परिवार की समस्या और समाधान – Family problems quotes, status in Hindi.

परिवार की समस्या और समाधान

क्या आप परिवार के किसी भी सदस्य से नाराज हैं या उनकी व्यवहार, भाषा व दिनचर्या से बहुत ज्यादा परेशान हो गये हो। आप बिल्कुल चिंता ना करे फैमिली प्रोब्लम हो या घर की कोई भी समस्या आज मैं अपने व्यक्तिगत अनुभव के साथ आपको कुछ उपाय और प्रैक्टिकल टिप्स दूंगा, जिससे आप अपनेपरिवार की समस्या ‘ को बहुत जल्दी दूर कर सकते हैं और अपनी खुशियों वाली जिंदगी जी सकते हैं।

Pariwar ki samasya, family problem kaise solve dur kare,

 

परिवार की समस्याओं का मूल कारण क्या है? पहले इसको समझे।

देखिए, अगर आप परिवार के किसी भी सदस्य से परेशान हैं तो इसका मतलब साफ है, आप जैसा उनसे उम्मीद / आशा करते हो वो आपके अनुसार नही चलते या फिर दूसरी परिभाषा में बोलू तो आपके फैमिली मेंबर्स जैसा आप सोचते हो, उस तरह नही सोचते। इन लोगो की दिनचर्या और खान पान सही नहीं है। तीसरी परिभाषा में मुख्य समस्या यह है की आपके घर में कोई एक सदस्य बकबक पूरे दिन बिना रुके बोलते ही रहता है या फ़िर उसके बोलने की भाषा शैली बहुत ही गुस्सा दिलाने वाली होती है। इस पोस्ट को अंत तक पढे मैं गारंटी के साथ कहता हूँ परिवार से संबंधित मैंने आपके मन के सारे प्रश्नों का जवाब दे डाला है।

 

घर परिवार की सभी समस्याओं को दूर करने के उपाय

यहाँ पर बताये गए सभी नियमो का मैं खुद पालन करता हूँ। सारे बताए गए टिप्स प्रामाणिक और कारगर है।

#1. गायत्री मंत्र जप के द्वारा

अगर आप प्रतिदिन दिन में किसी भी समय एक माला गायत्री मंत्र जप करते हैं तो आपके घर की सभी समस्याओं का समाधान हो जायेगा। क्योंकी गायत्री मंत्र दुनिया का सबसे शक्तिशाली मंत्र है। पहले इन सब चीजों पर मुझे भी विश्वास नहीं होता था परन्तु जब मैं शांतिकुज आश्रम हरिद्वार  गया तो मुझे इस मंत्र की ताकत का पता चला और मेरे घर परिवार के दुख-क्लेश दूर होने शुरू गए हैं।

 

#2. अपने विचारों को नियंत्रित करके –

एक बात मेरी हमेशा ध्यान रखें; अगर आप ये ठान ले चौबीस घण्टे, अपने काम/ टास्क/ लक्ष्य से संबंधित ही कार्य करे और उसके कार्य के अनुसार ही सोचना शुरू करे तो आपके घर का कोई भी सदस्य आपको परेशान नही कर सकता। क्योकी जब आप अपने विचारों को कंट्रोल कर देते थे तो आपको सिर्फ अपना काम ही दिखता है और कुछ नही। डिस्ट्रैक्शन से बचने का यह सबसे मुफ्त उपाय भी है।

 

#3. अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करके –

आप चाहे बच्चे हो, युवा हो, पुरूष-महिला जो भी हो! आपका जीवन उद्देश्य क्या है? आपका जन्म किस चीज के लिए हुआ है? मैं कौन हूँ? क्या इस तरह के सवाल आपने अपने आप से पूछे हे कभी? नही पूछे। इसलिए अब समय आ गया है अपने जीवन के उद्देश्य को निर्धारित करने का क्योकी एकबार जब आप अपने जीवन के एक निश्चत लक्ष्य को पहचान लेंगे ना तो आपकी जिंदगी बहुत अच्छी हो जायेगी। इसके बाद भले आपको कुछ साल उन लोगो के साथ समय गुजारना पड़े जिनको आप पसंद नहीं करते हो कोई बात नही। लेकिन एक दिन आपको मंजिल मिल जायेगी और फिर आप अपने मुताबिक जिंदगी जी सकते हो।

 

