[54+] Blogging Blogger Ke Liye important Seo Tips And Tricks in Hindi

[54+] Blogging Blogger Ke Liye important Seo Tips And Tricks in Hindi

हर नया ब्लॉगर ब्लॉगिंग के क्षेत्र में पैर रखते ही सबसे पहले Seo सीखने के लिए आतुर होता है। मेरे ज्ञान के अनुसार होना भी जरूरी है क्योकी आपकी लेखन शैली भले कितनी भी अच्छी क्यों न हो, अगर एस.ई.ओ के बारे में आपको सम्पूर्ण जानकारी नही होंगी तो आप कभी भी गूगल के नम्बर एक से नम्बर 10 तक के पेज पर रैंक नही कर पाओंगे। इसलिए आज इस पोस्ट में मैंने जितनी भी ब्लॉग एस.ई.ओ टिप्स एंड ट्रिक्स सीखी वो आपके सामने शार्ट में परन्तु पूरी जानकारी के साथ प्रस्तुत कर रहा हूँ। अगर आप ब्लॉगिंग के बारे में कुछ ऐसी जानकारी सीखना चाहते है जो सिर्फ खुद गलतियां करके ही सीखी जाती है तो ये पोस्ट पूरी पढे क्योंकी इस आर्टिकल में बहुत सारी ऐसी blogging ki secret seo tricks आपके शेयर की है जो आपको कोई नही बतायेगा।


Blogger Post Ko Seo friendly Kaise Banaye?

1. अपनी पोस्ट को सीधा वर्डप्रेस में मत लिखो, उसको Google Memo Notes ऐप्प डाऊनलोड करके पहले उसमें पूरा आर्टिकल का ढांचा बना लो। आप इसमें लेबल भी ऐड कर सकते हैं।


2. पोस्ट टाइटल हिंदी/  हिंग्लिश में लिखे  ज्यादा सर्च में आयेगा।


3. ब्लॉग पोस्ट में आप स्क्रीनशॉट इमेज भी उपयोग कर सकते हो। वह पोस्ट का थम्बनेल ( फीचर्ड इमेज जरूर बनाये)


4. सभी आर्टिकल इमेज को अपलोड करने से पहले उसको पोस्ट के टाइटल नाम से रीनेम (Rename) करें।


5. Blog post ki Featured images post paragraph intro ke neeche daale aur baaki Saari others images post subtitles Ke Naam Ke neeche add kare.


6. ब्लॉगपोस्ट सर्च डिस्क्रिप्शन में unique 2 line ka intro likhe. इसमें वो एक से दो लाइन लिखे जिस तरह यूजर गूगल पर आपके आर्टिकल को पढ़ने के लिए कुछ सर्च करता है।


7. Low Competition High Searching keywords find karne ke liye गूगल एडवर्ड्स कीवर्ड प्लानर की मदद ले।


8. Google Trend ऐप्प की मदद से आप अपने category/lable से रिलेटेड पोस्ट लिखकर जबरदस्त ट्रैफिक ला सकते हो।


9. जब Blog Label मतलब कैटेगरी का उपबिंदु ( Sub category) तो सही विषय का चुनाव कर डाले वरना यूजर को अच्छा महसूस नही होंगा।


उदाहरण ;- Earn money online में टेक्नोलॉजी की sublable को ना जोड़े।

10. Google Blogger या  wordpress पर आप इमेज Seo करो तो, Alt tag में वह कीवर्ड डाले जो लोग सर्च करते हैं। अपने मन से भी डाल सकते हैं।


11. ऐसा ब्लॉगपोस्ट लिखे जिसे लोग भविष्य में भी पढ़ना पसंद करे तभी आपका ब्लॉगिंग में समय निवेश होंगा।


12. Blog post-Permalink हमेशा छोटा बनाये और उसमें Stop words जैसे;- in, of, it, up, with, a, an, the, on इत्यादि का इस्तेमाल ना करें।


