Karnataka me kitne jile [District] Hai? कर्नाटक के सभी जिलों के नाम

Table of Contents

Karnataka me kitne jile [District] Hai? कर्नाटक के सभी जिलों के नाम

वर्तमान सन् 2022 में कर्नाटक राज्य के कुल जिलों की संख्या इकत्तीस 31 हैं। जिसमें विजयनगर (Vijayanagara) 31वां जिला है। आज आप कर्नाटक के सभी जिले के नाम व उनकी क्या विशेषता है, उसके बारे में संक्षिप्त परिचय पढ़ेंगे।

 

1. बागलकोट [ Bagalkot ]

बागलकोट जिला अपने कुटीर उद्योग, रेशम और हथकरघा इंडस्ट्री के लिए जाना जाता है। यहाँ की आधिकारिक भाषा कन्नड़ है। इस जिले ने भारत की स्वतंत्रता में अहम योगदान दिया था। यहाँ की साठ प्रतिशत से भी अधिक आबादी कृषि कार्य करती हैं।
बागलकोट के पर्यटन स्थलों के नाम इस प्रकार है;-
● बादामी गुफा मंदिर – यहाँ वैष्णव गुफा मंदिर में भगवान विष्णु की प्रतिमा स्थापित हैं।

● पट्टकल – यूनेस्को विश्व विरासत मंदिर जिसका निर्माण राजा विक्रमादित्य द्वितीय ने करवाया।

● ऐहोल, कुदलसंगम, महुकूत मंदिर व बंशनकरी अम्मा मंदिर।

 

2. बेल्लारी [ Bellary]

बेल्लारी जिला का पुराना नाम बल्लारी (ballari) था। इस जिले में भारत का सबसे अधिक लोहा खनिज का भंडार उपलब्ध हैं। साथ ही बेल्लारी को ‘स्टील सिटी’ वह ‘सिटी ऑफ माइनिंग’ का दर्जा भी प्राप्त हैं। ये हैदराबाद- कर्नाटक क्षेत्र की सीमा से जुड़ा हुआ डिस्ट्रिक्ट है। यहाँ के 70% लोग अपनी जीविका चलाने के लिए कृषि कामो पर निर्भर रहते हैं। बेल्लारी बल्लारी में घूमने की जगहों का नाम;-
● हम्पल – ऐतिहासिक प्राचीन खंडहर।

● कलाधाम – कला संग्रहालय।

● बेल्लारी किला, श्री गुरु कोट्टुरेश्वर मंदिर, कुमारस्वामी टेम्पल, लक्ष्मी नर्सलमहा मंदिर।

● महानवमी डिब्बा – वास्तु भवन।

● चिड़ियाघर और शाही बाड़े।

 

3.बेलगावी [ Belagavi ]

बेलगावी जिला को बेलगाम (Belgaum) भी कहते हैं। यह जिला औधोगिक और ऐतिहासिक दृष्टि से बहुत एक विशेष महत्व रखता है। साथ ही इस जिले में विभिन्न प्रसिद्ध हस्तियों ने जन्म लिया जिसमें एस. बलेश (शहनाई आर्टिस्ट), फड़ेपा दरेप्पा चौगले, (भारत के पहले ओलिम्पिक मैराथन धावक) आचार्य शांतिसागर व विद्यासागर महाराज ( जैन दिगम्बर भिक्षु ) शामिल हैं। वही पर्यटन में भुवराह नरसिंह मंदिर, पंचलिगेश्वर मंदिर व गोकक झरना मुख्य है।

 

4.बेंगलुरु ग्रामीण [ Bengaluru Rural ]

बेंगलुरु ग्रामीण जिला का पुराना नाम बैंगलोर था। और आज भी नब्बे प्रतिशत जनसंख्या जो भारत के अन्य राज्यो में रहती है वह बैंगलोर ही बोलती हैं। इस जिले के अधिकतर लोग ग्रामीण शेत्र के है जैसा कि नाम से ही पता चलता है।