#4. सैर-सपाटा ट्रैवलिंग करके –

हर महीने में एक लंबी यात्रा की प्लानिंग बनाना अपने दोस्तों के साथ या अकेले यह तरीका परिवार व घर के दुःख को दूर करने का सबसे प्रभावशाली तरीका है। क्योकी जब आप किसी नयी जगह घूमने जाते हो तो आप सबकुछ भूल जाते हो आपको कुछ भी याद नही रहता। आप उस यात्रा में सिर्फ होटल, खाना-पीना, पर्यटक स्थल, लोग, सड़क, हवा, पानी, उस जगह पर हो रही हर गतिविधि पर आपका ध्यान होता है। उस एक दिन की यात्रा में आप अपने पूरे महीने के उनतीस 29 दिनों की थकावट और तनाव को दूर कर सकते है।

 देश विदेश घूमने के फायदे

 

#5. घर परिवार को कुछ समय या एक लम्बे समय तक दूरी बनाएं –
कुछ समय दूरी बनाने के लिए आपको भारत के किसी आध्यात्मिक संगठन के वहाँ समयदान करना पड़ेंगा या फिर किसी गैर सरकारी संगठन ( एनजीओ ) में सेवा देनी पड़ेंगी। समयदान के लिए सर्वश्रेष्ठ जगह शन्तिकुज है शान्तिकुन्ज के ऊपर मैंने विस्तार से पोस्ट लिखी है जिसकी लिंक आपको इसी पोस्ट में मिल जायेगी। शांतिकुज की दिनचर्या  को आप पढ़ सकते हैं। अब करते है लंबे समय तक घर से दूरी कैसे बनाएं? इसके लिए आपको कोई ऐसा काम खोजना होंगा जो आपका पैशा हो जब घर से बाहर रहकर पैसा कमायेंगे तो आपकी समाज, गांव, शहर, परिवार में बदनामी भी नही होंगी और आपकी भी टेंशन खत्म। तो ये थे वो पांच असरकारक निदान परिवार की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए ये टिप्स आप जरूर अमल में लाये।

 

 फैमिली प्रॉब्लम पर 10 कोट्स 
family problems quotes in hindi, Ghar pariwar se pareshan hu,

 

1. आप लाख कोशिश कर लो, भले उनके अच्छे के लिए कुछ समझा रहे हो, आप परिवार, रिश्तेदार, दोस्त, पड़ोसी, किसी को नही बदल सकते क्योंकी इन सभी लोगों का माइंडसेट, आदतें व दिनचर्या कई सालों पुरानी है।
• Thoughts by संदीप माहेश्वरी •

संदीप माहेश्वरी जीवन परिचय 

संदीप माहेश्वरी के 250+ सुविचार 

 

2. सबसे पहले परिवार को या घर के किसी भी सदस्यों को बदलने की कोशिश मत करना क्योकी जबतक सबसे पहले तुम खुद नही बदलोंगे परिवार को बदलने के बारे में सोचना मूर्खता होंगी।

 

3. भारत के अस्सी प्रतिशत 80% परिवार की समस्या ( फैमेली प्रोब्लम ) का कारण पैसों की कमी होना या पैसा नही होना है। इसलिए पैसा कमाना जरूरी हैं।

 

4. परिवार की समस्याओं से ध्यान हटाने के लिए एक रियल प्रेक्टिकल रास्ता यह है की आप एक ऐसा जीवन लक्ष्य बनाओ जिसमें आपको चौबीस घण्टे व पूरे साल घर से बाहर रहकर काम करना पड़े। ऐसे एक नही हजार काम ( profession ) इस दुनिया में भारत में मौजूद है।

 

5. आपने इस चीज को नोटिस किया होंगा जब आप घर से बाहर रहते हो या कुछ दिन के लिए घर से बाहर काम के सिलसिले में जाते हो तो आप घर की सारी झंझट से मुक्त हो जाते हो। सोचिए क्या ऐसा काम आप हर दिन कर सकते हैं?

 

6. मैं ताउम्र लगा रहा परिस्थिति बदलने को, पर जिस दिन मेरी मनस्थिति बदली परिस्थितिया उसी समय बदल गयी।

 

7. आपके हाथ में अपने परिवार के रवैये को बदलने की ताकत तो नही है पर आपके पास अपना दिमाग तो है ना, आप उन लोगों के बारे में सोचो ही मत और अपने माइंड को अपने विचारों के अनुसार ढाल दो।

 

8. जो समाज, रिशेतदार, दोस्त, पड़ोसी, गाँव वाले, शहर वाले, इन लोगो ने ना मुझे भूतकाल में एक रूपया दिया, ना ही वर्तमान में दे रहे हैं और न ही भविष्यकाल में देंगे तो मैं इन लोगो की क्यों सुनू? मैं अपनी जिंदगी अपने अनुसार जीऊंगा। मेरी जैसी इच्छा है मैं उस तरह अपने सपनो को पूरा करने के लिए जीऊंगा।