13. ब्लॉग में जितनी इमेज की जरूरत है उतनी ही यूज करें। अत्याधिक फोटो एसइओ कोई काम का नही।



14. आर्टिकल में जब आप internal linking करते हैं तो उसे “Anchor Text” बोलते हैं। उसका रंग हमेशा लाल या ब्लू ही रखें। अगर आप कुछ भी color text पर सेलेक्ट नही करते हैं तो स्वतः नीले रंग की लिंक बन जायेगी जो दिखने में आकर्षक होती है।



15. सभी ब्लॉगर का शुरुआती XML Sitemap में हम 500 URL ही डाल सकते हैं। 500 पोस्ट लिखने के बाद आप ” Paid Pro Sitemap” खरीद देना जिससे आप 10,000 urls या अनलिमिटेड show करवा सकते हो। XML साइट मैप बनाने से आपकी पोस्ट जल्दी Crawled & Index होती है।



16. क्या आपको एक आर्टिकल लिखने में आलस आता है? की इतनी बड़ी पोस्ट कैसे लिखूंगा? तो नीचे दिए फॉर्मूले को फ़ॉलो करें;  हमेशा ये ना सोचे की मुझे 1200 words की पोस्ट लिखनी है। उसकी जगह अपने पूरे आर्टिकल को “5 Subheadings Mini article” में बाटे। मतलब पहले ही अपने Title के अंदर क्या -क्या लिखोंगे उसके सबटाइटल्स बना लो अब एक-एक subtitles लिखो जिससे आप आसनी से पूरी पोस्ट लिख डालोंगे।


17. हमेशा ब्लॉगपोस्ट टाइटल को पोस्ट में Main Heading बनाना है। जिसे ‘H1’ टैग भी कहते है।



18. ब्लॉग इमेज Properties में एक टाइटल का ऑप्टिश आयेगा उसमें अपने आर्टिकल के पूरे टाइटल को Copy & Paste करें।



19. हर लेख के अंत में उस पोस्ट से संबंधित मिलती – जुलती (Related post) जरूर Add करे। इससे आपके पेज व्यूज बढ़ेंगे औऱ रैंकिंग में मदद मिलेगी।



20. इस बात का सभी हिंदी ब्लॉगर ध्यान दे की आप आर्टिकल एसओ के अंदर आने वाले टर्म जैसे; Title, Subtitles, Permalink, images alt tag, image title & Search Description (Meta Description) में शुद्ध हिंदी या हिंग्लिश में लिख सकते हो। उसमें कोई प्रॉब्लम नही आयेगी।


21. एक ब्लॉगर/ वर्डप्रेस की पोस्ट चाहे कितने भी साल पुरानी हो उसमें कुछ नये बदलाव आए तो समय के साथ अपडेट करते रहे हैं इससे आपकी कमाई और सर्च इंजन रैंकिंग दोनो बढ़ेंगी।


22. आप चाहे तो Blog posts Ke andar Video Seo भी कर सकते हो। बस आपको वीडियो के कोड को subtitle के नीचे Embed करना है। इससे आपके आर्टिकल के title कीवर्ड को कोई गूगल पर वीडियो सर्च कर रहा है, तो वहाँ पर आपकी पोस्ट दिखेंगी।

23. Anchor Text Colour Problem solved in google Blogger – जिस भी लाइन या शब्द पर आपको Blue or Red कलर की इंटरनल या external link बनानी है, उस जगह को सिलेक्ट करे, अब आप अपने ब्लॉग एडिटर में कलर वाले आइकॉन पर जाये वह लाल या हल्का ब्लू कलर को चुने। ये लीजिए आपका काम हो गया।



24. image seo properties में सिर्फ भारत से ट्रैफिक चाहिए तो india कीवर्ड डालो और पूरी दुनिया से ट्रैफिक चाहिए तो शुद्ध अंगेजी के कीवर्ड डालो। फोटो कैप्शन बहुत ज्यादा जरूरत हो तब ही जोड़े वरना इतना जरूरी नहीं है। ज्यादातर ऐसी फोटो भी गूगल सर्च में आती हैं। ।