5. बेंगलुरु शहरी [ Bengaluru Urban ]

बेंगलुरु शहरी जिला को भी बंगलोर व बैंगलोर नाम से जाना जाता हैं। जबकी भारत के प्राचीन इतिहास में इसका नाम कल्याण नगर था जब अंग्रेज देश में शाषन करने आये तो इसका नाम बेंगलोर रख दिया। बैंगलोर को वर्तमान में आई टी हब भी कहा जाता हैं। यहाँ पर सेकड़ो ऐतिहासिक प्राचीन पर्यटक स्थल है जिसमे शिव मूर्ति, इस्कॉन टेम्पल, टीपू पैलेस, वेंकटप्पा आर्ट गेलेरी, बंगलरू पैलेस, लाल बाग इत्यादि शामिल हैं।

6. बीदर [ Bidar ]

बीदर जिला काली मिट्टी और लेट्रिक मिट्टी के लिए जाना जाता हैं। साथ ही पर बहुत सारे बहूमूल्य खनिज उपलब्ध हैं। यह जिला जंगलों से गिरा हुआ है वह यहाँ की ज़्यादातर जनसंख्या खेतीबाड़ी करती हैं। यहाँ पर देखने लायक जगह में स्वामी नरशमीहा मंदिर पापनास गुरुद्वारा व बीदर किला आदि शामिल है।

7. चामराजनगर [Chamarajanagar]

चामराजनगर ज़िला की सीमा भारत के राज्य केरल व तमिलनाडु राज्यो से लगती हैं। यहाँ पर जंगलों में रहने वाले लोग ( वनवासी) जातीया ज्यादा रहती हैं। एम. एम पर्वत की पहाड़िया को नजारा बहुत मनमोहक है। घूमने की जगहों में माले माधेश्वर पहाड़ी, बांदीपुर राष्ट्रीय पार्क इत्यादि बहुत सारे स्थान है।

8. चिकबलापुरा [ Chikballapur ]

चिकबलापुरा जिला को चिकबल्लपुर और चिक्कबल्लापुर नाम से भी लिखा जाता हैं। यहाँ पर पुराने समय में लौहे की चीजो का निर्माण किया जाता था। पर्यटक जगहों में नंदी हिल्स, रंगनाथ मंदिर में याली स्तंभ व भोग नंदीश्वर मंदिर प्रसिद्ध हैं।

9. चिक्कमगलुरु [Chikkamagaluru]

चिक्कमंगलुरु जिला को चिकमगलूर नाम से भी जाना जाता है। भारत में सबसे पहले यही पर कॉफी का उत्पादन किया गया था। कृषि में मुख्य फसल यहाँ पर रागी, ज्वार, मक्का, बाजरा, काला चना, मूंगफली, गन्ना, तिल, सूरजमुखी, अरंडी और तिलहन जैसी पोष्टिक धान उगाया जाता है। चिकमगलूरू में दस से ज्यादा हिल स्टेशन है वह आठ से ज्यादा झरना, बांध और झीले है। वही कुछ टूरिस्ट अट्टट्रेक्शन वह प्लेसस टू इंटरेस्ट की बात करू तो;-

● कॉफी म्यूजियम और रत्नागिरी बोर।

● भद्र वन्यजीव अभ्यारण व कुद्रेमुख राष्ट्रीय उद्यान है।

10. चित्रदुर्ग [ Chitradurga ]

चित्रदुर्ग जिला को ‘दुर्ग’ नाम से भी संबोधित करते हैं। चित्रदुर्ग का किला यात्रियों को क़्वालिटी टाइम बिताने में मजबूर करता है। इसी जिले की धरती पर हैदर अली सेना की लीजेंड महिला ओनके ओबावा, आयुर्वेदिक गुरु वह 20 वी सदी के प्रसिद्ध योगाचार्य तिरुमलाई कृष्णामाचार्य का जन्म हुआ है।

 

