Arunachal Pradesh [District] me kitne jile hai? अरुणाचल प्रदेश के सभी जिलों के नाम

Table of Contents

Arunachal Pradesh [District] me kitne jile hai? अरुणाचल प्रदेश के सभी जिलों के नाम

भारत के राज्य अरुणाचल प्रदेश में सन 2022 के अनुसार कुल 25 जिले है।  आज इस पोस्ट के माध्यम से आप सभी पच्चीस जिलों के नाम वह उन जिलों के बारे में लघु परिचय पढ़ेंगे। पूरी पोस्ट पढे ,और अपना समान्य ज्ञान बढ़ाये।

 

1.अँजाव [ Anjaw ]

अँजो जिले में सात प्रकार की क्षेत्रीय भाषाएं बोली जाती हैं। एअरपोर्ट, रेल मार्ग की भी सुविधा यहाँ पर उपलब्ध हैं। यह जिला भारत की जनसंख्या की दृष्टि से दूसरा सबसे कम आबादी वाला डिस्ट्रिक्ट हैं। यहाँ पर ज्यादातर लोग मिश्मी जनजाति के आदिवासी रहते हैं। और इनकी जीवनचर्या, खानपान और प्रकृति की सुंदरता अँजाव जिले को एक शानदार रूप देती हैं।

 

2. चांगलांग [ Changlang ]

चांगलांग जिले की पूरी अर्थव्यवस्था कृषि और सैर- सपाटे पर टिकी हुई हैं। यहाँ पर अनेक जाती और जनजातियो के लोग रहते हैं। मोह-मोल उत्सव, पोंगतू कुह, शाप्वंग यांग मानु पोई यह तीनों मुख्य उत्सव है। यहाँ की संस्कृति को आप चांगलांग जाकर नजदीक से निहार सकते हैं। यहाँ पर वन्यजीव और वन संपदा भरपूर है। यहाँ का परम्परागत उत्सव, संस्कृति, एकता और सभ्यता यह बयान करती हैं, की ये अरुणाचल प्रदेश का सबसे खूबसूरत जिला हैं।

 

3. पूर्वी कामेंग [ East Kameng ]

कामेंग नदी के आधार पर इस ज़िले का नाम पूर्वी कामेंग पड़ा। बहुत सारे यहाँ पर आदिवासियों के फेस्टिवल होते हैं, जिनमे आप हिस्सा ले सकते हैं। मछली पकड़ने के लिए कामेंग नदी बहुत प्रसिद्ध हैं। पपु घाटी और पपु नदी दोनो ही फेमस टूटिस्ट अट्रेक्शन हैं।

4. पूर्वी सियांग [ East Siang ]

यहाँ पर डोनी पोलो (Donyi-Polo) नाम से एक धर्म हैं, जिसकी सबसे ज़्यादा जनसंख्या पूर्वी सियांग जिले में है। फ्लोरा एंड फौना में एक वाइल्ड लाइफ सेंचुरी भी है।

 

5. लोहित [ Lohit ]

लोहित ज़िले में चाय के बागान ज्यादा पाए जाते हैं। यहाँ की लोहित नदी वह मोटा चोड़ा तगड़ा मिथुन सांड भी प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर घूमने फिरने आने वाले पर्यटक पहले नदी का लुफ्त उठाते हैं, फिर पर्वत चढ़ाई करते हैं। और फिर उसके बाद जंगल घूमना पसंद करते हैं। लोहित जिले के अंदर सारी चीजें पौराणिक वह ऐतिहासिक है। परशुराम कुण्ड, तामरेश्वरी मन्दिर, शिवलिंग, बुद्ध विहार, डोंग, ग्लो झील, भीष्मक नंगर, हवा शिविर जैसे अनेक मनमोहन अंदर से झकझोर देने वाले पर्यटक स्थल है।

 

6. लोंगडिंग [ Longding ]

