Google Adsense in Hindi – गूगल ऐडसेंस से पैसा कैसे कमाए?

Table of Contents

Google adsense se paise kaise kamaye in Hindi 

आज आपको इस पोस्ट में गूगल के विज्ञापन  अपने ब्लॉग, वेबसाइट और यूट्यूब चैनल पर लगाकर पैसे कैसे कमाए इसके बारे में सारे सवालों के के जवाब मिलेंगे। इस पोस्ट में पूरा एक साल का अनुभव डाला हुआ है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपका दो महीना से तीन महीने का कीमती समय बच जायेगा।

गूगल एडसेन्स क्या हैं? (what is adsense in Hindi)

ऐडसेंस एक विज्ञापन कंपनी (Ad network)  हैं, जिसका मालिक गूगल हैं। विज्ञापन देने वाले लोग (advertiser) गूगल को पैसा देते हैं, अपने विज्ञापन गूगल पर दिखाने के लिए। और जिस सेवा के जरिये विज्ञापनकर्ता विज्ञापन देते हैं, उसका नाम गूगल एडवर्ड (AdWords) हैं। और यह विज्ञापन गूगल के पब्लिशर जैसे;- ब्लॉगर, यूटूबर, android ऐप्प डेवलपर इत्यादी, अपने पब्लिश्ड कंटेंट पर लगाते हैं, एडसेन्स के माध्यम से और Google Adsense विज्ञापनकर्ता से लिये गए पूरे पैसों को पब्लिशर को 70% हिस्सा बाँट लेते हैं। और 30% पैसा गूगल खुद अपने पास रख लेता हैं। तो साधारण भाषा में इस तरह गूगल एडसेंस काम करता है।

adsense account in hindi, adsense se paise kaise kamaye,
         Google adsense india

Adsense 50 + Questions and Answers in Hindi

Q.1 )  ऐडसेंस Ka owner Maalik Kon hain ?

Answer – गूगल कंपनी इसका मालिक हैं।

Q.2) kya ऐडसेंस sabhi language per approval deta hain / support karta hain?

Ans – नही, गूगल एडसेंस सिर्फ अंग्रेजी, हिंदी, मराठी और अन्य इस आर्टिकल पर दी गई भाषा पर ही मान्य हैं।

यह पढ़े ⇒  Google adsense supported Language

Q.3) Premium theme par ऐडसेंस approval jaldi milata hain?

Ans – नही, थीम भले फ्री की हो, वह रिस्पॉन्सिव होनी चाहिये। मतलब ऐसी थीम जो कंप्यूटर/मोबाइल/लेपटॉप और टेबलेट में उसकी स्क्रीन साइज के अनूरूप खुल सके। आसान भाषा में आपका विजिटर आपकी वेबसाइट को बिना किसी परेशानी किसी भी डिवाइस में खोल सके।

Q.4) poori koshish karane ke baad bhi approval naa mile tou kya kare ?

Ansr – अगर आपको लगता हैं, की मैंने अपने ब्लॉग पर सबकुछ सही सेटप किया हैं, मैं अपनी तरफ से बिल्कुल सही हूँ, इसके बावजूद गूगल मुझे एप्परूवल नही दे रहा हैं, तो निराश ना होवे, क्योंकी मेरा adsense [100 ] बार disapproved रिजेक्ट होने के बाद approved हुआ हैं। पहली सलाह तो यही दूंगा, मैने एडसेन्स टॉपिक 4-5 पोस्ट लिखी हैं, वह आराम से दो बार पढ़कर, सारी बाते कॉपी में लिख दे, दूसरी बात खुद से कोशिश करें, दुनिया  में हर समस्या का समाधान उपलब्ध हैं।

Q.5) Kya paise dekar एडसेंस अप्रूवल mil jaata hain [ adsense approval service in India exposed ]

Ansr – नही, ये लोग आपकी साइट को approved करवाएंगे या नही, पर आपकी वेबसाइट की धज्जियां ये पूरी उड़ा देंगे। इनसे अच्छा आप अपनी वेबसाइट के बारे में जानते हैं, की क्या गलत हैं, और क्या सही। मैंने खुद ने अपने 300 रूपये खर्च किये, कोई फायदा नही। खुद की कोशिश से a. approval करवाने का मजा ही कुछ और हैं, दूसरे करवाएंगे तो हो सकता हैं, वो आप पर जीवन भर दवाब डालेंगे। क्योकी आपको अपना ब्लॉग/ एडसेन्स के सारे यूजर id / पासवर्ड उनको देना होंगा।

Q.6) WordPress website hou tou Kitne article likhne honge adsense approval ke liye?

