Rajasthan me kitne jile [District] hai? राजस्थान के सभी जिलों के नाम

Rajasthan me kitne jile [District] hai? राजस्थान के जिलों के नाम

वर्तमान सन् 2022 में  राजस्थान  राज्य के कुल जिलों की संख्या  33 हैं।  सभी जिलों के नाम के साथ साथ मैं आपको हर डिस्ट्रिक्ट का थोड़ा परिचय भी दूंगा। जिससे आपको सभी जिलों के नाम भी याद हो जायेगे और हर जिले की क्या अलग विशेषता हैं, उसके बारे में भी जानकारी प्राप्त हो जायेगी। अगर आप राजस्थान के सभी तेंतीस जिलों के बारे में Quick introduction चाहते हैं, तो आपको यह पूरी पोस्ट जरूर पढ़नी चाहिए। मुझे पूरा विश्वास है, आप ये पूरी पोस्ट पढ़कर राजस्थान के सारे जिलों के बारे में सामान्य ज्ञान प्राप्त कर लेंगे।

1. पाली [ Pali ]

पाली जिले का क्षेत्रफल – 12,387 किमी. भाषा – हिंदी, मारवाड़ी,  राजस्थानी।
पाली जिले में मारवाड़ जंक्शन एरिया बहुत प्रसिद्ध हैं। और पाली का इतिहास बहुत ही ऐतिहासिक और अतिप्राचीन रहा है। जिले में बहुत सारी घूमने- फिरने की जगह है जिसमें मुख्य;- रणकपुर जैन मंदिर, भीलबेरी प्राकृतिक झरना कालीघाटी, बांगड़ म्यूजियम और लाखोटिया गार्डन हैं।

 

यह भी पढे – पाली शहर की सम्पूर्ण जानकारी और घूमने फिरने की जगहों के बारे में पढ़ें। 

 

2. जोधपुर [ Jodhpur ]

जोधपुर जिला राजस्थान का आर्थिक और पर्यटन की दृष्टि से बहुत विशेष स्थान रखता हैं। इस जिले के अंदर राजपूत राजा- महाराजाओं का राज चलता था। आज भी बहुत सारे राजपूत परिवार उसी पूरा पुराने रीति रिवाजों के साथ जोधपुर में निवास करते हैं। जोधपुर के मुख्य पर्यटन स्थल ;- मेहरानगढ़ का फोर्ट, उम्मेद भवन, ओम बन्ना आदि प्रसिद्ध है।

3. नागौर [ Nagaur ]

नागौर जिले के मकराना के मार्बल पत्थर पूरे देश में प्रसिद्ध हैं। इसी मार्बल से ताजमहल बना है। साथ ही भारत में विभिन्न गांवो व शहरों के मंदिर, मस्जिद और चर्च में makrana marble के पत्थर ही लगे हुए हैं। इसके अलावा नागौर लकवे के रोगियों का एक चमत्कारिक मंदिर हैं, बुटाटी गाँव जिसे चतुरदासजी महाराज ने बनवाया था। इसके अलावा प्रसिद्ध कृष्ण भक्त मीरा बाई का जन्म स्थान भी नागौर ही है। साथ मुस्लिम समुदाय का प्रसिद्ध दरगाह और मस्जिद के लिए भी नागौर प्रसिद्ध है।

4. अजमेर [ Ajmer ]

भारत के महान योद्धा पृथ्वीराज चौहान की नगरी अजमेर अपनी वीरता, सुंदरता के कारण प्रसिद्ध हैं।
यहाँ पर कुछ विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल और खास ऐतिहासिक जगहें हैं, जो हर किसी को यहाँ आने पर मजबूर करती हैं। ” अन्ना सागर झील, ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह, मेयो कॉलेज, वह बहुत सारे ऐतिहासिक किले हैं। जनसंख्या और क्षेत्रफल की दृष्टि से भी ये एक बड़ा राज्य हैं। इसके नजदीक ही बूढ़ा पुष्कर और तीर्थराज पुष्कर मौजूद हैं।

5. बूंदी [ Bundi ]

