आँखों की देखभाल कैसे करें? Eyes problem Solution in Hindi

आँखों की देखभाल कैसे करें? Eyes problem Solution in Hindi

आपने यह कहावत तो जरूर सुनी होंगी, आँखे है, तो जहांन हैं, या फिर किसी संत के मुँह से यह बात तो सूनी होंगी जब दृष्टि ही नही रहेंगी तो इस सुंदर सृष्टि को आप कैसे देख पाओगे? आज आपको इस पोस्ट में आँख से संबंधित सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होंगी तो एक भी लाइन ना छोड़े।

eye safety tips in hindi , ayurvedic tips for eyes problem,

 

असंतुलित खानपान, आँखों की सभी समस्याओं की जड़

अगर सिर्फ आपका खानपान सही हो जाये, तो आप अपनी खोई हुई रोशनी को वापस प्राप्त कर सकते हो। आज ज्यादातर लोग फास्टफूड, बाजार में मौजूद पैकेज्ड फ़ूड और तली-भूनी चीजो का सेवन कर रहे हैं, जिससे सिर्फ आँख ही खराब नही होती अपितु शरीर के अन्य मुख्य अंग भी बुरी तरह से प्रभावित होते हैं। क्योंकी यह सब चीजे खाने से आपका मोटापा बढ़ेगा, मोटापा बढ़ेंगा तो आप 100% डायबिटीज के शिकार होंगे, और डायबिटीज वाले इंसान की आँखे खराब होनी स्वाभाविक हैं। आज ही प्रण ले, की आप बाजार में मिल रहे सभी ज़हरीली खाद्य साम्रगी के बदले में फल और भारतीय स्वादिष्ट स्वास्थ्यवर्धक व्यजन घर पर ही शुद्ध तेल से बनाकर प्रयोग करेंगें।

मोबाइल व डिजिटल उपकरण से आँखों को कैसे बचाये

यह बात हम अच्छी तरह से जानते हैं, की इस डिजिटल दुनिया और इंटरनेट के जमाने में सोशल मीडिया को छोड़ना असम्भव हैं, लेकिन आपको मैं कुछ ऐसे टिप्स आज बताने जा रहा हूँ। जिससे आप अपना जरूरी काम भी लेपटॉप, मोबाइल या कंप्यूटर पर कर पायेंगे, और आपको आंखे भी खराब नही होंगी।

 

आप [ एन्टी ग्लेर ग्लासेस ] बाजार से खरीदे, इस चश्मे को पहनने के बाद, जो कंप्यूटर, लेपटॉप और मोबाइल से ब्लू लाइट निकलती हैं, वो आपके आँखों तक नही पहुंचेंगी, मतलब यह चश्मे के काँच उसको बाहर ही रोक देंगे। ध्यान रहे यह ब्लू लाइट आंखों को  बहुत नुकसान पहुचाती हैं। तो आपको आज ही अपने नजदीकी अच्छे चश्माघर में यह ग्लासेस खरीद लेने चाहिये। इसमें दो प्रकार के चश्मे आते हैं, एक जीरो पावर दूसरा पॉवर वाला। मतलब आपको पहले से अगर नजर का चश्मा हैं, तो आप पावर वाला बनवाये, और अगर आँखों में कुछ समस्या नही हैं, तो ज़ीरो पावर वाला बनवाये

 

● 20 – ट्वेंटी – ट्वेंटी नियम का पालन करें, एक वैज्ञानिक शोध में यह बात पता चली हैं, की जो भी व्यक्ति इस नियम का पालन करता हैं, उसकी आँखों को इतना नुकसान नही होंगा। उदाहरण के लिए;- आप मोबाइल चला रहे हो, तो हर 20  मिनट के अंतराल में 20 सेकेंड आप दूर देखे, आसपास कोई खिड़की हैं या केसी भी जगह हो दूर देखे। मतलब कोई भी आँख पर दवाब पड़ने वाला कार्य कर रहे हो, तो हर 20 मिनट के बाद उस काम को छोड़कर बीस सेकेंड दूर देखे।