Ansr- कुछ लोग 50 बोलते हैं, कुछ लोग 40, 30, और 25 का !!  पर मेरा व्यक्तिगत अनुभव यह हैं, की सिर्फ 15 पोस्ट बहुत ज्यादा यूजफुल, उपयोग जानकारी, low competition कीवर्ड पर, यूजर को ध्यान में रखते हुए पोस्ट लिखते हो, तो आपको 100%, एडसेंस अप्परूवल मिल जायेगा।

Q.7) Blogger blog ya blogpost.com hou tou Kitne article likhne honge एडसेंस अप्रूवल ke liye?

Ansr – जबाव नम्बर (6) इसपर भी लागू होता हैं। मेरी सलाह रहेंगी, 20 आर्टिकल जरूर लिखे।

Q.8)  एडसेंस अप्रूवल mein sabase important factor kya hain?

Ans- क़्वालिटी कंटेंट !!!! मतलब पोस्ट ऐसी लिखे, जिसपर गूगल विज्ञापन दे सके। अपने हिसाब से नही, आपका विजिटर क्या चाहता हैं, उसकी आवश्यकता की पूर्ति करें। यूजर की डिमांड पूरी करे, उसको पूरी जानकारी दे।

Q.9) kis category / Lable पर approval fast miltaa hain?

Ans – ट्रैवेल एंड टूरिज्म, इंटरनेट, बिजनेस, टेक्नोलॉजी, मोबाइल, एंड्राइड, फाइनेंस, हैल्थ इत्यादी।

Q.10) Micro niche website per एडसेंस अप्रूवल possible hain ?

Ans- अगर  ज्यादा ट्रैफिक आ रहा है, तो मिल सकता हैं, पर 99% लोगो को नही मिलता क्योकी माइक्रो ब्लॉगिंग साइट का आर्टिकल कंटेंट बहुत छोटा होता हैं, उदाहरण, 100 शब्द, 300 शब्द।

Q.11) Quality content Ke alavaa aur kiya important factor hain fast a.p. ke liye?

Ansr – आपकी वेबसाइट की डिजाइन एकदम साफ-सुथरी होनी चाहिये, महत्वपूर्ण पेज (about us, contact us, privacy policy, disclaimer, term & condition ) , इसके अलावा ज्यादा विजेट ना जोड़े( सिर्फ email subscription, most popular ) ये दो widget ही रखे।
● अपनी वेबसाइट को गूगल सर्च कंसोल ओर google analytics के साथ भी लिंक जरूर करें।
● google webmaster में साइट जोड़ने के बाद  वहाँ पर अपना XML sitemap जरूर जनरेट करें।
● इसके अलावा robot.txt file भी जरूर बनाये

Q.12) kya blogger ke free blogpost.com par A. p. le sakte hain?

Ansr – जी हाँ, बिल्कुल! पर आप ब्लॉगिंग को सीरियस करना चाहते है, तो फ्री डोमेन से शुरुआत करना आपकी सबसे बड़ी भूल या गलती होंगी। इसलिए डोमेन में तो इन्वेस्ट करो ही करो।

Q.13) Kitne visitor per day aaye tab apne blog/website ko approval ke liye bhejana sahi rahenga ya apply kar sakte hain?

Ansr – बहुत सारे ब्लॉगर 100 visitors per day की सलाह देते हैं। पर मेरा व्यक्तिगत अनुभव यह है, की आपको 0 विजिटर पर भी अप्रूवल मिल जायेगा। लेकिन कई से भी ट्रैफिक आ रहा हैं, तो बहुत ज्यादा अवसर हैं, की आपको बहुत जल्दी मिल जाये।

Q.14) Domain age kitni honi chahiae?