25. कोई भी लेख लिखो तो शुरुआत की पांच से दस लाइन उसका परिचय जरूर दे। अगर बिना परिचय ही अपना लेख लिखना शुरू कर देंगे। तो गूगल ये मानेगा की आपको ब्लॉगिंग का कोई ज्ञान नही है।


26. हर एक महीने के बाद सभी पोस्ट में New Related Post ऐड करे। क्योकी एक महीने में आपने विभिन्न कैटेगरी पर दो से चार नई पोस्ट तो लिखी ही होंगी। इससे बहुत जबरदस्त ट्रैफिक बढ़ता है।



27. बैकलिंक का मतबल क्या है? Backlink ka matlab कोई अन्य high authority या आपके Niche/ Category से सम्बंधित वेबसाइट से ट्रैफिक url address Link के जरिए आपके ब्लॉग पर आता है, तो उसे बैकलिंक कहते हैं।



30. हर ब्लॉगपोस्ट में Responsive टेबल ऑफ कटेंट ( TOC) और Table जरूर बनाए। गूगल ब्लॉगर प्लेटफार्म पर ये काम थोड़ा कठीन है, इसमें आपको थोड़ी कोडिंग सीखनी पड़ेंगी। मतलब कोड को कॉपी एंड पेस्ट करना पड़ेंगा हर बार और सुंदर table of Contents और टेबल ऐड हो जायेगी।



32. अपनी वेबसाइट/ ब्लॉग को Google Search Console Webmaster, Yandex Search Engine और Bing वेबमास्टर में जरूर जोड़े। ये तीनो सर्च इंजन दुनिया में सबसे बड़े है। यहाँ से आपको भर भरकर यातायात ( traffic) मिलेंगा।



33. हर आर्टिकल लिखने के बाद खुद से Manually सर्च कंसोल में ‘Request Indexing’ के बटन पर क्लिक करके सबमिट करके।



34. Jitni bhi blogger daily useful har deen upyog mein aane waale tools ko Homepage icon par “add to home” करके सेव कर दे। और इन्ही टूल्स में अपने ब्लॉग की लिंक डालकर हर महीने की तीस तारीख को जांच करे। इससे आपके ब्लॉग की दशा और दुर्दशा का पता चलेगा।



35. हर दिन एक Unique, Evergreen, Futuristic Content व problem solving पोस्ट लिखना ब्लोगिंग की सफलता का एकमात्र रहस्य है। ये बात 2 साल के ब्लॉगिंग अनुभव से कह रहा हूँ, आप कितना भी seo, bloging Knowledge ले ले जबतक आप पोस्ट लिखकर उसको implement नही kronge तबतक आपको कोई रिजल्ट नही मिलेंगा।




36. अगर आपका ब्लॉग गूगल के ब्लॉगर के प्लेटफार्म पर है तो आपकी हर यूआरएल के पीछे
?m=0 जरूर आता होंगा तो जब भी अपना आर्टिकल ” Google Page Insights Tool ” में डाले तब ये ‘?M=0’ जरूर हटाये। और सेम यही फॉर्मूला वेबसाइट में लिंक डालो तब भी करे इससे आपका आर्टिकल फ़ास्ट क्रॉल व इंडेक्स होंगा sirf .html तक ही लिंक पेस्ट करे।



37. महीने में एकबार गूगल सर्च कंसोल के सारे Crawl error व others error जरूर फिक्स करे। इससे आपकी site गूगल में अच्छा प्रदर्शन करेंगी।