रेडमी (Mi) कंपनी का फोन खरीदे क्योकी इसमें तीन ऐसे फीचर्स आते हैं, जो आपको 24 घण्टे मोबाइल से निकलने वाली ब्लू लाइट से बचाती है। वो eyesight को हमेशा सही रखने वाले फीचर का नाम है, Reading Mode, Dark Mode और Auto Brightness Mode. इन तीनो को फोन में चालू रखने से आप कितना भी डिजिटल काम करो, आपको कोई प्रॉब्लम नही आयेगी। इसलिए मैं इस पोस्ट के जरिए Mi Redmi मोबाइल फोन व उसकी कंपनी के प्रति कृतज्ञता प्रकट करना चाहता हूँ, क्योकी ये तीन फीचर नही होते अभी तक मेरी आँखों की रोशनी पूरी चली जाती। ये मोबाइल से निकलने वाली ब्लू लाइट आपके रेटिना के पर्दे पर खतरनाक असर प्रभाव डालती हैं। अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होंगा की वो लोग क्या करें जिनके पास रेडमी का फोन या मोबाइल में उपर दिये गए तीन फीचर ना हो? आप चिंता ना करें इसका भी समाधान है। आप मोबाइल में प्ले स्टोर में जाकर Blue light Filter या Dark Modeसर्च करेंगे तो सेकड़ो ऐप्प मिल जायेंगे उनको सिर्फ इंस्टॉल करना है वह सेटिंग में जाकर ऑन कर दो। अब आप जब चाहो उस समय फ़िल्टर लगा सकते हो, ये फीचर हर फोन व लेपटॉप, कंप्यूटर में एक्टिवेट किया जा सकता है।

सुबह जल्दी उठने के 100 फायदे! सुबह जल्दी कैसे उठे?

टेलीविजन: आँखों का सबसे बड़ा दुश्मन [eye problems watching tv in hindi]

टीवी इस दुनिया का सबसे खराब अविष्कार हैं। एक तो हमें टीवी देखने से पैसा, सम्मान कुछ मिलता नही हैं। लेकिन समय की बर्बादी और जीवन की बर्बादी शत प्रतिशत होती हैं। और अब मुद्दे की बात करते हैं- आँख की। कैसे ये टीवी आपकी आँखों को धीरे-धीरे पूरा कमजोर कर देता हैं, और आपको एक सेकेंड के सुख में पता ही नही चल पाता की, हमारी आँखे इतनी खराब कैसे हो गई। जानते है, इन पॉइंट्स के माध्यम से।

● जब हम अपना फेवरेट टीवी सीरियल या कोई भी ऐसा रौचक सीन देखते हैं, तो जबतक वो सीन चलता हैं, हम पलक नही झपकाते हैं, और आँखों के बारे में यह बोला गया हैं, की हर सेकेंड ‘ पलक झपकना जरूरी हैं’ मतलब 60 सेकेंड में साठ बार पलक झपकना जरूरी हैं। वरना आँखे खराब हो जायेंगी।

 

और ये बात आपने खुद ने महसूस की होंगी, जब आप दो – दो घण्टे लगातार टीवी देखते थे, तो आपके आँखों में पानी भर जाता था, वो इसलिए होता क्योंकि आप उस टीवी के दृश्य में इस तरह पागल हो गये थे, की आप अपनी नाजुक व कीमती चीज ‘ आँख ‘ को ही भूल गये।

 

● मेरा व्यक्तिगत अनुभव बताऊ, तो 50% मेरी आँखे खराब होने कारण टेलीविजन ही हैं। अंत में आपको इतना ही कहना चाहूंगा, अगर आप अपनी आँखों की सुरक्षा चाहते हैं, तो आज ही टीवी को कबाड़ में बेच दीजिये। वरना ये मनोरंजन का डिब्बा आपका अमूल्य समय और आँखे दोनो लेकर चला जायेंगा।

टीवी देखने के होश उड़ा देने वाले नुकसान | टेलीविजन के लाभ और हानि

 

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे  [Ayurvedic Tips For All types eye problems]