Ans- भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान और अन्य एशिया महाद्वीप के देशों के लिए 6 महीने गूगल ने बताया है। लेकिन यह भी एक भ्रम ही हैं, क्योकी बहुत सारे ब्लॉगर को 1 या दो महीने में ही  एडसेंस अप्रूवल मिल जाता हैं। इसलिए आपका डोमेन एक महीना पुराना होते ही, अप्लाई कर दीजिये।

Q.15) Kya hum khud ke ads per click kar sakte hain ?
Ans- नही! यह गूगल एडसेन्स पॉलिसी के खिलाफ हैं, आप अपनी वेबसाइट के विज्ञापन नही देख सकते, और नही आप उस पर क्लिक कर सकते हैं। अगर आपने थोडी सी होशियारी दिखाई, तो हमेशा – हमेशा के लिए आपका एडसेन्स अकॉउंट बंद कर देंगा गूगल।

Q.16) Mene koi galtee nhi ki fir bhi google ne mera एडसेंस  account suspend kar diya ab kya karu?
Ans – घबराये नही, मैं आपको नीचे अपील फॉर्म दे रहा हूँ, उस पर अपनी शिकायत दर्ज करें, आपका अकॉउंट वापस आ जायेगा।

यह पढ़े ⇒  Adsense Contact Form

Q.17) गूगल ऐडसेंस के सारे Updates कहा से प्राप्त करें?

Ans- आप गूगल पर डायरेक्ट ‘ google adsense community’ सर्च करें, वहाँ से आपको सारे अपडेट्स मिल जायेंगे। और अगर आपको ऐडसेंस अप्रूवल मिल गया हैं, तो ऐडसेंस login करके ही आप सारे अपडेट्स पढ़ सकते हो।

Q.18) Google Ad ke alavaa others advertisement network ki Ad apni website/blog per laga sakte hain?

Answ- बिल्कुल, पर शर्त यह हैं, की वो विज्ञापन कंपनी  ऐडसेंस की पॉलिसी को फॉलो करती हो। कुछ लोकप्रिय विज्ञापन कंपनी के नाम बताता हूँ, जिनको आप एडसेन्स के साथ-साथ लगा सकते हैं। ” मीडिया डॉट नेट, chitika, इत्यादी। ( पर इस बात का ध्यान रखें, गूगल दुनिया का नम्बर एक विज्ञापन प्रदाता कंपनी हैं )

Q.19) kya Adsense  ke saath others advertisement network use karnaa samajhdaari hogi?

Answ – बिल्कुल समझदारी नही होंगी। क्योंकि गूगल एडसेंस आपको 7 प्रकार की अलग-अलग ऐड फॉर्मेट देता हैं, और कोई सीमा भी नही हैं, आप जितनी चाहो, उतने विज्ञापन लगा सकते हो।

Q.20) Google Auto Ads Kya hain?

Answ – गूगल स्वचलित विज्ञापन एक एडसेंस का ही नया प्रोग्राम हैं, जिसमें आपको बस एकबार एक कोड अपने ब्लॉग/वेबसाइट में लगाना हैं, फिर आपका काम खत्म। अब गूगल ऑटोमेटिक आपकी सभी पोस्ट और पुरी वेबसाइट में विज्ञापन लगा देंगा। आपको कोई चिंता करने की जरूरत नही।

Q.21) Manual Ads Vs Google  auto ad  konsa Behtar?

Answ – देखो भाई, खेल पूरा ट्रैफिक का हैं, अगर ट्रैफीक हैं, तो कमाई भी तगड़ी होंगी, चाहे आप खुद से विज्ञापन लगाये या फिर गूगल ऑटो विज्ञापन दोनो में फुल कमाई हैं। बस आपका ब्लॉग ट्रैफीक ज्यादा होना चाहिये।

Q.22) Copy paste Articles post Content par ad approvals milne ke chance hain?

