Kerala me kitne jile [District] Hai? केरल के सभी जिलों के नाम

Kerala me kitne jile [District] Hai? केरल के सभी जिलों के नाम

वर्तमान सन् 2022 में केरल राज्य के कुल जिलों की संख्या चौदह 14 हैं। आज आप केरल के सभी जिले के नाम वह उनकी क्या विशेषता है, उसके बारे में संक्षिप्त परिचय पढ़ेंगे।

 

1. तिरुवनन्तपुरम [ Thiruvananthapuram ]

तिरुवनन्तपुरम जिला केरल राज्य की राजधानी है वह इस जिले का दूसरा नाम त्रिवेंद्रम भी है। जिले की मुख्य भाषा मलयालम है। यहाँ की संस्कृति, उत्सव और लोग हर यात्री का दिल जीत लेते हैं। जिले में रोड तथा हवाई अड्डे की कनेक्टिविटी अच्छी है। पर्यटन और बिजनेस के मामले में यह जिला पूरे देश में प्रसिद्ध हैं।  देखने लायक पर्यटक स्थलों का नाम;-

● श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर – प्राचीन वैष्णव मंदिर।

● तिरुवनंतपुरम वेधशाला – भारत की सबसे पुरानी वैधशाला में से एक।

● चंद्रशेखर नैयर फुटबॉल स्टेडियम।

● चिड़ियाघर ( विज़िंजम पत्तन ) ।

● वाइजिनजाम – मछ्ली पकड़ने वाले लोगो का गांव।

● कनककुन्नु महल, चाचा नेहरु बाल संग्रहालय, कोवलम बीच व आट्टुकाल देवी का मंदिर।

2. कोल्लम [ kollam ]

कोल्लम जिला का पुराना नाम किलोंन था। यह जिला अपने पुराने व्यावसायिक संबधो, बंदरगाह और पर्यटन के लिए जाना जाता है। यातायात के साधनों में सड़क, रेल सेवा और जलमार्ग की सुविधाओं से परिपूर्ण है साथ ही यहाँ का ‘काजू उधोग’ भी बहुत प्रचलन में है और इन काजू इंडस्ट्री में अधिकतर काम करने वाले लोगो में महिलाएं सबसे ज्यादा है। लगभग कोलम जिले में दस काजू की फैक्टरियां लगी हुई है। काजू के अलावा कोयला खनन, हैंडलूम उदोग, चिकनी मिट्टी वह लकड़ी के सामानों के उद्योग जिले की अर्थव्यवस्था को चलाते हैं।

कोल्लम जिले में घूमने की जगह;-

● कोल्लम सागर तट के नजदीक एक वज्रासन आसन में बैठी जलपरी की प्रतिमा।

● थंगसेरी – प्रसिद्ध ऐतिहासिक गांव।

● रामेश्वर मंदिर – 12 वी शताब्दी के अभिलेख

● अंचेंनकोइल – जंगलों के बीच मंदिर।

● अलुमकडावू – देशी – विदेशी पर्यटकों के लिए पानी का रिसोर्ट।

● जटायुपर – चदायमंगलम गाँव में रामायण काल के पक्षी जटायु जिसने माता सीता की मदद की थी।

● Suspension ब्रिज, मुनरोई आईसलेंड।

● पिकनिक विलेज, पालरूवी जलप्रपात, ओचिरा व मायानद जैसे अन्य पर्यटक स्थल यहाँ मौजूद हैं।

 

3.आलाप्पुड़ा [ Alappuzha ]

आलाप्पुड़ा जिला का प्राचीन नाम आलेप्पी जिला था। इस जिले ने भारत की आजादी में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। देखने लायक जगह में ब्रिज, कृष्णा मंदिर हवाई मुल्लकल देवी मंदिर, राजा केशवदास स्टेचू जैसे अनेको धार्मिक और टूटिस्ट प्लेस हैं। इसके अलावा आलाप्पुड़ा जिले में पहुचने के लिए नेशनल हाइवे, स्टेट हाइवे और रेलवे और हवाई जहाज की सुविधा उपलब्ध हैं।साथ ही यहाँ पर केरल के स्थानीय त्योहार भी बड़े धूमधाम से मनाया जाता है।