वेसे तो बूँदी राजस्थान का एक छोटा जिला हैं। लेकिन परन्तु इसका प्रभाव पूरे भारत पर पड़ता हैं। यहाँ विदेशों से हर दिन लाखो की संख्या में पक्षी आते हैं। इसका कारण यहाँ पर सात से ज्यादा बड़े बांध तालाब बने हुए हैं। इसके अलावा बूंदी वन्यजीवों के लिए भी प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर बहुत लोकप्रिय अभ्यारण्य भी हैं, रणथंभौर, मुकुंदरा इत्यादि।

 

यह भी पढे – राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? [2011-2021] की पूरी जानकारी

 

6. राजसमंद [ Rajsamand ]

मेरे व्यक्तिगत अनुभव के अनुसार राजसमंद जिला अपनी सड़को के लिए प्रसिद्ध हैं। चाहे गाँव हो या शहर हर जगह बिना खड्डे वाली सड़के ही दिखेंगी। जयसमंद झील हाथ से बनाई हुई राजसमंद का आकर्षण का केंद्र वह मुख्य पर्यटन स्थल है। इसके साथ भगवान द्वारकाधीश और श्रीनाथ जी का मंदिर इस जिले की शान है। मार्बल उधोग और मिराज ग्रुप कंपनी ने यहाँ के औधोगिकीकरण में अहम भूमिका निभाई है।

 

7. टोंक [ Tonk ]

टोंक जिला राजस्थान अपने दर्शनीय स्थलों के लिए काफी प्रसिद्ध हैं। ऐसा कहा जाता है, की टोंक राजस्थान की एकमात्र मुस्लिम रियासत थी। बीसलपुर बांध राजस्थान का सेकेंड बड़ा बांध है। इसके अलावा ऋषि- मुनियों की तपस्थली, प्राचीन किला, और अपने पर्यटन के लिए काफी प्रसिद्ध हैं।

 

8. दौसा [ Dausa ]

दौसा डिस्ट्रिक्ट अपने प्राचीन वैभव के कारण लोकप्रिय हैं। गुर्जर समाज के लोग इस जिले में ज्यादा रहते हैं। जयपुर से मात्र 50 किलोमीटर की दूरी पर यह मौजूद हैं। मुख्य धार्मिक और पर्यटन स्थलो के नाम ;- मेहन्दीपुर बालाजी, देवनारायण देवता का मंदिर, हर्साद माताजी मंदिर, पपलाज माता का मन्दिर आदि देखने योग्य जगह है।

9. श्रीगंगानगर [ Shri Ganganagar ]

श्रीगंगानगर को कुछ लोग गंगानगर नाम से भी सम्बोधित करते हैं। इसे राजस्थान का पंजाब इसलिए कहते हैं, क्योकी यह जिला हरियाणा और पंजाब से सटा हुआ है। यहाँ पर सिख समुदाय के पंजाबी किसान ज्यादा रहते हैं। महाराजा गंगासिंह के नाम से इसका नाम श्री गंगानगर पड़ा।

10. बीकानेर [ Bikaner ]

बीकानेर राजस्थान के मरुस्थलीय और रेगिस्तान जिलों में से एक जिला हैं। आपने बीकाजी नमकीन भुजिया का तो नाम सुना ही होंगा। जो की एक विश्व प्रसिद्ध नमकीन ब्रांड है। यह कंपनी भी बीकानेर की ही है। चूहों का मंदिर नाम से प्रसिद्ध देशनोक करणी माता का मन्दिर यही पर स्थित हैं।

 

11. जैसलमेर [ Jaisalmer ]

जैसलमेर राजस्थान का ऐसा जिला हैं, जो पूरे विश्व के लिए एक अजूबा है। यहाँ पर रेगिस्तान होने के कारण बड़े-बड़े फ़िल्म निर्माता और विदेशी सैलानी हर वर्ष लाखो की संख्या में आते हैं। यहाँ पर ऊंट सफारी ( कैमल सफारी) मनमोहक हैं। साथ ही इतिहासकार ऐसा बताते हैं, की हो यहाँ पर एक बड़ा महल बना हुआ है, उसके भीतर पूरे जैसलमेर के लोग निवास करते थे।