 

9. मेरे गुरुदेव पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य कहते हैं – की गृहस्थ जीवन एक तपोवन है। यहाँ पर आपको हर कदम पर चुनोतियाँ का सामना करना पड़ता है और उनको जीतना पड़ता है।

पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य जीवन परिचय

पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य के अनमोल वचन

10. दुनिया बदलने की कोशिश मत करो पहले अपने परिवार को बदल दो क्योकी हर आदमी अपने घर को और परिवार को बदल देंगा तो दुनिया तो अपने आप बदल जायेगी।

 

 बेवजह ज्यादा बोलने वाले घर के सदस्य [My Family Story]

यहाँ पर मैं अपना personal experience आपके साथ साझा कर रहा हूँ जो मेरी माताजी का है। मैं इनकी बुराई नहीं कर रहा, जो हकीकत है वो आपके साथ साझा कर रहा हूँ। अगर आपके घर में भी ऐसा कोई सदस्य हे, तो यह पारिवारिक कहानी आपके तनाव / स्ट्रेस को थोड़ा कम कर सकती हैं। हमारा परिवार हरा-भरा और मध्यम वर्गीय है। किसी भी चीज की कोई कमी नहीं है। जीवनभर आम आदमी की जिंदगी गुजारनी हो तो मैं बिना काम किये अपना पूरा मानव जीवन बिता सकता हूँ पर मुझे ऐसी जिंदगी पसंद नही इसलिए कुछ हटकर “Trending Business” करने का सोचा। अब आपको लगता होंगा की मेरी और मेरे अन्य परिवार सदस्यों की मानसिक स्थिति अच्छी होंगी? पर ऐसा बिल्कुल नही है क्योकी हमारे घर के सभी सदस्य पूरे दिन तनाव में रहते हैं इसका बस एक ही कारण है मेरी माताजी (mother) का बिना मतलब बेवजह बोलना, छोटी-छोटी बातों पर बहस करना उनको बड़ा करना, पूरे दिन छोटी-छोटी समस्याओं पर चिंता करना, भाषा में गाली-गलोच व अभद्र भाषा का प्रयोग करना। अगर आपके घर में भी ऐसा कोई सदस्य हो तो नींचे ब्लॉगपोस्ट में कमेंट करके अपना दुःख जरूर बताये। अब चलिए थोड़ा आगे बढ़ते हैं; इन सब रोज के लड़ाई-झगड़े से मेरे विचार पर भी फर्क पड़ता है, मेरा काम भी प्रभावित होता है और जो अच्छा दिन होता हैं वह भी बुरे दिन में परिवर्तित हो जाता है। कभी कभी तो मेरा ‘हमेशा के लिए घर छोड़ने’ का मन करता है लेकिन मैं एक जिम्मेदार व्यक्ति हूँ इसलिए पहले परिवार की सारी जिम्मेदारियां निभाऊंगा अपने माताजी को स्वावलंबी बनाऊंगा और शान्तिकुंज आश्रम, पतंजलि योगपीठ आश्रम और इस्कॉन आश्रम में कुछ दिन रूकवाउँगा। क्या पता कुछ चमत्कार हो जाये क्योंकी उपर दिए गए तीनो आश्रम में वो पूरा माहौल मिलता है जिससे व्यक्ति को एक अलग दुनिया के दर्शन होते हैं। अगर आप भी अपने मन को कुछ समय के लिए हल्का करना चाहते हैं तो इन आश्रम में कुछ समय जरूर गुजारे।

 

इस पोस्ट में आपने घर, परिवार की समस्या और समाधान पर सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की। मुझे आशा है की यह पोस्ट आपके लिए बहुत ज़्यादा मददगार साबित होंगी। पोस्ट को शेयर करे और आप किस पारिवारिक समस्याओं से इस समय जूझ रहे हैं नींचे ब्लॉग कमेंट बॉक्स में जरूर बताये।

 

एक खुशहाल और सुखी परिवार बनाने के लिए नीचे दी गई पोस्ट पढे;- [Related Post]

टीवी देखने के होश उड़ा देने वाले नुकसान | टेलीविजन के लाभ और हानि

ब्रह्म मुहूर्त के फायदे जानकर हैरान हो जाओंगे

अकेलेपन को कैसे दूर करें

पैशन का मतलब क्या है? जुनून को फॉलो करने के फायदे

 

Tags;-
पारिवारिक समस्या, फैमिली प्रॉब्लम सलूशन,

Leave a Comment