11. दक्षिण कन्नड़ [ Dakshina Kannada ]

दक्षिण कन्नड़ जिला का मुख्यालय मैंगलोर है। यह कर्नाटक दूसरा सबसे बड़ा महत्व का डिस्ट्रिक्ट इसलिए है क्योकी यहाँ पर रेल, सड़क, वायुमार्ग,और जलमार्ग सभी प्रकार की बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हैं। साथ ही साउथ कन्नड़ से पांच राष्ट्रीय हाइवे भी जुड़े हुए हैं। इसके अलावा जिला हर क्षेत्र में विकसित है जिसमें ;- पर्यटन, कृषि, उद्योग आदि शामिल हैं। दक्षिण कन्नड़ के टूरिस्ट स्पॉट;-

●पिलिकुला बॉटनिकल गार्डन, बेंद्रू थीर्थ।

● मूडबिद्री, बांदाजे फॉल्स, चारमाड़ी घाट।

● श्री मंजुनाथ मंदिर व कुक्के सुब्रमण्यम मंदिर।

● मंजूषा कार संग्रहालय व हिल स्टेशन।

●धर्मस्थल श्रीमंथी भाई मेमोरियल गवर्नमेंट म्यूजियम व कुंबलादि बालासुब्रह्मण्य।

 

12. दावणगेरे [ Davangere ]

दावणगेरे जिला कुटीर उद्योग में काफी सुप्रसिद्ध है यहाँ पर बनी कालीमिर्च विदेशों में निर्यात होती है। इसके अलावा कपास का व्यापार, जोला, कपास, रागी, धान, गन्ने की खेती की जाती है। चन्नागिरी के पास शांति सागर नदी अपने प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए पर्यटकों को अपनी और खींचती है। इस जिले की 65 प्रतिशत से अधिक आबादी ग्रामीण है।

13. धारवाड़ [ Dharwad ]

धारवाड़ जिला अपने बहुमूल्य खनिजो के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध हैं जिसमें बलुआ पत्थर, लैटराइट, नाइस, स्फटिशिल और मणिभ शिस्ट हैं। वह कृषि में धान, तिलहन, ज्वार, दाल आदि की खेती की जाती है साथ ही धारवाड़ जिले में बहुत सारी बड़ी-बड़ी औधोगिक क्षेत्र वह देशी – विदेशी कंपनियों का संयंत्र लगा हुआ है। यातायात के साधनों में रेल, हवा मार्ग व सड़क की सुगम व्यवस्था है।
धारवाड़ में  पर्यटन स्थलों के नाम ;-
● अमृतेश्वर मंदिर, चंद्रमौलेश्वर मंदिर व उनकल झील।

● भवानीशंकर मंदिर व नृपतुंगा पर्वत।

● सिद्धार्थुधा मठ ओल्ड-हुबली, ग्लास हाउस,

● पांच से ज्यादा लोक विरासत नृत्य आपको देखने को मिलेंगे।

 

यह भी पढे –  पर्यटन व पर्यटक क्या होता है इसका मतलब क्या होता है?

 

14. गदग [ Gadag ]

गदग जिला में बहुत सारे चालुक्य सम्राज्य के अंतर्गत हिन्दू व जैन मंदिरों का निर्माण हुआ था। जिले में पवन ऊर्जा भी है गदग डिस्ट्रिक्ट में घूमने फिरने के लिए;-

● त्रिकूटेश्वर मंदिर परिसर, गडगो में सरस्वती मंदिर।

● लक्ष्मेश्वर में सोमेश्वर मंदिर, मगदी पक्षी अभयारण्य व वीर नारायण मंदिर।

● कालकलेश्वर मंदिर के सामने, गजेंद्रगढ़।

● सुदी में दो मीनारों वाला मंदिर।

● डंबल में डोड्डाबसप्पा मंदिर।

 

15. हासन [ Hassan ]