 

12. बाडमेर [ Barmer ]

किराडू नाम जगह यहाँ की बहुत प्राचीन और ऐतिहासिक देखने योग्य स्थल है। कहते हैं, साधू के श्राप के कारण सूरज ढलते ही यह पूरी जगह सूनसान हो जाती हैं। साथ ही पंचपदरा रिफाइनरी यहाँ मुख्य औधोगिक क्षेत्र हैं।

 

13. जालौर [ jalore ]

जालोर भी राजस्थान का एक ऐतिहासिक जिला हैं। इसको ग्रेनाइट शहर भी बोलते हैं। साथ ही यहाँ के प्राचीन हिन्दू किले और जैन धर्म के गुरुओं के प्रसिद्ध मंदिर लोगो का दिल जीत लेती हैं।

 

14. सिरोही [ Sirohi ]

सिरोही पाली जिले से जुड़ा हुआ है। यहाँ की पर्वत श्रृंखला और देवासी समाज की संस्कृति बहुत प्रसिद्ध हैं। माउंट आबू हिल स्टेशन को देखने पूरे भारत सहित विदेशी सैलानी भी आते हैं। इसके अलावा जैनों का सबसे अद्भूत स्थापत्य कला शैली द्वारा निर्मित देलवाडा जैन मन्दिर को जरूर देखने जाये।

 

15. उदयपुर [ Udaipur ]

उदयपुर जिले में महाराणा प्रताप रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट हैं। दोनो जगह पर सभी प्रकार की बुनियादी सुविधा उपलब्ध हैं। उदयपुर अपने पर्यटन और सुंदरता के खातिर पूरे भारत में प्रसिद्ध हैं। गुलाब बाग, सहेलियों की बाड़ी, झीले देखने जरूर जाये।

 

16. डूंगरपुर [ Dungarpur ]

डूंगरपुर जिले की कुछ विशेषता;-

● पहाड़ो का जिला

● जीव जंतुओं और पशु पक्षियों की अनेक प्रजातिया उपलब्ध।

● वास्तुकला और ऐतिहासिक भवन

● आदिवासी समुदाय, प्राचीन पर्यटन स्थल।

 

17. बांसवाड़ा [ Banswara ]

बांसवाड़ा जिले में खास क्या है?

● अत्याधिक जंगल, माही बांध।

● मदरेश्वर शिव मंदिर, जैन तीर्थ स्थल वह प्रचुर खनिज संसाधन और लकड़ी।

 

18. चित्तौड़गढ़ [ Chittorgarh ]

एक बहुत पुरानी कहावत है, जो अक्सर भारत वह चितोड़ गढ़ वासीयो के मुख से आप सुनेंगे। गढ़ तो गढ़ चितौडग़ढ़ बाकी सब गढेया – इसका मतलब यह है, यहाँ की किलाबंदी देखकर आपको पुराने जमाने के राजा महाराजो के जमाने की याद आयेगी। साथ ही चितौड़गढ़ जिला अपने मंदिरों, वास्तुकला, शिल्पकला के कारण भी काफी प्रसिद्ध हैं।

19. झालावाड़ [ Jhalawar ]

झालावाड जिला अपने पर्यटन, संस्कृति, कला और पुराने राजपूती किलो के कारण प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर वर्तमान में भी राजपूत समाज के लोग ही राजनीति के माध्यम से शाषन करते हैं। जैन मंदिर और बौद्ध धर्म के मंदिर भी देखने को मिलेंगे।

20. कोटा [ Kota ]

कोटा जिला को एजुकेशन नगरी भी कहते हैं। यहाँ पर हर वर्ष लाखो की संख्या में स्टूडेंट्स पढ़ाई करने के लिए आते हैं। कोटा जिले की पूरी अर्थव्यवस्था शिक्षा और ओधोगिक कारखानों की बदौलत चलती हैं।

21. बारां [ Baran ]