Ans-  बिल्कुल नही। अगर ऐसा होता तो कोई भी आदमी खामोखा मेहनत नही करता। सीधा आया इंटरनेट पर रोज के 100 आर्टिकल कॉपी पेस्ट किये, बन गए महीने के 10 – 20 हजार रुपये। कॉपी – पेस्ट कंटेट गूगल बिल्कुल भी रैंक नही करवाता। जब आप ब्लॉगिंग पूरा समझोंगे, तब आपको समझ में आयेगा। की हर पुराना या नया ब्लोगर अगर सफल हैं, तो उसने सारी पोस्ट या तो खुद से लिखी हैं, या पैसे देकर Content Creator hire करके लिखवाया होंगा।

Q.23) wix.com par blog banaye tou approval miltaa hain kya?

Ans- हा, यह भी वर्डप्रेस की तरह एक CMS(content management system)  सिस्टम हैं। विक्स पर भी बहुत सारे लोगों को अप्रूवल मिला हैं। बस जो शर्ते हैं आपको उपर बताई हैं, उनका पालन करना पड़ेंगा।

Q.24) A. approval ke liye organic OR Social konsaa traffic kaam aata hain?

Anr –  ज्यादा वेल्यू ऑर्गेनिक ट्रैफिक की होती हैं। क्योकी यह सीधा लोग गूगल पर सर्च करके आते हैं।

Q.25) Google Adsense ka pahla $100 ka payment kab aata hain?

Ans- ब्लॉग बनाने के बाद आप 6 महीना या अधिकतम 1 साल लगातार मेहनत करके आर्टिकल लिखते हो, तब आपको अपना पहला इनकम एडसेंस से होता है।

Q.26) Sirf ऐडसेंस Par nirbhar rahnaa sahi hain ?

Aer- ब्लॉगिंग में सिर्फ एडसेंस पर निर्भर रहना बिल्कुल भी सही नही हैं। आप अपने ब्लॉग को ब्रांड बनाये, उसके बाद आप एडसेन्स से ज्यादा पैसा अन्य इनकम सोर्स से कमा लोंगे।

Q.27) kab a. disapproved / Suspended hota hain ?

Anr – जब आप हैकिंग/क्रैकिंग, मूवीज डाऊनलोड, म्यूजिक डाऊनलोड, भड़काऊ कॉन्टेंट, दवाई का प्रचार, जूआ, केसिनो, नशा के उत्पादों का आर्टिकल के जरिये प्रचार करते हैं, तो ऐसी कंडीशन में गूगल यह पूरा अधिकार रखता हैं, आपके एडसेंस खाते को निरस्त करने का।

Q.28) Ek hee adsense account se multiple website aur youtube channel par approvals le sakte hain?

Ans-  बिल्कुल ले सकते हैं, एक ही एडसेंस खाते से आप बहुत सारी वेबसाइट और यूटुब चैनल जोड़ सकते हैं, पर रुकिए🤔 ! अगर एक एडसेंस पर कुछ भी प्रॉब्लम आयी, तो आपके सारे एडसेन्स अकॉउंट बंद हो जायेंगे। इसलिए हर  एक वेबसाइट/ यूटुब के लिए नए आईडी/पासवर्ड से एक नया एडसेंस एकाउंट बनाये।

Q.29) A. service hum google ke kis-kis product  mein use kar sakte hain ?
Answer-  वेबसाइट व ब्लॉग। ऐप्प के अंदर विज्ञापन लगाने के लिए  ऐडमोब (Admob) सर्विस हैं।

Q.30) Kya Youtube aur Website/ blog par approval lene ke liye alag-alag term & condition hain?
Ans- जी बिल्कुल। ब्लॉग में आपको फूली एप्रूव्ड (fully approved adsense) मिलता हैं। और यूटुब में नॉर्मल ( मतलब यूटुब में इतनी परेशानी नही होती हैं) यूट्यूब में आपको 4000 घण्टे और 1000 सब्सक्राइबरस की शर्त का पालन करना पड़ता हैं।

Q.31) Monetization ka matlab kya  hota hain?
Answer –  मोनेटाइजेशन का आसान मतलब यह होता हैं, की आप अपने यूटुब वीडियो तथा ब्लॉग आर्टिकल में विज्ञापन (advertisement) लगाने की अनुमति दे रहे हो। जैसे ही आप अपने blog/youtube पर  मोनेटाइजेशन चालू करते हैं, उसके बाद आपका गूगल के साथ समझौता हो जाता हैं।  जिसे टर्म एंड कंडीशन कहते हैं।