 

4.पतनमतिट्टा [ Pathanamthitta ]

पतनमतिट्टा जिला अपने सबरीमाला (श्री अय्यपा) मंदिर के कारण बहुत विख्यात हैं और यह मंदिर महिलाओं के प्रवेश निषेध के कारण काफी विवादों में भी रहता है अगर आपको ‘सबरीमाला’ के बारे में प्रैक्टिकल सही जानकारी है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे। इसके अलावा यह जिला नदी, जंगल, वन- संपदा, अपने इतिहास के कारण एक विशेष महत्व रखता है। पतनमतिट्टा जिला में 30 से भी ज्यादा धार्मिक पर्यटक स्थल है जिसमें प्रमुखत : पांच से ज्यादा बड़ी चर्च (गिरजाघर), हिन्दू मंदिर शामिल है।

 

5. कोट्टयम [ Kottayam ]

कोट्टयम जिला अपनी प्राकृतिक सुंदरता, झीलें व पर्यटन के कारण केरला में प्रसिद्ध हैं। इसी जिले में मलयालम भाषा की पहली प्रिंटिंग प्रेस लगाई गयी थी। यहाँ पर चावल, नारियल, वह सब्जियों की खेती जाती है इसके अलावा कोट्टयम जिला भारत का सबसे बड़ा रबड़ उत्पादक जिला हैं। कोट्टयम जिले के धार्मिक पर्यटन स्थल ;- यहाँ पर ईसाई आबादी ज्यादा होने के कारण गिरजाघर चर्च ज्यादा है साथ ही दूसरी अधिक आबादी वाला हिन्दू धर्म है वह तीसरे नंबर पर इस्लाम है।

● थाझथगेड़ी जुमा मोस्कयू – भारत की सबसे पुरानी मस्जिद।

● संत जॉर्ज ऑर्थडॉक्स चर्च।

● एरुमली श्री धर्मसस्था मंदिर, वैकोम महादेव मंदिर वह आदित्यपुरम सूर्य मंदिर।

 

6. इडुक्की [ Idukki ]

इडुक्की जिला केरल के किसी भी समुद्री तट की सीमा से नही लगने वाले जिलों में से एक है। बाकी अधिकतर जिले समुद्री किनारों से जुड़े हुए हैं। जिले का अधिकतर हिस्सा पहाड़ो वह जंगलों से गिरा हुआ है। टेक्नोलॉजी की बात करे तो इडुक्की भारत का पहला ऐसा जिला हैं, जिसको सबसे पहले BSNL, VODAFONE, AIRTEL और jio जैसी कंपनियों के 4G Broadband का नेटवर्क मिला था। वागामोंन व रामक्कलमेडु हिल स्टेशन, थेक्कड़ी पर्वत, पहाड़ो पर चाय की खेती, पेरियर राष्ट्रीय पार्क, पैदल पाथ ( चंदन के जंगल में ), वह इडुक्की राष्ट्रीय उद्यान यहाँ पर घूमने की जगह पर्यटक स्थल है।

यह भी पढे –  पर्यटन व पर्यटक क्या होता है इसका मतलब क्या होता है?

 

7. एर्नाकुलम [ Ernakulam ]

एर्नाकुलम जिला शत प्रतिशत पढे- लिखे लोगो वाला जिला है, यहाँ की साक्षरता 100% है। केरल की अर्थव्यवस्था में सबसे अधिक राजस्व यही से आता है। यहाँ पर मलयालम के साथ कुछ क्षेत्रीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय भाषा भी बोली जाती हैं जिसमें तमिल, अंग्रेजी और हिंदी प्रमुख हैं।
यहाँ पर Stock Market का कोची स्टॉक एक्सचेंज कार्यालय भी है। कृषि में मुख्य रूप से यहाँ पर हल्दी, कालीमिर्च, केला वह चावल की पैदावार ज्यादा होती हैं।  पर्यटन जगहों के नाम;-

● मरीन ड्राइव कोची, दरबार हॉल ग्राउंड व बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर स्टेडियम।

● मंगलावणं पक्षी अभ्यारण व थटतेकड पक्षी अभ्यारण।

8. त्रिस्सूर [ Thrissur ]

