Tourism in Hindi – पर्यटन क्या है?

Tourism in Hindi – पर्यटन क्या है?

पर्यटन का हिंदी में मतलब होता हैं – सैर सपाटा और घूमना – फिरना। पर्यटन को इंग्लिश में ‘टूरिज्म एंड ट्रेवल (Tourism & Travel ) कहते है।  हिंग्लिश भाषा  में ‘Paryatan’ लिखते हैं। पर्यटन के अंदर वह सब तत्व, चीजे, वस्तुएं आती हैं जो हमें सुकून, खुशियाँ देती है। पर्यटन के अंतर्गत आने वाले तत्व मानव निर्मित और प्राकृतिक दोनो होते हैं। पहले बात करते हैं मानव निर्मित कृत्रिम पर्यटन चीजो के बारे में, इसके अंदर वॉटर पार्क, स्केटिंग, साइकिलिंग, मोटो वलॉगिंग, गार्डन इत्यादी चीजे आती हैं वहीं पर्यावरण के पर्यटन की बात करे तो इसमें नदी, झील, तालाब, पर्वत जेसी चीजे आती हैं। वही पर्यटक ( paryatak) को इंग्लिश में टूरिस्ट (tourist) कहते हैं। पर्यटक हमेशा पर्यटन को एक्सपलोर करता है। अब चलिए विस्तार से इस टॉपिक को समझते हैं

 

पर्यटन के अन्दर आने वाली सभी वस्तुओं व स्थानों का संक्षिप्त जानकारी

अभी मैं आपको पर्यटन के अंदर मौजूद सभी घटकों के बारे में विस्तार से बताऊंगा। आपसे अनुरोध है, paryatan के बारे में सबकुछ सीखने की इच्छा को जाग्रत करे क्योकी यही वह चीज है जो जीवन में सुख देती है, हमें ऊर्जा देती हैं, हमें जीवन में आगे बढ़ना सीखाती है।

1. नदिया (rivers) –
नदी के बारे में आपको ज्यादा कुछ बताने की जरूरत नही है। हर गाँव में एक नदी होती है वह हर एक शहर में नदी होती है। नदी तो भारत की आध्यात्मिकता की शान है। नदी का पानी पीने में भी काम आता है और नहाने भी। इसके अलावा खेती वह अन्य उद्योगो में भी काम आता है

 

2. बांध ( Dam) –
बाँध को एनीकट भी कहते हैं। इसे इंग्लिश में डेम कहते हैं। ये आकार में बहुत बड़े होते हैं। इसमें बहुत अधिक गहराई में पानी होता है। बहुत सारे यात्री समुन्द्र के अंदर गोताखोरी करते हैं। स्विमिंग करते हैं। इसका मतलब डेम भी पर्यटन में आता है।

 

3. धार्मिक स्थल –
देश का हर धार्मिक स्थल जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, गिरिजाघर सब पर्यटन के अंदर आते हैं। क्योकी हर व्यक्ति अपनी धार्मिक आस्था के कारण कही न कही दर्शन करने या पूजा-अर्चना करने जरूर घर से बाहर निकलता है। या लंबी दूरी तय करता है।

 

4. ऐतिहासिक धरोहर –
देश की हर एक हिस्टोरिकल या हिस्टोरिक भवन, घर, इमारत, मंजिला भी पर्यटन के अंदर आती हैं। भारत और दुनिया के हर बड़े शहर में आपको एक ऐतिहासिक भवन जरूर मिलेंगा।

 

5. भोजन की विविधता – 
किसी भी देश के व्यजन, मिठाइयां, स्वादिष्ट पकवान, परम्परागत भोजन शैली भी अन्य देशों के पर्यटको अपनी तरफ खींचते हैं। इस दुनिया में शायद ही ऐसी कोई जगह होंगी जहाँ पर अलग तरह का फल, सब्जियां, खान-पीने के तरीके ना हो। हर देश के लोकल स्ट्रीट फूड को जानने के लिए आप गूगलिंग कर सकते हैं।

 

6. संस्कृति –
हर देश की अपनी सांस्कृतिक विरासत होती है। कल्चर किसी भी देश के पर्यटन (Tourism) का अभिन्न हिस्सा होती है। क्योकी कोई भी घूमने वाला यात्री तभी किसी देश में प्रवेश करना चाहेगा जहाँ पर उसके साथ सही तरीके से व्यवहार किया जाए।

 