38. Broken Link Kya hain? आपके ब्लॉग/वेबसाइट में ऐसी लिंक्स जो 404 पेज नॉट फाउंड बता रही है उन्हें ब्रोकन लिंक्स कहते हैं। गूगल ब्लॉगर के लिए www.BrokenLinkChecker.com or free ब्रोकन लिंक चेक ऑनलाइन टूल से फिक्स कर सकते हैं। वर्डप्रेस में redirect plugin se ऑटोमेटिक fix हो जाती है।



39. लेख, आर्टिकल, पोस्ट और ब्लॉगपोस्ट चारो नाम अलग अलग है पर सबका मतलब एक ही है! जब भी नयी पोस्ट गूगल सर्च कंसोल में ऐड करो तब एक बार वह पोस्ट मोबाइल फ्रेंडली है या नही ” Google Mobile Friendly Test Tool “ में जरूर चेक करे। अगर नही हुई तो fir इंडेक्स होने में बहुत समय लगेगा।



40. लेख लिखने के बाद 10 से 20 मिनट उसकी गलतियों को सुधारने में लगाये क्योकी एक व्याकरण मिस्टेक पूरे आर्टिकल को खराब कर सकता हैं।



41. अपने लेख में फोकस कीवर्ड वह महत्वपूर्ण शब्दो को bold, italik, underline करें इससे ये शब्द गूगल का crawler सर्च में लाता है। वह आपकी Google Me Ranking Boost होती है।



42. Yandex Webmaster में https://www और ?m=0 ये दोनो हटाओगे उसके बाद ही आपकी URL yandex में इंडेक्स होंगी। मतलब सीधा आपको “xyz-kaise-kare.html” यूआरएल को सबमिट करना है



43. हर महीने की अंतिम तारीख को Google Analytics और Google Webmaster में Country, Visitors, Bounce rate, Exit Rate सबकुछ देखे इससे आपको अगला कंटेंट बनाने में मदद मिलेगी।



44. अगर हिंदी आर्टिकल में कुछ अंग्रेजी शब्द जोड़ने भी पड़ जाये तो पहले शुद्ध हिंदी में लिखो फिर कोष्ठक बनाकर उसमें अंग्रेजी शब्द लिख दो उदाहरण के लिए। वेबसाइट डिवेलपमेंट ( website Development)
नोट:- बहुत बार कुछ ऐसे शब्द होते हैं जिन्हें हिंदी में भी अंग्रेजी की भाषा में ही लिखना पड़ता है, क्योंकी शुद्ध हिंदी में किसी को समझ में ही नही आयेगा। उदाहरण के लिए;- वेबसाइट।



45. किसी कारणवश आप कॉपीराइट छवि इस्तेमाल करते हो तो, उस ब्लॉगर को image Credit जरूर दे।



46. आप Website / Blogger Blog की थीम में अनचाहे Widget और फिचर को हटा सकते हैं।



47. आर्टिकल सबमिट करने के बाद Pingler वह Pingometic टूल में भी इंडेक्स जरूर करे। इससे आपकी पोस्ट फ़ास्ट इंडेक्स होंगी गूगल में।



48. इस बात का ध्यान रखें की discovered currently not index, index but not submit in sitemap यह कोई issue प्रॉब्लम नही है। चौबीस घंटे के भीतर अपने आप ये सही हो जाते हैं।



49. गूगल वेबमास्टर की गाइडलाइंस फ़ॉलो करने से आपके ब्लॉग का ट्रैफिक इम्प्रूव होंगा।

 

404 Error in Google Blogger permanent fix Kaise Kare?

वर्डप्रेस में ऐसा नही होता परन्तु गूगल के फ्री ब्लॉगर प्लेटफार्म पर आप जितनी बार पोस्ट का टाइटल बदलेंगे उतनी बार आपकी पर्मालिंक (permalink) बदल जायेगी। जिसके कारण आपके blogger पर 404 Page Not Found का एरर आता है। इसलिए आपसे निवेदन है की एकबार ही अच्छे से रिसर्च करके टाइटल डाले। दूसरा तरीका ब्लॉगर में 404 fix करने का ;- आप ब्लॉगर की सेटिंग्स में जाकर > Redirect पर क्लिक करके > जो आपने URL चेंज किया या अपनेआप हो गया उसको New Url पर रिडाईरेक्ट कर दे।

HTML Sitemap Kya hota hain?