त्रिस्सूर जिला केरल राज्य की कल्चर केपिटल कहलाता है। त्रिचूरपूरम उत्सव , रंगबिरंगा मंदिर उत्सव वह समुद्री तट, यात्रियों को अपनी और खींचते हैं।

त्रिस्सूर जिले में घूमने की जगहों का नाम;-

● राम मंदिर, त्रिपायार।

● द बेसिलिका ऑफ ओवर लेडी – भारत के सबसे बड़े और उच्चे गिरजाघरों में से एक।

● पलयुर चर्च, चेरामन जुमा मस्जिद व पेरीगलकतु बांध।

● पुनरजननी – एक पुरानी गुफा हिन्दू तीर्थ स्थल।

● गुरुवयूर श्री कृष्ण मंदिर – दक्षिण भारत का शानदार हिन्दू तीर्थ स्थल।

● त्रिस्सूर चिड़ियाघर वह संग्रहालय।

9. पालक्काड़ [ Palakkad ]

पालक्काड़ जिला का प्राचीन नाम पालघाट था। यह केरल राज्य का सबसे बड़ा जिला है। वही टूटिस्ट डेस्टिनेशन में भी पालक्काड़ डिस्ट्रिक्ट केरल में नम्बर एक पर है जिसमें किला, मलम्पुज़ह बांध, अट्टप्पाडी रिज़र्व फॉरेस्ट, धोनी जलप्रपात, फैंटेसी पार्क, साइलेंट वैली राष्ट्रीय पार्क व परामबिकुलं बांध मुख्य है। वही इस जिले में भारत के जाने माने सेलेब्रिटीज़ और पर्सनलिटीज जिसमें नेता, अभिनेता-अभिनेत्री, गायक वह स्पोर्ट्स पर्सन शामिल हैं। इस तरह आप कह सकते हो इस जिले का महत्व सिर्फ केरला में ही नही अपितु पूरे विश्व में है।

10. मलप्पुरम [Malappuram]

मलप्पुरम जिला में आज भी आप इंडो- यूरोपीयन शेली की इमारतें देखने को मिलती हैं यहाँ पर आपको इस्लामिक संस्कृति के दर्शन होंगे। साथ ही आवागमन में रेल, हवाई अड्डा और सड़क की अच्छी सुविधा उपलब्ध है। कृषि में काजू, नारियल आदि की पैदावार ज्यादा हे।
मलप्पुरम जिले के पर्यटन आकर्षण;-

● तिरुमनधनकुन्नू मंदिर – पहाड़ी की चोटी पर बना देवी दुर्गा टेम्पल।

● पुथगड़ी मस्जिद, मंजेरी व कोटाकल।

● आर्य वेधशाला – भारतीय चिकित्सा पद्तियो द्वारा इलाज किया जाता है।

● कोंडोती -संत हजरत मुहम्मद शाह का मकबरा, ५०० साल पुरानी मुसलमानों की मस्जिद।

● कादालुंडी बर्ड सेंचुरी – जलीय जीव वह विदेशी पक्षियों का जमावड़ा।

● टीक म्यूजियम व पार्क।

11. कोड़िकोड [ Kozhikode ]

कोड़िकोड जिला भूतकाल में कैलीकट नाम से जाना जाता था। इस जिले में ग्रामीण लोग, हरे – भरे खेत, समुद्र तट आदि दर्शनीय स्थल यात्रियों को अपनी और आकर्षित करते हैं। इसे प्राचीन काल में ‘मसालो का शहर’ भी कहते थे। यहाँ का मलयालम साहित्य, भाषा, संगीत, भोजन, फ़िल्म्स आदि प्रचलित हैं। यहाँ पर ईएमएस फुटबॉल स्टेडियम भी है। साथ ही प्रिंट मीडिया, रेडियो और टेलीविजन और ट्रांसपोर्ट में भी काफी आधुनिक है ये शहर।

 

12. वायनाड [ Wayanad ]