7. वेशभूषा –
वेशभूषा के कई मतलब या नाम है उदाहरण के लिए; कपड़े, पहनावा, वस्त्र, क्लॉथ (cloth) इत्यादी। हर देश की एक फैशन परस्ती होती है। हर कोई व्यक्ति अपने शरीर को ढकने के लिए या फीर सबसे अलग सुंदर दिखने के लिए नये-नये डिजाइन के कपड़े पहनता है। इसके अलावा सभी देश के सभी राज्य की ‘वेषभूषा’ अलग – अलग होती है। यही डिज़ाइन वाले कपड़े किसी देश के पर्यटन के लिए भी उतने ही आवश्यक है। हर ट्रेवलर किसी भी देश में घूमकर नये कपड़े पहनना चाहता है

 

8. परिवहन – वाहन
परिवहन और वाहन के अंदर कार, हेलीकॉप्टर, स्कूटर, ट्रेन, मेट्रो, हवाई जहाज, दो पहिया व चार पहिया गाड़ी आती है। ये सभी वाहन किसी भी देश के पर्यटन को विकसित करने के लिए या उस देश की समृद्धि बढ़ाने के लिए आवश्यक चीजे है। क्योकी जब आवागमन के साधन सुलभ, सस्ते, ओर हर जगह उपलब्ध हो जाते हैं तब लोग ज्यादा से ज्यादा यात्रा (travelling) करने के बारे में सोचेंते है।

भारत पर्यटन का मतलब क्या है?

भारत पर्यटन का मतलब है – वो सभी भारतीय ऐतिहासिक भवन, किले, धार्मिक स्थल, परम्परागत भोजन शेली, परिवहन, नदिया जो भारत में मौजूद है, उन्हें लोग देखने जाते हैं। उस जगह की यात्रा करना पसंद करते हैं उसे ‘भारत पर्यटन’ कहते हैं। इसकी दूसरी परिभाषा में आज की पीढ़ी की भाषा के अनुसार समझाने की कोशिश करता हूँ:  Tourist Places, attractions, things to do in city, places to visit in state city, Ye Sab Cheeje Bharat paryatan ka matlab hain. आपको बता दे हमारे देश भारत में पर्यटन विभाग (Tourism Department) भी है। इस विभाग का एकमात्र यही काम होता है की देश में मौजूद ऐतिहासिक महत्व की वस्तुओं, भवनों, किलो व जगहों को सुरक्षित रखा जाए ताकी हमारी आने वाली पीढ़ी अपने अतीत को समझ पाए। ये ‘पर्यटन विभाग’ भारत के हर राज्य में होता है।

पर्यटन दिवस कब मनाया जाता हैं?

27 सितम्बर को हर साल दुनिया में पर्यटन दिवस मनाया जाता है। हर देश अपने टूरिज्म (पर्यटन) को बढ़ावा देने के लिए या उसको विकसित करने के लिए हर साल पर्यटन दिवस (World Tourism Day) मनाता है। इस पर्यटन उत्सव पर विभिन्न प्रकार की जिला स्तर, राज्य स्तर व नेशनल ट्रेवल एक्टिविटीज कराई जाती है। ताकी लोग अपने देश में मौजूद सभी ट्रेवल डेस्टिनेशन को देख पाये।

Eco Tourism In Hindi – इको टूरिज्म क्या है?

इको टूरिज्म का हिंदी में मतलब पर्यावरण पर्यटन (Environment Tourism) होता है। इसके अंदर सभी पर्यावरण से जुड़े हुए पर्यटक स्थल (टूरिस्ट प्लेस) आते हैं। आज हर देश अपने इको टूरिज्म को बढ़ावा दे रहा है। Eco tourism सबसे बड़ा फायदा यह है की इसमें ज्यादा पैसों का निवेश नही करना पड़ता क्योकी ये सभी वस्तुएं (निर्जीव व सजीव) हर देश में पहले से ही मौजूद होती है।  चलिए जानते हैं पर्यावरण पर्यटन के प्रकार [types of eco tourism] ;

● नदिया(Rivers), पहाड़ (mountain)

● घाटियां (valley), बर्फ के हिम पर्वत

● समुन्द्र (sea), समुद्र तट ( Beach)

● आकाश (sky), भूमि (Land)

 