हासन जिला बंगलूर-मंगलूर (बैंगलोर-मैंगलोर) के रास्ते के बीच में आता है। यह जिला ऐतिहासिक महत्व के कारण लोकप्रिय है। रेल, हवा मार्ग व सड़क की अच्छी सुविधा है व यहाँ पर विभिन्न हस्तियों ने जन्म लिया है जिसमें क्रिकेटर जवागल श्रीनाथ, भारत के 11 वें प्रधान मंत्री श्री एच डी देवेगौड़ा, कन्नड़ रैपर चंदन शेट्टी, राजा वीरा बल्लाला द्वितीय, फ़िल्म हीरोइन मिलाना नागराज तथा लेखक एस.एल. भैरप्पा आदि प्रमुख नाम है।

 

16. हावेरी [ Haveri ]

हावेरी जिला मुख्य रूप से यात्रियों/ पर्यटकों के लिए है। यहाँ पर एक से बढ़कर एक धार्मिक और ऐतिहासिक जगहों की भरमार है। कहि प्रसिद्ध हस्तियों ने इस जिले में जन्म लिया उसमें पंचाक्षरा गवई जो की एक प्रसिद्ध हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीतकार है, इंफोसिस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सुधा मूर्ति तथा येलीवाला के एक कन्नड़ फिल्म अभिनेता बी. सी.पाटिल शामिल हैं। हावेरी जिला के पर्यटक स्थल;-

● इरशाद अली बाबा की दरगाह।

● रानीबेन्नूर वन्यजीव अभयारण्य

● सिद्धेश्वर मंदिर व गलगेश्वर मंदिर।

● उत्सव रॉक गार्डन – समकालीन मूर्तिकला उद्यान।

17. गुलबर्ग/कालबुरगी [Kalaburagi /Gulbarga]

गुलबर्ग जिला को ‘कालबुरगी’ नाम से भी जाना जाता है। यह वास्तुकला, ऐतिहासिकता वह अपने धार्मिक महत्वता के लिए जाना जाता हैं। मुस्लिम समुदाय के लिए यह एक विशेष स्थान है क्योकी यहाँ पर इस्लामी कला का सम्पूर्ण इतिहास चित्रित है वही गुलबर्ग में घूमने के स्थान में बुद्ध विहार गुलबर्ग किला, जुम्मा मस्जिद किले में व शेख रोजा दरगाह आदि प्रमुख हैं।

18. कोडगु [ Kodagu ]

कोडगु जिला साउथ इंडिया का प्रमुख पर्यटक स्‍थल है क्योकी यह चारो तरफ घाटियों और पहाड़ियों से गिरा हुआ है। हरे-भरे जंगल, चाय और कॉफी के बागान लोगो का दिल जीत लेते हैं। कोडगु में कहा पर घूमे?
● कक्‍कब्बे- सबसे बड़ा शहद बनाने वाला स्थान।

● नागरहोळे राष्‍ट्रीय उद्यान – जंगली जानवर, सफारी और उद्यान।

● कुशालनगर व इर्पू फॉल्‍स जैसे अनेक स्थल है।

19. कोलार [ Kolar ]

कोलार जिला अपने गोल्ड खदानों के लिए प्रसिद्ध हैं। श्री कोलारम्मा मंदिर का दृश्य अद्बभूत है। कोलार का वर्णन भारत के शास्त्रों रामायण वह महाभारत में शामिल हैं। कोलारम्मा मंदिर, कुरूदमेल, कोटिलेश्वर व कोलर पर्वत आदि दर्शनीय स्थल है।

20. कोप्पल [ Koppal ]

कोप्पल जिला मुख्य रूप से मंदिरों, किलो और अपनी ऎतिहासिक महत्व के लिए प्रसिद्ध हैं। महादेव मंदिर एक प्राचीन मंदिर है। कोप्पल किला का निर्माण टीपू सुल्तान ने 1786 ई. में करवाया था। आवागमन में हवाई मार्ग, सड़क मार्ग वह वायु मार्ग तीनो है।