Q.32) Wo konse se niyam hain, jisase hum adsense se jyada paisa kama sakte hain?
Ans – आपको adsense friendly content लिखना होंगा ( मतलब ऐसा आर्टिकल जिसपर कोई प्रोडक्ट डिजिटल या फिजिकल पहले से ही मार्केट में उपलब्ध हो) तो आप ज्यादा इनकम कमा सकते हैं। उदाहरण के लिए:- आप ऑनलाइन पैसा कमाओ, टॉपिक पर लिख रहे है, तो इस पर हजारों, लाखो प्रोडक्ट ऑनलाइन उपलब्ध हैं, जिसके जरिये आपको high cpc rate मिलेंगा और आप ज्यादा पैसा कमा पाओगे।

Q.33) Google A. Account Youtube & blog ke liye kab banana achcha rahenga ?

  • जब आपने सभी नियम व शर्तो का पालन कर दिया हो।
  •  दूसरा, जब अच्छा ट्रैफिक ब्लॉग/ YT चैनल पर आ रहा हो।

Q.34)  ऐडसेंस  mein konsi 1 galati kabhi nhi karni chahiye ?

Anr –  blog/website  या यूट्यूब चैनल बनाने के बाद तुरन्त  adsense account ना बनाये, क्योकी आपका ब्लॉग/चैनल रिव्यू में नही जायेगा।

AdSense Pin verification कैसे करें?

जब आपके एडसेन्स अकॉउंट में $10 बेलेंस दिखने लगेंगा वह ( youtube में $15 ) तब आप अपनी एडसेन्स वेबसाइट ओपन करना, उसमें लाल कलर की एक पट्टी दिखेंगी, इसका मतलब गूगल ने आपके पोस्ट ऑफिस एड्रेस पर [PIN VERIFICATION] लिफाफा भेज दिया हैं। अब 10-15 दिन तक आप उस लिफाफे का इंतजार कीजिए। लिफाफा आने के बाद उसमें दिये गए गए कोड नंबर को अपनी वेबसाइट ओपन कर रेड पट्टी पर क्लिक करके वह नम्बर सही-सही आराम से भर दे।  बस यह गूगल एडसेंस पिन वेरिफिकेशन का काम समाप्त हो गया। पिन वेरिफिकेशन करते समय किसी घर की शांत जगह पर चले जायें क्योकी यह काम जीवन में एकबार करना हैं। जल्दबाजी में कुछ भी गलत कोड डाल दिया, तो प्रॉब्लम हो सकती हैं ।

गूगल ऐडसेंस हर महीने की कितनी तारीख को बैंक खाते हैं पेमेंट भेजता है?

जब आपका पिन एडसेन्स में जनरेट हो जायेगा >  उसके बाद आपके खाते में 100 डॉलर हो जायेगे, तो हर महीने की 21 तारीख को आपके बैंक अकॉउंट में गूगल पैसा भेज देंगा। इसकी सूचना गूगल आपके जीमेल पते पर भी दे देंगा। कभी – कभी 25 से 26 तारीख के बीच पैसा भेजता है। यूट्यूब और ब्लॉग वेबसाइट दोनों में अलग अलग नियम व शर्ते होती है।

Q.37) Adsense RPM kya hota hain ?

Anr – RPM का मतलब रेवेन्यू पर थाउसेंड (  Revenue per thousand ) मतलब आपने जो लेख/आर्टीकल लिखे, उसको कितने लोगों ने देखा। मतलब गूगल सिर्फ विज्ञापन पर क्लिक का पैसा ही नही, उस पर पड़ने वाले इम्प्रेशन (impression) का भी पैसा देता हैं। जो एक बहुत बड़ी बात हैं। मतलब विजिटर आपकी साइट पर ज्यादा आ रहे हैं, तो आपकी लाइफ सेट हैं।

Q.38) AdSense in Village in Hindi गांव में एडसेंस अप्रूवल कैसे मिलेगा?