Bharat Ke 100 Paryatan Sthalo ke Naam

Top 100 tourist place name in Hindi, Paryatan sthalon ke naam,

Top 100 Tourist places Name in Hindi
1. पद्मनाभस्वामी मंदिर, तिरुवनंतपुरम
2. ताजमहल, आगरा
3. पैंगोंग झील, लद्दाख
4. फूलों की घाटी, नैनीताल
5. जैसलमेर का किला, जैसलमेर
6. हम्पी, कर्नाटक के खंडहर
7. वाराणसी गंगा घाट आरती
8. साइंस सिटी कोलकाता
9. पुराना गोवा, गोवा
10. उम्मेद भवन पैलेस, जोधपुर
11. जामा मस्जिद, दिल्ली
12. अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली
13. ओल्ड बॉम्बे, मुंबई
14. अजंता और एलोरा गुफाएं, औरंगाबाद
15. स्वर्ण मंदिर, अमृतसर
16. चारमीनार, हैदराबाद
17. आमेर का किला, जयपुर
18. क्रिस्टल वर्ल्ड वाटर पार्क हरिद्वार
19. महाबोधि मंदिर, बोध गया
20. मीनाक्षी अम्मन मंदिर, मदुरै
21. खजुराहो मंदिर, छतरपुर
22. एलीफेंटा गुफाएं, मुंबई
23. सिटी पैलेस, उदयपुर
24. हैवलॉक द्वीप, अंडमान
25. तिरुपति, चित्तूर
26. तवांग मठ, तवांग
27. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान, असम
28. केसरिया स्तूप, केसरिया
29. पलिताना मंदिर, भावनगरी
30. सिटी पैलेस, जयपुर
31. सूर्य मंदिर, कोणार्क
32. रानी की वाव, पटना
33. चतुर्भुज मंदिर, ओरछा
34. सेलुलर जेल, पोर्ट ब्लेयर
35. बोर्रा गुफाएं, विशाखापत्तनम
36. द रिज, शिमला
37. बेलूर मठ कोलकाता
38. मैसूर पैलेस, मैसूर
39. बैंगलोर पैलेस एंड ग्राउंड्स, बैंगलोर
40. ग्वालियर का किला, ग्वालियर
41. भीमबेटका रॉक शेल्टर, रायसेन
42. विक्टोरिया टर्मिनस (छत्रपति शिवाजी टर्मिनस), मुंबई
43. जगन्नाथ मंदिर, पुरी
44. लिंगराज मंदिर परिसर, खुर्द
45. उदयगिरि गुफाएं, भोपाल
46. ​​किला मुबारक, भटिंडा
47. जलियांवाला बाग, अमृतसर
48. छत्रपति शिवाजी महाराज वास्तु संग्रहालय, मुंबई
49. लेक पैलेस, उदयपुर
50. घाट और पुष्कर का पुराना शहर, पुष्करी
51. रणकपुर जैन मंदिर, रणकपुर
52. बड़ा इमामबाड़ा, लखनऊ
53. फतेहपुर सीकरी, आगरा
54. हुमायूं का मकबरा, दिल्ली
55. महान स्तूप, सांची
56. जंतर मंतर वेधशाला, जयपुर
57. महान जीवित चोल मंदिर, तंजावुरी
58. महाबलीपुरम, कांचीपुरम
59. आगरा का किला, उत्तर प्रदेश
60. गुफा मंदिर, बादामी
61. नालंदा विश्वविद्यालय, बिहार
62. जूनागढ़ किला, बीकानेर
63. कूचबिहार पैलेस, कूचबिहार
64. निजामत इमामबाड़ा, मुर्शिदाबाद
65. इको टूरिज्म पार्क कोलकाता
66. सेंट पॉल कैथेड्रल, कोलकाता
67. अकबर का मकबरा, आगरा
68. छोटा इमामबाड़ा, लखनऊ
69. सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान, दक्षिण 24 परगना
70. रामोजी फिल्म सिटी
71. रामनाथस्वामी मंदिर, रामेश्वरम
72. वैष्णो देवी जम्मू कश्मीर
73. मरीना बीच, चेन्नई
74. गागरोन किला, झालावाड़
75. सरिस्का टाइगर रिजर्व, अलवर
76. हावड़ा ब्रिज कोलकाता
77. कुम्भलगढ़ किला, राजसमंदी
78. रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान, सवाई माधोपुर
79. मेहरानगढ़ किला, जोधपुर
80. मुन्नार हिल्स, इडुक्की
81. लोकतक झील, मोइरांगो
82. कोडैकनाल झील, कोडैकनाली
83. नैनीताल झील, नैनीताल
84. जयगढ़ किला, जयपुर
85. जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, नैनीताल
86. धर्मशाला, कांगड़ा
87. लक्ष्मी विलास पैलेस, वडोदरा
88. गिर राष्ट्रीय उद्यान, जूनागढ़
89. समुद्री राष्ट्रीय उद्यान, कच्छ की खाड़ी
90. तुगलकाबाद किला, दिल्ली
91. पट्टाडकल, बागलकोट
92. बिष्णुपुर मंदिर, बांकुर
93. मांडू, धारो में स्मारक
94. शालीमार बाग, जम्मू और कश्मीर
95. कमल मंदिर, दिल्ली
96. काकतीय मंदिर, वारंगल
97. साइलेंट वैली नेशनल पार्क, पलक्कड़ो
98. श्रीरंगपटना, मांड्या
99. चित्तौड़गढ़ किला
100. हल्दीघाटी, राजसमंद