वायनाड जिला का मुख्यालय कलपट्टा है। यहाँ पर पंद्रह से ज्यादा पर्यटक स्थल है जिसमें चैंबरा चोटी, लव-कुश मंदिर, जैन मंदिर, वायनाड वाइल्डलाइफ सेंचुरी, मस्जिद वह हिन्दू मंदिर शामिल है। वही यहाँ पर टीपू सुल्तान के द्वारा बनाया गया पहाड़ी पर रोड का दृश्य बहुत डरावना और आकर्षक है।

 

13. कन्नूर [ Kannur ]

कन्नूर जिला देश – विदेश के घूमने वाले लोगो को बहुत पसंद आता है। यहाँ की सांस्कृतिक विरासत, सुंदर-पर्यावरण, ऊंचे पेड़, नृत्य परम्परा हमें लुभाती है। यहाँ का क्षेत्रीय पकवान हलवा, शाकाहारी बिरियानी, चावल कड़ी प्रसिद्ध हैं। वही यहाँ पर सेकड़ो विश्व विख्यात हस्तियों का जन्म स्थान है जिसमें एक्टर, अभिनेत्रिया, लेखक, पत्रकार, म्यूजिक कंपोजर, वॉलीबॉल प्लेयर व उद्यमी शामिल हैं।
कन्नूर जिले में पर्यटन;-

● पयमबबल्लम बिच – पार्क व समुद्री तट।

●थलसरी किला, ईजीमाला, स्नेक पार्क।

● अरालम वन्यजीव अभयारण

14. कासरगोड [ Kasaragod ]

कासरगोड जिला का संघर्ष हमें याद रखना चाहिये क्योंकी यहाँ पर विभिन्न शाषको और साम्राज्यों जिसमें पुर्तगाली, ब्रिटिश और मुगलों ने राज किया था। कासरगोड में पर्यटक स्थान;-

●अनंतपुरम झील मंदिर व कांवतीर्थ समुद्र तट।

● अरिकाडी किला, बेकल किला, चंद्रगिरि किला
वह एदयिलक्कड़ द्वीप।

● कपिल बिच, कोट्टंचरी हिल्स, मलिक दिनार मस्जिद, मयिपदी महल व वलियापरम्बा द्वीप।

केरल क्यों प्रसिद्ध है?

केरल अपनी प्राकृतिक सुंदरता, नदी, जलाशय और विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थलों के कारण प्रसिद्ध है। भारत का सबसे अमीर मंदिर भी केरल में मौजूद हैं

 

 

मुझे उम्मीद हैं, आपको केरल राज्य के बारे में वह सभी जिलों के बारे में दी गईं जानकारी काम आयेगी।  सभी केरल वासियो व भारत के लोगो के साथ यह पोस्ट जरूर शेयर करें।

 

इन्हें भी पढ़ें [ Related Articles ]

भारत के सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेशो के नाम हिंदी व अंग्रेजी भाषा में।

दादर एंव नागर हवेली के सभी जिलों के नाम

चंडीगढ़ के सभी जिलों के नाम

अंडमान एंव निकोबार के सभी जिलों के नाम

तेलगांना के सभी जिलों के नाम

पश्चिम बंगाल के सभी जिलों के नाम

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 उत्तराखंड के सभी जिलों के नाम

त्रिपुरा के सभी जिलों के नाम

तमिलनाडु के सभी जिलों के नाम

सिक्किम के सभी जिलों के नाम

पंजाब के सभी जिलों के नाम

उड़ीसा के सभी जिलों के नाम

नागालैंड के सभी जिलों के नाम

मिजोरम के सभी जिलों के नाम

मेघालय के सभी जिलों के नाम

मणिपुर के सभी जिलों के नाम

महाराष्ट्र के सभी जिलों के नाम

मध्यप्रदेश राज्य के सभी जिलों के नाम

झारखंड के सभी जिलों के नाम

जम्मू एंव कश्मीर के सभी जिलों के नाम

हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों के नाम

गुजरात के सभी जिलों के नाम

छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के नाम

राजस्थान के सभी जिलों के नाम

अरुणाचल प्रदेश  के सभी जिलों के नाम

आंध्र प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 बिहार के सभी जिलों के नाम

गोआ गोवा में कितने जिले है

असम के सभी जिलों के नाम

 कर्नाटक के सभी जिलों के ना

हरियाणा के सभी जिलों के नाम

Leave a Comment