 

21. मांडया [ Mandya ]

मांडया जिला धार्मिक व ऐतिहासिक दृष्टि से देखने योग्य है यहाँ पर बहुत सारे प्राचीन मंदिर बने हुए हैं जिसमें चेलुवनारायणस्वामी मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, पंचलिमगेश्वर व मल्लिकार्जुन मंदिर प्रमुख हैं। यहाँ पर उगाई जाने वाली मुख्य फसलो में धान गन्ना, ज्वार, मक्का, कपास, केला, रागी, नारियल, दालें और सब्जियां मुख्य हैं।

22. मैसूरु [ Mysuru ]

मैसूर ( Mysore) जिला का नया नामकरण किया गया जिसका नाम ‘मैसूरु’ है। बैंगलोर के बाद पूरे भारत में कोई कर्नाटक का सबसे लोकप्रिय, चर्चित जिला है, तो उसका नाम मैसूर हैं। इस ऐतिहासिक डिस्ट्रिक्ट पर देशी और विदेशी दोनो शाषको ने शासन किया जिसमें सिकन्दर, चालुक्या वंश, गंग वंश,पोयसल, होयसाल वंश आदि प्रमुख हैं।

● मैसूर का महाराजा राजमहल

● जगन मोहनलाल महल, चामुंडी पहाड़ी पर चामुंडेश्वरी मंदिर व सेंट फिलोमेना गिरजाघर।

● कृष्णराज सागर बांध व मैसूर चिड़ियाघर।

● रेल संग्रहालय व जीआरएस फैंटेसी पार्क।

23. रायचूर [ Raichur ]

रायचूर जिला में एक बड़ा थर्मल पॉवर स्टेशन लगा हुआ है। जिले के ऐतिहासिक आकर्षणों में से 1294 में बनाया गया रायचूर किला है। इसके अलावा अनेगुंडी शहर, विजयनगर साम्राज्य स्मारक हैं, रंगनाथ मंदिर, पम्पा झील और कमल महल शामिल हैं।

24. रामनगर [ Ramanagara ]

रामनगर जिला को लोकल लोग ‘रामनगरा’ नाम से भी संबोधित करते हैं। मुख्य रूप से ग्रेनाइट पत्थर और रेशम उत्पादन के लिए प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर पाँच से ज्यादा बड़े सुंदर पर्वत बने हुए हैं वह कई मल्टी नेशनल कंपनियों के उत्पादन कारखाने लगे हुए हैं।

25. शिवमोग्गा [ Shivamogga ]

शिमोगा (Shimoga) जिला का अभी नया आधिकारिक नाम “शिवमोग्गा” है। यह अपने पर्वत के क्षेत्रों, नारीयल के पेड़ों वह हरे-भरे खेतो के लिए जाना जाता हैं। Jog Falls जलप्रपात आगंतुकों को मंत्रमुग्ध कर देता है। लोहा, कृषि, कपड़ा, खाने – पीने की वस्तुएं बनाने वाली सेकड़ो कंपनियो के कारखाने यहाँ पर स्थापित है। घूमने के स्थानों में झरना, नदी और बांध देखने लायक हैं।

26.Tumakuru (Tumkur)

तुमकूर जिला में नारियल का उत्पादन बहुत भारी मात्रा में होता है। बहुत सारी सेलेब्रिटीज़ का यह जन्म स्थान है जिनका प्रमुख पेशा कला, साहित्य, खेल जगत, लेखक व अभिनेता है। यहाँ पर हिल स्टेशन और विभिन हिन्दू तीर्थ स्थल भी है।

 

27. उडुपी [ Udupi ]

उडुपी जिला एक धार्मिक जगह है जहाँ पर कृष्ण मंदिर व भगवान परशुराम महादेव तीर्थ क्षेत्र है। यह अपने उडुपी व्यजन के लिए भी प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर बहुत सारे इंदुस्ट्रीयल कारखाने भी है।