लोंगडिंग जिला, हरे जंगल, लोकल उत्सव वह पारम्परिक कामो के लिए जाना जाता है। यहाँ की जनसंख्या मात्र 56,000 हजार हैं। ( वही राजस्थान में छप्पन हजार की जनसंख्या वाला तो सिर्फ एक गांव ही होता है। )

7 .लोअर सुबनसिरी [ Lower Subansiri ]

लोअर सुबनसिरी जिला का ग्रीन फोरेस्ट, मछली फार्म, अपाटनी होउसेस देखने लायक है। यहाँ का न्योकम, बूरी-बोट, ड्री फेस्टिवल प्रसिद्ध हैं।

8. पपुमपारे [ Papum Pare ]

यहाँ पर पपुमपारे जिले में हिमालय पर्वत श्रृंखला सबसे ज्यादा पर्वत मौजूद हैं। न्यूकोम युलो ( Nyokum Yullo) यहाँ का सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है, जो कृषि से संबंधित है। यहाँ पर लोग खेती पर विशेष ध्यान देते हैं। और जंगल भी ज्यादा है। खेती में सबसे ज्यादा पपीता, लीची, सेब, कालीमिर्च, नींबू, मटर की खेती होती हैं।

9. तवांग [ Tawang ]

तवांग जिला अपने तवांग मोनेस्ट्री के कारण विश्वप्रसिद्ध हैं, यहाँ पर एक बड़े क्षेत्रफल के अंदर सुंदर धार्मिक स्थल पर पूजा-अर्चना होती हैं। साथ ही यहाँ पर सन 1962 में सिनो-इंडिया-वॉर में शहीद हुए सैनिको का भी भव्य स्मारक बना हुआ है। संजेस्टर झील (Sangetsar Lake) यहाँ का नम्बर एक पर्यटन स्थल है। तवांग जिले के अंदर प्रवेश करते ही आपको वहाँ पर छुपा हुआ स्वर्ग दिखेंगा। यहाँ पर आने वाले लोग प्रकृति की छटा, बौद्ध धर्म के मठ, झील आदी प्रमुख रमणीय जगह को निहारते हैं।

10. तिरप [ Tirap ]

तिरप जिला म्यामार देश के बॉर्डर से लगा हुआ है। तिरप में खोंसा (khonsa) शहर सबसे बड़ा हैं, और ये तिरप का मुख्यालय भी है।

11. लोअर/निचली दिबांग घाटी [Lower Dibang Ghati]

दिबांग नदी के नाम से इस जिले का नाम लोअर दिबांग घाटी पड़ा। यहाँ पर वन्यजीवो में पांडा और मुश्किन टेकिन दोनो ज्यादा पाए जाते हैं। वही यहाँ पर एक भीष्मक नगर नाम का ऐतिहासिक किला भी है। दिबांग ब्रिज और Deopani/Eze ब्रिज इस जिले की खूबसूरती में चार चांद लगा देते हैं। इसके अलावा बर्फ से ढकी चोटिया, घाटियां, नदिया पर्यटकों का मन मोह लेती हैं। इसके अलावा आप निचली दिबाँग घाटी में वन्यजीव अभ्यारण्य, जीव जंतु, मायुदिया, मिहाओ झील, मिहाओ वन्य जीव अभ्यारण्य, इफीपानी, निजामघाट जैसे अन्य सेकड़ो जगहों पर घूम फिर- सकते हैं

12.ऊपरी सियांग [ Upper Siang ]

ऊपरी सियांग जिले में ज्यादातर आबादी मेम्बे आदिवासी लोगो की है। मोलिंग राष्ट्रीय पार्क, गांधी ब्रिज, त्सितपुरी झील व Yiingkiong शहर यहाँ के आकर्षण के केंद्र हैं। पर्यटन की दृष्टि से भी यह जिला काफी महत्वपूर्ण है,

13.अपर सुबानसिरी [ Upper Subansiri ]