 

 पर्यटन पर सुविचार (Tourism Quotes in Hindi)

दुनिया का हर देश खूबसूरत है लेकिन इसके बावजूद लोग अपना वतन छोड़कर दुनिया घूमने निकलते हैं।

 

पर्यटन हर देश की शान है , पर्यटन से ही पता चलता है की वो देश कितना समृद्ध और वैभवशाली था।

 

लोग मुझे कहते हैं भारत यात्रा कब कर रहे हो विनोद? मैं उनको बोलता हूँ उचित समय का इंतजार कर रहा हूँ। और अभी जो कुछ भी कर रहा हूँ वो भी इसी एक कार्य के लिए कर रहा हूँ।

 

लोग अमीर बनकर घुटन भरी चार दीवारी भवन के अंदर अपने आपको बंद कर देते हैं। वही एक पर्यटक कम पैसा कमाकर भी दुनिया की उड़ान भरता है और जीवन का असली अनुभव लेता है।

 

घूमने से आपकी सभी इंद्रिया खुल जाती है आपको एक ताजापन व अच्छा महसूस होता है।

 

भारत के लोगो को दुनिया में पर्यटन स्थल देखने की जाने की जरूरत नही है अपना शहर व जिला पूरा देख लो उसमें ही आपको वो मिल जायेगा जो आप चाहते हो

 

डर, काम और पैसा (Work, Fear & Money) यह तीन चीजें आपको ट्रेवलिंग करने से रोकती है।

 

हजारो अच्छी पुस्तकें पढ़ने का अनुभव आपको सिर्फ एक यादगार यात्रा दे सकती है।

 

मनुष्य के जीवन का सबसे खुशहाल दिन तब होता है जब वो लंबी दूरी की यात्रा करता है।

 

पर्यटन और रोजगार के अवसर (Tourism Sector Job Possibilities In India)

अब सवाल यह आता है की क्या पर्यटन से रोजगार के अवसर बढ़ते हैं? जवाब है बिल्कुल हाँ! आप अगर नौकरी करना चाहते हैं तो होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं, पर्यटन विभाग में कार्य कर सकते हैं, टूटिस्ट गाइड बन सकते हैं। रेलवे, एयरफोर्स, जल सेना, में भर्ती होकर हर दिन कुछ नया देखने का आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा जहाँ-जहाँ पर पर्यटक स्थल बनते हैं वहाँ पर भिन्न-भिन्न कार्यो को करने के लिए कर्मचारियों की आवश्यकता होती है। जहाँ पर आप पूरी तरह से तैयार है तो वहाँ पर आपकी नियुक्ति भी लग सकती हैं। इसके अलावा आप पर्यटन से ऑनलाइन पैसा कमाना चाहते हो तो ट्रेवल यूट्यूबर भी बन सकते हैं

 

शहर में रहकर निशुल्क मुफ्त पर्यटन का आनंद कैसे ले?

शहर में रहने का यही सबसे बड़ा फायदा है की आपको हर दिन बड़े-बड़े अवसर मिलते रहते हैं। वर्ल्ड टूरिज्म डे पर हर शहर का पर्यटन विभाग स्थानीय यात्रियों के लिए कुछ टूटिस्ट प्लेस में फ्री में सैर करवाता है। ऐसे में आप एक्टिव रहे और अपने शहर के इन Tourist Places को उस दिन जरूर विजिट करे। अगर फ्री प्रवेश होंगा तो एंट्री गेट के बाहर सूचना बोर्ड लगा हुआ होंगा।

पर्यटन व आर्थिक विकास ( पर्यटन उद्योग क्या है? )