 मुझे भी इस समस्या का सामना करना पड़ा था। पर मैंने बहुत ज्यादा रिसर्च की और अंत में पता लगा ही दिया की, जहाँ पर भारतीय डाक (india post) हैं। वहाँ पर एडसेन्स का लिफाफा आ जाता हैं लिफाफा एडसेन्स पिन कोड का। आपके गांव में पोस्ट ऑफिस है तो ये आपके लिए आज खुशी की बात है आपके घर पर लिफाफा आ जायेगा।

Q.39) ऐडसेंस Pin verification Code City mein jaldi aata hae ya village me ?
Answer – महानगर वह छोटे शहरों में जल्दी आता हैं। गाँव में समय ज्यादा लगता है। इसका मतलब ये नही, की आप किसी शहर का पता डाल दे, और Id card mein address गाँव का हो। ऐसा बिल्कुल नही चलेगा।

Q.40)  ऐडसेंस अकाउंट बनाते समय कौनसा कौनसा  एड्रेस यूज करें?

उत्तर – जो पेनकार्ड एंव आधार कार्ड में लिखा हो। पेनकार्ड सबसे बेस्ट है।

Q.41) A. Account Create karna hain, konse government/ligal documents jaruri hain?
Answer – पेनकार्ड, आधार कार्ड और एक बैंक account।

Q.42) Aap sabhi new bloggers ke liye ऐडसेंस  important message kya dena chahonge ?

Ans – जिस भी पेनकार्ड से अपना एडसेन्स एकाउंट बनाओ, उसी नाम का बैंक अकाउंट आपके पास होना चाहिए। वह जो घर का पता उस पैनकार्ड/आधार कार्ड में लिखा हुआ हैं, वही home address नया एडसेन्स अकाउंट बनाते समय डालना हैं।

Q.43) Adsense Monetization New Update kya hain in Hindi ?

उत्तर – अब आधार कार्ड मान्य नही होंगा। मतलब पहचान पत्र ( identity verification) के लिए अब आपको  पेनकार्ड अपलोड करना पड़ेंगा। इसके अलावा 2022 Update में आप असीमित विज्ञापन अपनी वेबसाइट पर लगा सकते हैं। इससे पहले आप सिर्फ तीन विज्ञापन ही लगा सकते थे।

Q.44) Agar mere dwara likhe gaye articles  ko koi others people social media par share kartaa hain tou koi problem tou nhi ?

Ans- नही!! उल्टा गूगल को लगेगा, इसके कंटेट में दम है, तभी लोग पढ़ने के बाद शेयर कर रहे हैं।

Q.45) Kis prakar ka traffic blog ke liye achha rahta hain ?

Ans – direct traffic & organic traffic.

Q.46 ) direct traffic & organic traffic kya hain ?

Ans – अगर इन दोनों तरीको को मिलाकर आपके ब्लॉग पर 50  या 70 % से ऊपर ट्रैफिक आ रहा हैं, तो इसका मतलब आपके ब्लॉग के लिए गुड न्यूज हैं।

१. [Direct Traffic ka matlab] – ये विजिटर आपकी वेबसाइट या आपके आर्टिकल नाम या उसके लिंक एड्रेस को सीधा गूगल में सर्च करते हैं। तब यह डायरेक्ट ट्रैफीक आता हैं। ऐसा तब होता हैं, जब आप अपने ब्लॉग पर बहुत उच्च गुणवत्ता वाले पोस्ट (high quality content) लिखते हो। ऐसे कंटेट लिखने से लोग सर्च करके आपके ब्लॉग को पढ़ते हैं।

२. [ Organic traffic ka matlab ] – जब आपकी कोई पोस्ट गूगल पर रैंक हो जाती हैं। या फिर यूजर गूगल पर कुछ सर्च करता हैं, और उसे आपकी पोस्ट दिख जाती हैं, उस लिंक पर क्लिक करके जो भी आपके ब्लॉग पर आता हैं, गूगल उसे ऑर्गेनिक ट्रैफीक मानता हैं।

Q.47)  Google adsense vs other advertising services for Monetize blog or Youtube Channel in Hindi 

Ans- समय की बर्बादी ! एडसेन्स को छोड़कर बाकी सब विज्ञापन कंपनी आपके विजिटर के लिए सही नही हैं। क्योकी अन्य कंपनिया बहुत ज्यादा अशलील सामग्री भी आपके विजिटर को दिखाती हैं, जो सही नही हैं। वह बात करे पैसों की, तो कोई भी advertising network  गूगल एडसेंस का मुकाबला नही कर सकती।

Q.48) Hinglish Blog par approval miltaa hain ?