28. उत्तर कन्नड़ [ Uttara Kannada ]

उत्तर कन्नड़ जिला का पहला नाम कारवार( Karwar) था। यह जिला मुख्य रूप से कृषि पर निर्भर है। यहाँ पर बहुत सारी फसलों का उत्पादन किया जाता है जिसमें नारियल, गन्ना, कोको, काजू, आम, केला, अनानास, गार्सिनिया, कटहल और चीकू शामिल हैं

29. बीजापुर (Bijapur)

यहाँ पर आपको दस से ज्यादा पुराने पेड़ देखने को मिलेंगे। कुल मिलाकर हर क्षेत्र में यह जिला अव्वल है। बीजापुर जिला में सबकुछ मुगल शैली देखने को मिलेंगी क्योकी यहाँ पर बहुत सारे मुगल शाषको ने राज किया इसलिए मकबरे, महल और मस्जिद आपको ज्यादा दिखेंगी। देखेने लायक स्थानों में गोल गुम्बद, बीजापुर किला, इब्राहिम रोजा, मलिक-ए- मैदान, गगन महल, आनंद महल, असर महल, जुम्मा मस्जिद शामिल हैं।

 

30. यादगीर [ Yadgir ]

यादगीर जिला को यादगिरि ज़िला (Yadgiri district) नाम से भी उच्चारित किया जाता है।
घूमने फिरने जगहों का नाम;-
● सूफी संत सैयद खुंदमीर बुखारी का मकबरा

● ढाब डाबी जलप्रपात, शाहपुर तालुक में स्लीपिंग बुद्धा तथा सिद्धेश्वर मंदिर।

31.विजयनगर [ Vijayanagara ]

विजयनगर कर्नाटक का इकत्तीसवा जिला है। यूनेस्को का विश्व धरोहर स्थल विरुपाक्ष मंदिर इसी जिले में है। साथ ही हम्पी और तुंगभद्रा नदी आकर्षण का केंद्र है। 2020 को विजयनगर को बेलारी जिले से अलग करके बनाया गया।

 

मुझे उम्मीद हैं, आपको कर्नाटक राज्य के बारे में व सभी जिलों के बारे में दी गईं जानकारी काम आयेगी।  सभी कर्नाटक वासियो व भारत के लोगो के साथ यह पोस्ट जरूर शेयर करें।

 

इन्हें भी पढ़ें [ Related Articles ]

भारत के सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेशो के नाम हिंदी व अंग्रेजी भाषा में।

दादर एंव नागर हवेली के सभी जिलों के नाम

चंडीगढ़ के सभी जिलों के नाम

अंडमान एंव निकोबार के सभी जिलों के नाम

तेलगांना के सभी जिलों के नाम

पश्चिम बंगाल के सभी जिलों के नाम

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 उत्तराखंड के सभी जिलों के नाम

त्रिपुरा के सभी जिलों के नाम

तमिलनाडु के सभी जिलों के नाम

सिक्किम के सभी जिलों के नाम

पंजाब के सभी जिलों के नाम

उड़ीसा के सभी जिलों के नाम

नागालैंड के सभी जिलों के नाम

मिजोरम के सभी जिलों के नाम

मेघालय के सभी जिलों के नाम

मणिपुर के सभी जिलों के नाम

महाराष्ट्र के सभी जिलों के नाम

मध्यप्रदेश राज्य के सभी जिलों के नाम

झारखंड के सभी जिलों के नाम

जम्मू एंव कश्मीर के सभी जिलों के नाम

हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों के नाम

गुजरात के सभी जिलों के नाम

छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के नाम

राजस्थान के सभी जिलों के नाम

अरुणाचल प्रदेश  के सभी जिलों के नाम

आंध्र प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 बिहार के सभी जिलों के नाम

गोआ गोवा में कितने जिले है

असम के सभी जिलों के ना

केरल के सभी जिलों के नाम

हरियाणा के सभी जिलों के नाम

 

Leave a Comment