इस बात में कोई शंका नही है की पर्यटन से हर देश का आर्थिक विकास होता है। आपको मेरा उत्तर पढने की जरूरत नहीं है मैं जो अभी आपको एक सवाल पूछ रहा हूँ उसके बारे में पांच मिनट सोचे;
Question – भारत के किसी भी बड़े शहर का मुख्य आय का सोर्स क्या है? …. सोचिए, सोचिए,

अभी मेरी बारी – अगर जवाब नहीं मिला तो कोई बात नही। इसका Answer है, हर बड़े शहर में उसकी कमाई का मुख्य जरिया पर्यटन उद्योग है।

  • रेलवे (ट्रैन) से कमाई
  • भोजन करने के लिए होटल से कमाई
  • बस, कार, ऑटो, मेट्रो, हवाई जहाज के द्वारा यात्रा करने से कमाई
  • कोई व्यक्ति दो दिन किसी शहर में किसी भी उद्देश्य से जायेगा तो रहने के लिए होटल बुकिंग तो करेगा ही करेगा।
  • पर्यटक स्थानीय वस्तुओं को भी खरीदकर अपने घर पर लेकर जायेगा।

इस तरह अपने पर्यटन उद्योग के महत्व एंव विशेषता को समझा। 

 

Aapke Sawal Aur Mere Jawab

ऐतिहासिक पर्यटन क्या है?

ऐतिहासिक पर्यटन का इंग्लिश में अनुवाद होता है हिस्टोरिकल प्लेस। यानी किसी भी देश या दुनिया के वो स्थान जो बहुत प्राचीन होते हैं, उस स्थान पर कुछ विशेष घटना घटित हुई होती है वो घटना अच्छी व बुरी दोनो हो सकती है उस जगह या स्थान को ऐतिहासिक पर्यटन कहते है।

पर्यटन विभाग की योजनाएं

हर राज्य की अलग-अलग होती है। और ये स्किम हर साल 'नई पर्यटन नीति' (New Tourism Policy) के अंतर्गत बदलती रहती है।

पर्यटन सर्किट क्या है?

पर्यटन सर्किट, भारत सरकार के केंद्रीय पर्यटन विभाग की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है जिससे हर राज्य के महत्वपूर्ण क्षेत्रो को टूरिस्ट सर्किट के रूप में विकसित किया जायेगा।

पर्यटन अध्ययन क्या है?

जब कोई व्यक्ति या स्टूडेंट्स किसी घूमने की जगह के वारे में जानकारी हासिल करते हैं उसको पर्यटन अध्ययन कहाँ जाता है। पर्यटन अध्ययन के लिए बेस्ट जगह ऋषिकेश, हरिद्वार, मुंबई, दिल्ली व हैदराबाद है।

 

→ पर्यटन के प्रभाव
पर्यटन हर देश की अर्थव्यवस्था पर हमेशा सकारात्मक प्रभाव ही डालता है। इसका कोई नकारात्मक प्रभाव अभी तक नजर नही आया है।
जब विदेशी पर्यटक भारत आते हैं तो साथ में विदेशी मुद्रा भी लेकर आते हैं इसके अलावा भारत के लोग भी यात्रा के समय ज्यादा पैसा खर्च करते हैं।

→  पर्यटन और आतिथ्य प्रबंधन
यह एक तरफ का जॉब है या फिर कह लो एक कोर्स है जिसको सीखकर भारत के या विदेशी पर्यटकों की आपको खास देखभाल करनी होती है।

→ ईको पर्यटन केंद्र कहाँ बना हुआ है?
अभी तक भारत में ऐसा कोई ईको पर्यटन केंद्र नही बना है जिसको Ministry of tourism से स्वीकृति दी हो।

→  पर्यटन उत्पाद क्या है?

पर्यटन उत्पाद के अंदर वो सभी वस्तुएं आती है जिसका उपयोग यात्रा के समय किया जाता है for example;- नाईट पेंट, चश्मे, बैग इत्यादी।

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय के कार्य व जिम्मेदारी

केवल व केवल भारत के पर्यटन को प्रतिदिन कैसे बढ़ाए, उसको और कैसे विकसित करें इसके बारे में योजना बनाना और उसको क्रियान्वयन करना।

पर्यटन एवं पर्यावरण
पर्यटन एवं पर्यावरण दोनो एक दुसरे से जुड़े हुए हैं। जहाँ पर पर्यटन होता है वहाँ पर हरा-भरा व खुशमिजाज पर्यावरण आपको अवश्य देखने को मिलेगा।