Ans – हिंगलिश ब्लॉग का जीता -जागता उदाहरण में खुद हूँ। ( title & subtitles को शुद्ध एक भाषा में लिखे ) बाकी सब all post content आप हिंदी+ इंग्लिश = हिंगलिश में लिख सकते हो।

Q.49)  ऐडसेंस Vs Media.net comparison Konsa behtar ?

Ans- मेरा वोट एडसेन्स को। हर तरह से मैं डिटेल में इसकी तुलना करू, तो गूगल एडसेन्स ही जीतेंगा। मीडिया डॉट नेट सिर्फ अंग्रेजी वेबसाइट को ही अप्रूवल देता हैं।

Q.50) ऐडसेंस ko naukri (job) se compare kar sakte hain?

Ans – बिल्कुल नही !  नौकरी में मालिक आपकी सैलरी तय करता हैं। यहाँ पर (एडसेन्स में) आप खुद तय करते हो, की आपको कितना कमाना हैं। एडसेन्स में कोई लिमिट नही हैं। आप अपनी बुद्धि से हजारों/लाखो डॉलर प्रति महीना कमा सकते हो।

Q.51) Last Lekin Very important beginner bloggers ke liye ?

Ans –  कुछ दिल की बाते, जो मैंने सफल ब्लॉगर से सीखी;-

  •  आपके कंटेट से ज्यादा विज्ञापन ना भरे।
  •  हमेशा यूजर की वैल्यू करें।
  •  पहले ब्लॉग बनाये, उसकी अच्छी इमेज बनाये, उसके बाद एडसेन्स के बारे में सोचे, वरना अगर ट्रैफीक नही हैं, तो आप उल्टा-सीधा काम करोंगे, इसके चक्कर में आपका ब्लॉग भी disapproved हो सकता हैं।

Top 10 Adsense myths in Hindi

1. कम traffic में भी एडसेंस से सारे सपने सच किये जा सकते हैं?

उत्तर – संभव हैं, पर भारत के लोगो के लिए नही, यहाँ पर CPC (कॉस्ट पर क्लिक) बहुत कम मिलता हैं, जिससे हम भारतीयों को बहुत कम पैसा मिलता हैं, उदाहरण के लिए 1000 ट्रैफिक भारतीय ब्लॉग पर आता हैं, तो 10 -20 डॉलर की कमाई होंगी। वही यही ट्रैफिक किसी अमेरिका या अन्य किसी high cpc rate देश की वेबसाइट पर आये तो उसको 100 से 200 डॉलर की कमाई होंगी।  लेकिन बहुत बुरा भी नही कह सकते हैं। ट्रैफिक अच्छा हैं, तो कमाई के जरिये हजार है।

2. सारे ब्लॉगर / यूट्यूबर सिर्फ एडसेंस से इतने अमीर बने?

Answer – झूठ !!! सिर्फ वही लोग एडसेंस से अमीर बन सकते हैं, जिनको मिलियन्स में हर दिन व्यूज आते हैं, चाहे वो ब्लॉग हो या यूट्यूब। और सच्चाई यह हैं, की इनकी 90 % आमदनी स्पॉन्सरशिप (Sponsorship) से आती हैं। ये लोग adsense पर इतना निर्भर नही रहते हैं।

3. ऑनलाइन पैसा कमाने के लिए गूगल एडसेंस ही एकमात्र साधन हैं।

उत्तर – यह बात बिल्कुल सत्य नही हैं !! एडसेन्स के अलावा बहुत सारे जरिये हैं, जिससे आप ऑनलाइन एडसेन्स से दस गुना ज्यादा पैसा कमा सकते हैं।

