल डिब्बे में खाली सीट पर बैठ सकते हैं। क्योकी वो एक ट्रेन का लोकल डिब्बा होता है। वही द्वितीय श्रेणी रेल डिब्बे ( 2nd Seating Coach) में भी आप बैठ सकते हैं। क्योकी ज्यादातर इस डिब्बे में सीट खाली ही रहती है।

 

निष्कर्ष – इस लेख को हर रेलप्रेमी के पास अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिये पहुंचाये। क्योकी पहली बार रेलयात्रा करने वाले लोगो के लिए यह आर्टिकल काफी उपयोगी है। व जिनको थोड़ा बहुत “रेल-ज्ञानकोष” का ज्ञान है, उनके लिए भी काफी महत्वपूर्ण है। अपने विचार नीचे ब्लॉग कॉमेंट सेक्शन में जरूर बताये।

 

इन्हें भी पढ़े [ Related Post ]

Tourism in Hindi – पर्यटन क्या है?

गाँव के बारे में जानकारी व गांव के लोग कैसे रहते हैं?  indian village life

Road Signs in Hindi – सड़क संकेत [ रोड साइन ] कितने प्रकार के होते हैं?

India me kitne state hain? हिन्दुस्तान में कितने राज्य और केंद्रशासित प्रदेश हैं

उत्तराखंड के बारे में 5 रोचक तथ्य

राजस्थान के बारे में 5 रोचक तथ्य

राजस्थान के 5 सबसे प्रसिद्ध शहर | Top 5 city cities Rajasthan in Hindi

देश विदेश घूमने के फायदे | Travelling ke Fayde

पाली शहर के पर्यटक स्थल। | Pali City Rajasthan Tourist Places

हरिद्वार शहर के पर्यटन स्थल | Haridwar City Tourist Places

पतजंलि औषधीय उद्यान हरिद्वार | Patanjali Tourist Places Herbal Park

Leave a Comment