Html sitemap बनाने से यूजर आपके वेबसाइट में मौजूद सभी पोस्ट को एक क्लिक के अंदर एक्सेस कर सकता है। इस पेज को ” All Post or All post sitemap” नाम से पेज बनाकर वेबसाइट के होमपेज के सबसे नीचे लगाये।

 

Canonical tag क्या होता है?

केनोनिकल टैग को समझने के लिए मुझे एक महीने का समय लग गया। लेकिन मैं चाहता हूँ, आपको इतना समय ना लगे। एक शब्द में बोलू तो आपको इसको लगाने की जरूरत नही है गूगल का algorithm system वह आपकी थीम अपने आप इसे लगा देती हैं Canonical tag से ये पता चलता है की ये आपकी ओरिजनल लिंक है। अभी कोई अन्य आपका आर्टिकल कॉपी करता है तो गूगल उसे केनोनिकल की मदद से आसानी से पकड़ देता है और उसकी पोस्ट रैंक नही करती।

 

Blogger ke liye Apps aur free tools ke naam 

  1. Google Docs Document
  2. Google Question Hub
  3. Pic Resize Online Free image compressor tool
  4. Google keywords planner
  5. Google trend
  6. Domain age checker
  7. Plagiarism checker
  8. GT Metrix or Page insights
  9. Google Rich snippet
  10. Google Structured Data
  11. Mobile-friendly test
  12. Keyword density checker

 

External Linking का मतलब होता है?

एक्सटर्नल लिंकिंग की आप अपनी पोस्ट पर किसी Third party Website का लिंक पेस्ट कर रहे हो ये blog Seo के लिए काफी जरूरी हैं। पर ध्यान रखें iligal, Ban or spamy वेबसाइट का यूआरएल अपनी साइट के किसी भी टेक्स्ट में पेस्ट ना करें। कुछ Google Adsense द्वारा प्रतिबंधित वेबसाइट का नाम मैं आपके साथ साझा कर रहा हूँ, जिससे आपको पता चलेगा की कौनसी साइट की लिंक भूल से अपनी वेबसाइट के किसी भी पेज या पोस्ट में insert नही करनी है। उदाहरण;- मूवीज, कसीनो, पोर्न, Mp3 Music downloder इत्यादी।


Blog image ko compress kaise kare?

ये गलती मैंने शुरुआत में जब गूगल के फ्री ब्लॉगर से शुरुआत की तब मैंने बहुत की, मैं चाहता हूँ, आप ये गलती ना करे। आप एक से दस तक जितनी भी इमेज अपनी Website/Blog पर अपलोड करते है उसे ” image Compress या image Resize ” Tool से कंप्रेस जरूर करें। ऐसा करने से आपकी इमेज की साइज 20 से 50 KB हो जाती है जिससे आपकी आर्टिकल कीस्पीड और ब्लॉग की स्पीड दोनो में सुधार होता हैं वह आपका ब्लॉग भी गूगल में रैंक करेंगा। एक और बड़ा फयदा इमेज को रिसाइज करने का यह है की पेज लोड स्पीड घटेंगी वह आपके विजिटर/यूजर का मोबाइल डेटा बचेंगा।

 

Article mein TOC ( table of content) aur table me kya difference hai?


ध्यान रखे Responsive Table हम किसी वस्तु का उदाहरण देते है तब बनाते हैं उदाहरण के लिए आप पचास तक गिनती लिख रहे हो हिंदी व अंग्रेजी दोनो भाषा में तो आपको टेबल ऐड करनी पड़ेंगी ( अगर आप मेरी पोस्ट में example देखना चाहते हो तो, ब्लॉग सर्च बॉक्स में bajaj finserv ya finance टाइप करके पोस्ट को देख सकते है।
वही अगर Table Of Contents पोस्ट के ऊपर होता है जिस पर क्लिक करके यूजर अपना मनपसंद पैराग्राफ पहले पढ़ सकता है।

 

Webp image format kya hai?