सुबानसिरी जिले को अरुणाचल प्रदेश का प्रशासनिक जिला भी कहाँ जाता है। यहाँ पर आप आटो टोपो की मूर्ति, मेंगा मंदिर, तिम्बा गांव में जलंग पानी का झरना, शेर-ए-थापा पर्यटन स्थल के साथ ही स्थानीय लोगो का परिवेश, सुंदरता और सांस्कृतिक विरासत होने के कारण सुबानसिरी जिला बहुत प्रसिद्ध हैं।

14.पश्चिम कामेंग [ West Kameng ]

यहाँ पर भूटान और तिब्बती लोगो का कल्चर आपको ज्यादा देखने को मिलेंगा क्योकी इन लोगो ने पश्चिम कामेंग जिला पर शाषन किया था। यहाँ की Bhalukpong पर्वत के बीच में झरना, थेम्बेंग हेरिटेज साइट, दो वन्यजीव अभ्यारण, शेरगांव आदि प्रसिद्ध जगह है।

 

15.पश्चिम सियांग [ West Siang ]

पश्चिम सियांग जिला एक पुरात्वविक डिस्ट्रिक्ट हैं। जो कभी चुटिया साम्राज्य ( chutiya kingdom ) का हिस्सा था। Donyi Polo Gangi, काबु हैंगिंग ब्रिज, मेचूका, Snowfall at Mechuka आदी टूरिस्ट अट्रैक्शन है।

16.ऊपरी दिबांग घाटी [Upper Dibang Ghati]

यह ऊपरी दिबांग घाटी जिला भारत देश में सबसे कम जनसंख्या वाला जिला है, जिसकी जनसंख्या मात्र 8,000 हजार है, अभी 2021 की अनुमानित 16,000 या 20 हजार हो सकती हैं। इसे दिबाँग घाटी ( dibang valley district ) भी बोलते हैं। जंगली बकरा, Dambuen पिकनिक स्पॉट प्रसिद्ध हैं।

17. कुरूंग कूमे [ Kurung Kumey ]

कुरूंग कूमे ज़िले लिंगानुपात 1029 जबरदस्त हैं, मतलब यहाँ पर प्रति 1000 हजार पुरुषों पर एक हजार उनतीस महिलाएं है। सारली घाटी, और तीन खूबसूरत नदिया आकर्षक केंद्र हैं।

18. नामसाई [ Namsai ]

नामसाई जिला अपने धार्मिक पर्यावरण मित्र पर्यटन के कारण विख्यात हैं। बुद्ध विहार Chongkham वह Golden Pagoda यह दो आध्यात्मिक स्थान देखने लायक है।

19. क्रा दादी [ Kra Daadi ]

क्रा दादी जिले में Palin town बहुत खूबसूरत पर्वत बसा एक सुंदर गांव हैं। इसका हेडक्वार्टर जामिन में हैं।

 

20.पक्के केसागं [ Pakke Kessang ]

पक्के केसागं जिला पर्यटन, संस्कृति और प्राकृतिक संसाधनों के कारण लोकप्रिय हैं। पक्के टाइगर रिजर्व, झीले, rilloh, पक्के घाटी, पक्के नदी और lumdung आदि केंसांग में घूमने की जगहे हैं।

21. शि-योमी [ Shi Yomi ]

शि योमी अरूणाचल प्रदेश का 23 वा जिला हैं। जिसका गठन 9 दिसम्बर 2018 को हुआ। यह जिला भी चुटिया सम्राज्य का हिस्सा था। मेचूका पर्वत, नदिया वह आदिवासी लोगो का नृत्य लोगों को बहुत पसंद है।

22.सियांग [ Siang ]

सत्ताइस नवम्बर 2015 को सियांग जिले का गठन हुआ। नदी, पर्वत और झील देखने लायक जगह हैं।

23.निचला सियांग [ Lower Siang ]