बाराँ जिले का पुराना नाम वराह नगरी था। यहाँ पर सोलंकी राजपूतों ने राज किया था। रामगढ़ भंडदेवरा मंदिर का बाहरी दृश्य काफी कामुख है। साथ ही भव्य महल, मंदिर प्राकृतिक संपदा से युक्त यह जिला अपने आप में खास है। कुछ और पर्यटन स्थलों के नाम बाराँ जिले के ;- शाहबाद क़िला, शाहबाद मस्जिद, शेरगढ़ किला, शेरगढ़ अभ्यारण्य, सीताबाड़ी ऐसे ही सेंकडो प्रसिद्ध देखने योग्य जगह मौजूद हैं।

22. सवाई माधोपुर [ Sawai Madhopur ]

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान और रणथंभौर दुर्ग किला। यहाँ की शान हैं। यातायात, रेलवे सुविधा और अपने मन्दिरो के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध हैं।

23. करौली [ Karauli ]

करौली जिले के आकर्षण केंद्र

● हरि भरी पर्वतीय इलाके

● खनिज संपदा, गाडियो के कांच बनाने का स्टोन।

● बृज संस्कृति, लकड़ी के सामान, चूड़ियां, महल वह किले।

● हिण्डौन सिटी इस जिले का प्रमुख बड़ा शहर है।

● कैलादेवी मंदिर वह अन्य बहुत सारे जैन वह हिन्दू धर्म के मंदिर मौजूद हैं।

 

24. धौलपुर [ Dholpur ]

धौलपुर जिले में ब्रज, हिंदी और राजस्थानी भाषा बोली जाती हैं। यह जिला भारत के दो बड़े राज्य उत्तरप्रदेश व मध्यप्रदेश के बीच में बना है। शेरगढ़ किला, मुचुकुन्द-सरोवर और अनेक देखने लायक जगह धौलपुर जिले में मौजूद हैं।

25. भरतपुर [ Bharatpur ]

मेवाती, ब्रजभाषा और हिन्दी भरतपुर की मुख्य भाषा है। भरतपुर राष्ट्रीय उद्यान, दुर्ग और महल आदि पर्यटक स्थल है। देश का सबसे विख्यात पक्षी उद्यान भरतपुर में मौजूद है। कहते हैं, भरतपुर पहले एक स्वतंत्र राज्य था। यहाँ पर कई राजा महाराजाओं ने शाषन किया था।

26.अलवर [ Alwar ]

सरिस्का वन्य जीव उद्यान, नीमराणा महल, सागर जलाशय, फतहगंज गुम्बज मकबरा, सिलीसेड झील आदि प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। अलवर आज राजस्थान का एक प्रमुख इंडस्ट्रीयल एरिया है। साथ ही यह एक ऐतिहासिक नगर भी हैं। यहाँ भव्य इमारते और सुंदर देखने योग्य हजारो जगहें हैं। इसलिए अलवर जरूर जाये।

27. जयपुर [ jaipur ]

जयपुर की जितनी तारीफ करे, उतनी कम है, जयपुर जिला राजस्थान की आन – बान और शान है। अगर आप राजस्थान में रोजगार की तलाश कर रहे हो या एक खूबसूरत शहर की तो जयपुर से बढ़िया कोई शहर हो ही नही सकता। यहाँ के log भी बहुत शांत और अच्छे स्वभाव के हैं। मेट्रो, रेलवे और हवाई अड्डे जेसी महत्वपूर्ण सुविधाएं यहाँ उपलब्ध हैं।

28. सीकर [ Sikar ]

सीकर में खाटूश्यामजी का वर्ल्ड फेमस मंदिर हैं। साथ ही सीकर अपनी अलग- अलग पर्यावरण की रंग बिरंगी छटाओं के कारण प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर बहुत सारे देखने योग्य जगह है।

29. झुंझुनू [ Jhunjhunu ]

यह एक रेगिस्तानी क्षेत्र है। झुंझुनूं ने भारत देश को सबसे ज्यादा सैनिक दिए हैं। साथ ही उद्योग, पराक्रम, धर्म, कर्म, व्यापार के क्षेत्र में भी झुंझुनूं जिले का नाम सर्वोच्च पर आता हैं।