पर्यटन दिवस पर कविता 5 लाइन में

मरू री धरती राजस्थान है
देवभूमि म्हारो उत्तराखंड है
कृष्ण-राम की नगरी उत्तरप्रदेश है
और ऋषि-मुनियों की धरती भारत देश है।

पर्यटन दिवस पर स्लोगन

भारत घूमो, जीवन बदलो

सुंदर नेत्रो का करो सदुपयोग दुनिया घूमकर

पर्यटन नगर किसे कहते हैं

जो शहर-,गांव या कोई भी XYZ जगह जहाँ पर सालाना लाखो लोग सैर-सपाटा करने आते हैं। उस जगह को पर्यटन नगर है।

पर्यटन विभाग क्या है?

हर राज्य का एक पर्यटन विभाग होता है जिसका कार्य अपने राज्य में हर साल ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित करना होता है।

भारत में पर्यटन विभाग की स्थापना कब हुई?

अक्टूबर 1966

भारत में पर्यटन का विकास [VIDEO]

 

किसी पर्यटन स्थल का वर्णन (Tourism experience) 

आज मैं राजस्थान के पाली शहर के लखोटिया पार्क का वर्णन करना चाहता हूँ। आपको सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है की ये सिर्फ एक गार्डन ही तो है फिर ये पर्यटन स्थल कैसे हो गया? विश्वास मानिए इस पैराग्राफ को पूरा पढ़ने के बाद आपको भी इस जगह की यात्रा करने का मन होंगा। यहाँ पर बहुत कुछ खास देखने लायक है जिसको मैं क्रमबद्ध उपउपबिन्दु के माध्यम से समझाउंगा।
१. लखोटिया झील – इस झील में आप देशी व विदेशी बत्तखों और बुगलो को तैरते हुए देख सकते हैं। यहाँ पर बनी कुर्सीयो पर बैठकर झील का आनंद लेना जीवन का एक खूबसूरत पल होता है।

२. लाखो पशु-पक्षियों का घर – यहाँ पर हर प्रकार के बड़े-बड़े वृक्ष और झील मौजूद होने के कारण सभी प्रजातियों के पक्षी आपको देखने को मिलेंगे।
अगर चमगादड़ को देखना चाहते हो ये एक अच्छी जगह हैं। संध्याकाल में इन सभी की उड़ान और आवाज आपको जीव जगत का सुंदर चित्र प्रस्तुत करते हैं।

३. अतिसुन्दर उद्यान – गार्डन की खूबसूरती और स्वच्छता आपको लगभग दो से तीन घण्टा मंदिर में रुकने के लिए मजबूर करेंगी।

४. ताजा फलों का रस व पानीपुरी का आनंद – लखोटिया पार्क में ही आप स्वदेशी फलो के ज्यूस का आनंद ले सकते है।

५. बच्चो के लिए झूले – बच्चो के मनोरंजन लिए बहुत अच्छा स्थान है।

६. प्राचीन लखोटिया महादेव मंदिर – यह मंदिर 200 वर्षो से भी पुराना है। यहां पर प्रतिवर्ष होने वाला वार्षिक मेले में राजस्थान के सभी प्रसिद्ध भजन गायक प्रस्तुति देते हैं। इसका लाइव टेलीकास्ट पूरी दुनिया में होता है।

७. शाररिक व्यायाम के लिए अपार संसाधन – अगर आप पाली शहर में मुफ्त की जिम (Gym) ढूढ़ रहे हैं तो लखोटिया गार्डन चले जाए।

 

इन्हें भी पढ़ें  [ Related Articles ]

भारत पर्यटन मेगा प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी

भारत पर्यटन  की ऐसी जगहें जिसको मरने से पहले जरूर देखें

भारत के 5 शहरों की मेट्रो रेल की सवारी (सफर) जरूर करें

भारत के 5 सबसे बड़े राष्ट्रीय राजमार्ग 

देश विदेश घूमने के फायदे

राजस्थान के बारे में 5 रोचक तथ्य

राजस्थान के 5 सबसे प्रसिद्ध शहर

पतजंलि औषधीय उद्यान हरिद्वार

हरिद्वार शहर के पर्यटन स्थल 

गाँव के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

उत्तराखंड के बारे में 5 रोचक तथ्य

भारत के बारे में 150 रोचक तथ्य

मुफ्त रेल यात्रा का अनुभ

मेरी पुष्कर शहर यात्रा 

भारत के सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश

1 thought on “Tourism in Hindi – पर्यटन क्या है?”

Leave a Comment