निचला सियांग जिले का गठन बाइस सितंबर 2017 को गठन होने के साथ ही यह अरुणाचल प्रदेश का 22 वा जिला बना। यहाँ पर आप एक मालिनी थान नामक पुराना खंडहर मंदिर देखेंगे। जो ऐतिहासिक दिखने में लगता है।

24. लेपा राडा [ Lepa Rada ]

सन 2018 में इसका गठन हुआ। लेपा राडा गैलो जनजाति का निवास है। मोपिन नामक फसल यहाँ का मुख्य त्योहार है।

25. कामले [ Kamle ]

कामले नदी के कारण इस जिले का नाम कामले पड़ा। इसे खामले (khamle) भी कहते हैं। लिट्रेसी 69% हैं। और जनसंख्या 22 हजार है।

अरुणाचल प्रदेश क्यों प्रसिद्ध है? 

अभी मैं आपको निम्नलिखित बिंदुओ के माध्यम से अरुणाचल किसके लिए प्रसिद्ध है वो जानकारी दूंगा।

  • भारत में सबसे पहले सूर्योदय अरुणाचल प्रदेश राज्य में ही होता है। वो भी सुबह 4:30 बजे।
  • सबसे जल्दी सूर्योदय देखने और उसका अनुभव लेने सेकड़ो लोग Ap स्टेट जाते हैं
  • यदि आप विदेश जैसी जगह भारत में खोज रहे हैं तो अरुणाचल प्रदेश ससे बढिया जगह कोई हो ही नही सकती।
  • AP State को भारत का फिनलैंड कहा जाता है।
  • भारत से चीन, म्यामांर और भूटान की यात्रा करनी हो तो अरुणाचल प्रदेश आ जाइये।
  • भारत का एकमात्र राज्य जहाँ विदेशियों के अलावा भारतीयों को भी परमिट लेना होता है। यह निर्णय बहुतायत स्तनधारी पशुओं की सुरक्षा के लिए लिया गया है।

 

मुझे उम्मीद आपको अरुणाचल प्रदेश के बारे में वह उसके सभी जिलों के बारे में दी गईं जानकारी काम आयेगी।। सभी अरुणाचली व भारत के लोगो के साथ शेयर जरूर करें।

 

इन्हें भी पढ़ें [ Related Articles ]

भारत के सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेशो के नाम हिंदी व अंग्रेजी भाषा में।

दादर एंव नागर हवेली के सभी जिलों के नाम

चंडीगढ़ के सभी जिलों के नाम

अंडमान एंव निकोबार के सभी जिलों के नाम

तेलगांना के सभी जिलों के नाम

पश्चिम बंगाल के सभी जिलों के नाम

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 उत्तराखंड के सभी जिलों के नाम

त्रिपुरा के सभी जिलों के नाम

तमिलनाडु के सभी जिलों के नाम

सिक्किम के सभी जिलों के नाम

पंजाब के सभी जिलों के नाम

उड़ीसा के सभी जिलों के नाम

नागालैंड के सभी जिलों के नाम

मिजोरम के सभी जिलों के नाम

मेघालय के सभी जिलों के नाम

मणिपुर के सभी जिलों के नाम

महाराष्ट्र के सभी जिलों के नाम

मध्यप्रदेश राज्य के सभी जिलों के नाम

झारखंड के सभी जिलों के नाम

जम्मू एंव कश्मीर के सभी जिलों के नाम

हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों के नाम

गुजरात के सभी जिलों के नाम

छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के नाम

राजस्थान के सभी जिलों के नाम

अरुणाचल प्रदेश  के सभी जिलों के नाम

आंध्र प्रदेश के सभी जिलों के नाम

 बिहार के सभी जिलों के नाम

गोआ गोवा में कितने जिले है

असम के सभी जिलों के नाम

 कर्नाटक के सभी जिलों के नाम

केरल के सभी जिलों के नाम

हरियाणा के सभी जिलों के नाम

 

Leave a Comment