30. चूरू [ Churu ]

चुरू जिले को थार मरुस्थल भी कहा जाता हैं। माल जी की हवेली, रतनगढ़ का किला, हवेलियां, नाथ साधुओ की हवेली, ताल छापर अभयारण्य आदि चुरू जिले में घूमने की जगह है।

31. भीलवाड़ा [ Bhilwara ]

भीलवाड़ा जिले को वस्त्र नगरी भी कहते हैं। क्योंकी यहाँ का कपड़ा उद्योग बहुत ज्यादा फैला हुआ है। जब आप भीलवाडा के किसी भी हाईवे पर गुजरोगे तो आपको नाक बंद करनी पड़ेंगी। क्योकी कपड़े का इंदुस्ट्रीयल एरिया ज्यादा है। साथ ही भीलवाड़ा अन्य व्यापारिक दृष्टि से एक समृद्ध जिला हैं।

 

32. हनुमानगढ़ [ Hanumangarh ]

पुराने समय में हनुमानगढ़ जिले का नाम भूटनेर था। यहाँ पर भाटी राजपूत राजाओं का शाषन था।
इंदिरा गाँधी नहर परियोजना राजस्थान की सबसे बड़ी नहर परियोजना है। यह जिला पंजाब और हरियाणा से लगा हुआ हैं। हनुमानगढ़ जिला देश के गर्म इलाको में आता हैं।

 

33. प्रतापगढ़ [ Pratapgarh ]

प्रतापगढ़ राजस्थान राज्य का नया और 33 वा जिला हैं। प्रतापगढ़ जिले का गठन 26 जनवरी 2008 को किया गया। यहाँ पर भील शाषको ने राज किया था। प्रतापगढ़ जिले में आज भी इसके पुराने ऐतिहासिक वैभव को खण्डर हुए महलों में देखा जा सकता हैं।

इन पोस्ट पर भी नजर डालो –  राजस्थान के बारे में 5 रोचक तथ्य

राजस्थान के 5 सबसे प्रसिद्ध शहर

 

तो दोस्तो कैसी लगी ये पोस्ट? अपने सभी राजस्थानीयो वह राजस्थान प्रेमियों के साथ इस पोस्ट को साझा करें।

 

इन्हें भी पढ़ें [ Related Articles ]

भारत के सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेशो के नाम हिंदी व अंग्रेजी भाषा में।

दादर एंव नागर हवेली के सभी जिलों के नाम

चंडीगढ़ के सभी जिलों के नाम

अंडमान एंव निकोबार के सभी जिलों के नाम

तेलगांना के सभी जिलों के नाम

पश्चिम बंगाल के सभी जिलों के नाम

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 उत्तराखंड के सभी जिलों के नाम

त्रिपुरा के सभी जिलों के नाम

तमिलनाडु के सभी जिलों के नाम

सिक्किम के सभी जिलों के नाम

पंजाब के सभी जिलों के नाम

उड़ीसा के सभी जिलों के नाम

नागालैंड के सभी जिलों के नाम

मिजोरम के सभी जिलों के नाम

मेघालय के सभी जिलों के नाम

मणिपुर के सभी जिलों के नाम

महाराष्ट्र के सभी जिलों के नाम

मध्यप्रदेश राज्य के सभी जिलों के नाम

झारखंड के सभी जिलों के नाम

जम्मू एंव कश्मीर के सभी जिलों के नाम

हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों के नाम

गुजरात के सभी जिलों के नाम

छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के नाम

राजस्थान के सभी जिलों के नाम

अरुणाचल प्रदेश  के सभी जिलों के नाम

आंध्र प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 बिहार के सभी जिलों के नाम

गोआ गोवा में कितने जिले है

असम के सभी जिलों के नाम

 कर्नाटक के सभी जिलों के नाम

केरल के सभी जिलों के नाम

हरियाणा के सभी जिलों के नाम

 

Leave a Comment