4. एडसेन्स अप्रूवल मिलते ही आपकी किस्मत बदल जायेगी।

उत्तर – ऐसा बिल्कुल भी नही हैं, अप्रूवल मिलने के 6 महीने तक आपको लगातार ब्लॉग/ यूट्यूब चैनल पर  ट्रैफिक लाना होंगा। अच्छा ऑडियंस build up करना पड़ेंगा, तब जाकर आपको पहला सौ डॉलर प्राप्त होंगा।

5. एडसेन्स apply  रात को 12 बजे करते हैं, तो आपको एडसेन्स टीम की तरफ से जल्दी रेस्पॉन्स मिलता हैं। (best time to apply for adsense in Hindi)

उत्तर-  मेरे केस में यह चीज 100% काम करती थी, पर ये सबके लिए काम नही करती। क्योंकि हर देश का टाइमजोन बहुत जरूरी होता हैं। asian countries वाले जरूर अप्लाई करे।

6. गांव के लोग ब्लॉगर एडसेन्स खाता नही बना सकते हैं या फिर Village Blogger को एडसेन्स पिन कोड कैसे प्राप्त होंगा? (adsense pin kya hota hai)

उत्तर- यह सबसे बड़ा मिथक हैं, जिसे मैंने तोड़ा। भारत का वो हर गाँव जहाँ पर भारतीय डाक पोस्ट ऑफिस ( india post ) की सेवा उपलब्ध हैं। वहाँ पर बिना किसी परेशानी गूगल आपका एडसेन्स पिन कोड भेज देंगा।

7. कुछ लोग एडसेन्स को इतना बढ़ा चढ़ाकर क्यों दिखाते हैं?

उत्तर-  क्योंकी उनको पैसे मिलते हैं, ऐसा कंटेंट बनाने का, ऐसे वीडियो लोग ज्यादा देखते हैं।  जबकी सच्चाई यह हैं, की जब आपको अप्रूवल मिल जायेगा, तब आपको पता चलेगा, की कितनी मेहनत के बाद एक कमाई का जरिया बनता हैं।

8. ब्लॉग बनाओ / पोस्ट लिखो/ पैसा कमाओ!! क्या इतना आसान हैं?
उत्तर-  नही !!! ये तीनो काम वही कर सकता हैं, जिसकी वास्तव में लेखन ( लिखने ) में मजा आता हो या फिर जिसकी ब्लॉगिंग में रूची हो।

9. हर कोई ब्लॉगिंग कर सकता हैं।

उत्तर – बिल्कुल नही !! सिर्फ वही लोग कर सकते हैं;-
● जिनको एक पैसिव इनकम सोर्स बनाना हैं
● जिनकी लेखन योग्यता अच्छी हैं।
● जिसके पास किसी खास विषय/ या किसी भी एक टॉपिक पर अच्छी पकड़ हो। वही इंसान ब्लॉगिंग कर सकता हैं।

10. ब्लॉगिंग ही पैसों का पेड़ हैं।

उत्तर – सिर्फ ब्लॉगिंग को ही बोलना गलतफहमी होंगी। ऑनलाइन/ऑफलाइन हर क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं, खूब पैसा हैं।

Adsense Meaning In Hindi

Ad का मतलब होता है विज्ञापन और Sense का मतलब होता है विवेक। दोनों मिलकर बन जाता है विज्ञापन देने से पहले बुद्धि लगाना। आज आपको एडसेंस का हिंदी में मतलब पता चल गया होंगा। अपनी बुद्धि लगाकर विज्ञापन देना।

 

इस पोस्ट को पूरा दिल से लिखा है देखते है गूगल का अल्गोरिथम इसको सर्च इंजन में जगह देता है या नही। 

RELATED POST

ऐडसेंस की सभी समस्याओं का समाधान एक ही पोस्ट में [Adsense All error fix ]

[Solved] Your site adheres to adsense programme policies in Hindi ( Duplicate Account error)

Adsense Disapproval disapproved क्यों होता है मोटिवेशन सभी ब्लॉगर के लिए

Adsense को Invalid Click Activity और Disable, Banned, Suspend होने से कैसे बचाए?

20 दिन में Adsense Approval मिलेगा

1 thought on “Google Adsense in Hindi – गूगल ऐडसेंस से पैसा कैसे कमाए?”

Leave a Comment