  1.  सुबह उठते ही अपने मुँह की लार काजल की तरह दोनो आँख में लगाये, सुनने में भले आपको यह गंदा काम लग रहा हूँ। पर मैं खुद इस नियम का पिछले एक दो साल से पालन कर रहा हूँ। और जब से मैने इस नियम का पालन कर रहा हूँ, तब से लेकर अबतक आँख में किसी भी प्रकार की जलन, खुजली, आंखों का लाल होना, आंखों में पानी आना जैसी कोई तकलीफ नही हुई। ध्यान रहे ;- एकबार लार लगाने से पहले मुँह और हाथ जरूर धो ले, लेकिन कुल्हा न करे क्योकी कुल्हा करोंगे, तो वह लार पानी के साथ बाहर निकल जायेंगी। और दूसरी बात यह प्रयोग सुबह ही करे। दोपहर या शाम को बिल्कुल नही।
  2.  सप्ताह में एकबार यात्रा जरूर करें। कहि भी घूमने जाये, इससे हर तरफ से आपको फायदा होंगा।
  3.  आँवले का  गर्मियों में किसी न किसी रूप में सेवन जरूर करें।
  4.  शाम को कोई भी मंजन या दातुन करके जरूर सोये। सुबह उठते ही हथेलियों को आपस में रगड़कर आँखों पर लगाये।
  5.  त्रिफला चूर्ण वह गौमूत्र में से किसी भी एक औषधी का प्रतिदिन सेवन अवश्य करें।
  6.  अगर आपने पूरा मन बना लिया हैं, आँखों का चश्मा हटाने के लिए तो कम से कम 6 महीना और अधिकतम एक साल सिर्फ फलाहार और प्राकृतिक अनाज खाये। जिसमें ;- कच्ची सब्जी, (जो आप कच्चा खा सकते हो ) सूखा मेवा ( काजू, किशमिश, बादाम, पिस्ता इत्यादि ), और बाजार की और घर की सारी चीजें छोड़ दो। फिर देखो पूरे शरीर का कायाकल्प हो जायेगा।
  7. आँखों के लिए सबसे बढ़िया प्राणायाम हैं- अनुलोम – विलोम, भस्रिका और भ्रामरी और आसन में सिर्फ दो – सूर्यनमस्कार और सर्वगसन। अगर आप योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लेते हो, मुझ पर विश्वास रखे, आपकी खोई हुई रोशनी वापस आ जाएंगी और आपके अंधे होने का खतरा 50 प्रतिशत कम हो जायेंगा। और यह मैं कही से पढ़कर नही बता रहा हूँ, यह मेरा व्यक्तिगत अनुभव हैं,मेरी आंखों की 70 % रोशनी कुछ कारणों से चली गई थी, परन्तु योग को जीवन में उतारने से मेरी आँखे बच गई।
  8.  और नीचे दी गई सभी पोस्ट को पढे इसके अंदर लिखे सभी हेल्थ टिप्स को फॉलो करें, फिर देखे एक साल के अंदर चमत्कार होंगा। आपकी खोई हुई रोशनी वापस आ जायेगी। और भोजन करने से पहले फल फ्रूट्स और कच्ची सब्जी खाने को अपने जीवन का हिस्सा बनाये। यह बहुत जरूरी नियम है।
  9. अगर आप पूरी खोई हुई आंखों की रोशनी वापस लाना चाहते हो या अपने चश्मे के नम्बर को घटाना चाहते हो, सिर्फ 6 महीने के लिए घर का खाना और बाहर बाजार का भोजन छोड़ दो। बस सही समय पर सुबह और शाम सुर्यास्त से पहले कच्ची सब्जी और कम से कम चार प्रकार के फल खाओ। इसे प्लांट बेस्ड फ़ूड कहते है। आप चमत्कार पायेंगे, अधिक जानकारी के लिए नीचे दी गई पोस्ट पढे ;- प्लांट बेस्ड फ़ूड से आंखों की सारी समस्या को ठीक करें
  10. जानवरों के शरीर से निकलने वाली हर वस्तु का आज से उपयोग करना बंद करे। जैसे;- दूध, दही, घी, पनीर, लस्सी, श्रीखंड इत्यादी। हमेशा ध्यान रखें हमारे शरीर को एनिमल प्रोटीन की कोई आवश्यकता नही है। सारे Calcium, Vitamins & Minerals हमें फल, कच्ची सब्जी (जो आप कोरा खा सकते हैं जैसे ;खीरा, टमाटर, मटर इत्यादी), अंकुरित अनाज, सूखा मेवा, इन सब चीजो से आपको सम्पूर्ण पोषण मिल जायेगा। अक्सर ये रिसर्च में पता चला है की जानवरों के शरीर से निकलने वाले पर्दाथ जिसमें मुख्य (मांस, माँसाहार, डेयरी उत्पाद) खाने वाले डायबिटीज, गैस वह अन्य कई रोगों के शिकार होते हैं। अधिक जानकारी के लिए “वीगन” [Vegan] लोगो से जुड़े,  जो आपको सारी सच्चाई बतायेगे।
इन्हें भी पढ़े;-

Leave a Comment