यह टूल गूगल ने विकसित की है यह सभी इमेज में सबसे ज्यादा फ़ास्ट लोड होने वाली सबसे कम केबी में इमेज को resize aur compress करने वाली एक फ्री ऑनलाइन image compressor टूल है। अगर आप ब्लॉगर पर है तो मैं आपको Strongly Recommend करूंगा की आप Webp image format का ही उपयोग करें। लेकिन इस बात का भी ध्यान दे की ये नवीनतम इमेज फॉर्मेट सभी वेब ब्राऊजर में सपोर्ट नही करती है। सिर्फ 80% Web browsers में ही ये इमेज फॉर्मेट सर्पोर्ट करता है।

 

Google Blogger Mein Backup kaise le aur fayde?

सावधान: एक चेतावनी अगर आपका ब्लॉग google ke free blogger platform पर है, तो एक बात हमेशा ध्यान रखे;- सुबह फोन को हाथ में लेते ही पहले ” All Post Content Backup ” और थीम बैकअप ” जरूर ले। बैकअप लेने के बाद दोनों फ़ाइल को rename जरूर करे ताकी कभी भी आपको उसकी जरूरत पड़े तो date & file name डालकर आप अपनी मेमोरी के अंदर आराम से ढूढ़ सकते हो। मैं तो ये भी सलाह दूंगा की उन theme & all content वाली बैकअप फ़ाइल को सीधा गूगल ड्राइव में सेव कर दे। इससे आपकी चिंता पूरी दूर हो जाएगी। आपके मन में यह सवाल आ रहा होंगा की, बैकप नही लेते तो अपने ब्लॉग पर क्या प्रभाव पड़ता है, तो सुनिए जब आप बैकप नही लेते तो आपकी सारी एक से दो साल की मेहनत एक सेकेंड में पानी में मिल सकती है। वही आपके पास site ka full backup है तो आप आसानी से अपनी वेबसाइट को फिर से जीवित कर सकते हैं, सारे खोए हुये डेटा को फिर से ला सकते हैं, upload > पर क्लिक करके। अगर आप वर्डप्रेस यूजर है तो Updraft plugin ka free version install kar dijiye ये प्लगइन ऑटोमेटिक एकबार सेटिंग करने बाद आपकी वेबसाइट का full backup ले लेगी। अगर आप चाहते हैं, की मैं एक Google Blogger Vs WordPress पर एक पोस्ट लिखू, जिसमें मेरा 2 साल का अनुभव हो तो नीचे कमेंट जरूर करे। आपको बहुत मदद मिलेगी सही प्लेटफॉर्म चुनने में।

इन्हें भी पढ़े;-

Freelancing freelancer क्या है ? फ्रीलांसर से मैंने कमाए 10K💰

Hindi content writer job कैसे प्राप्त करें? 

Domain parking क्या है? | डोमेन से पैसे कैसे कमाये?

ऐडसेंस की सभी समस्याओं का समाधान एक ही पोस्ट में [ All error fix solution ]

ऐडसेंस से संबंधित 100 से ज्यादा सवालों के जवाब [ myths & Questions answer ]

ऐडसेंस  को invalid click activity – Disable होने से कैसे बचाए?

[Solved] Your site adheres to ऐडसेंस  programme policies in Hindi | Solution हिंदी में

 Adsense approval 2021 Tips & Trick in Hindi

[Solved] This site can’t provide a secure connection | Http SSL issue in WordPress in Hindi

 कीबोर्ड में हिंदी टाइपिंग कैसे करें? 

1 thought on “[54+] Blogging Blogger Ke Liye important Seo Tips And Tricks in Hindi”

Leave a Comment