बाबा रामदेव जी के 75 अनमोल वचन | Baba Ramdev Quotes in Hindi 

बाबा रामदेव जी के 75 अनमोल वचन | Baba Ramdev Quotes in Hindi 

योगगुरु स्वामी रामदेव के नीचे लिखित सदवाक्य शत प्रतिशत आपको अपने जीवन-सफर में आगे ले जाने के लिए पूरा साथ देंगे। स्वामी रामदेव के यह कोट्स जो मैने पिछले पांच साल से उनके मुख से सूने वो इस पोस्ट में आपके साथ साझा कर रहा हूँ। स्वामी जी ने भारत की सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति योग को आज पूरी दुनिया में फैला दिया हैं। उनके जीवन- संघर्ष से हर भारतीय को कुछ सीखना चाहिए।

बाबा रामदेव जी के अनमोल वचन, स्वामी रामदेव कोट्स इन हिंदी,

 पतंजलि प्रोडक्ट्स के फायदे | 

पतंजलि के सबसे अच्छे शीर्ष 10 उत्पाद 

 पतजंलि औषधीय उद्यान हरिद्वार | Patanjali Tourist Places Herbal Park

स्वामी रामदेव पूरा जीवन योगमय- योग कोट्स

1. योगी नही, भोगी नही, योगी बनो।

2.  व्यायामपरक आसन शरीर को लचक, मजबूती, सुड़ौलता, सक्रियता, शुद्धता और स्वास्थ्य देते हैं।

3. हर भारतीय प्रतिदिन योगाभ्यास करने व करवाने का व्रत ले।  योग ही रोगमुक्त, दवामुक्त, नशामुक्त, व्यसनमुक्त व तनावमुक्त दिव्य जीवन का मूल हैं।

4. जीवन में बीमार पड़ना पाप हैं, जिस दिन आप बीमार हो जाओ, उस समय याद करो, आपने उस दिन योग

5. भ्रामरी प्राणायाम से मन शांत होता हैं, दिमाग का मेमोरी पावर तेज होता हैं। ओम उच्चारण मन करें, कंठ से आवाज निकलनी चाहिये।

6. सर्वागाआसन – सभी अंगों का आसान है। प्रतिदिन करनें से आंखों की रोशनी बढ़ती हैं।

7.  अनुलोम- विलोम प्राणायाम के लगातार अभ्यास से आप हर बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं। शरीर की प्राणऊर्जा बढ़ जाती हैं।

8.  उदगीत प्राणायाम (ॐ ऊँचारण ) – शरीर के सभी रोग खत्म, तनाव दूर हो जाता हैं, वैज्ञानिकों ने रिसर्च के आधार पर कहा हैं, ओम उच्चारण से 12 प्रकार की बीमारियां खत्म होती हैं।

बाबा रामदेव जी केे मोटिवेशनल कोट्स

1. मेरे सभी प्रिय देशवासियों – ये मेरी जिंदगी, यूँ तो आज भी किसी से अलग नही, कही फर्क है, तो सिर्फ ‘ज्ञान’ का।
“ज्ञान यानि शास्त्रों की जानकारी, उसका व्यवहारिक अनुभव या बोध। शास्त्रों का यही ज्ञान, जब मुझे गुरुजनों के श्रीमुख से मिला, तो आचरण में लाने पर वही ज्ञान मेरे दिव्य-जीवन का निर्माता बन गया।

 

2. इस आध्यात्मिक और इस सम्मत ज्ञान ने ही मुझे ब्रह्मचारी से सन्यासी बनाया, इसी ज्ञान ने आज मुझे एक आदर्श के रूप में इस संसार में स्थापित कराया। ये ज्ञान ही तो हैं, जिसने मेरा सारा जीवन ही बदल दिया।

 

3. मुझे आज भी याद है, बचपन के वो सुहाने दिन, वो मेरा गांव, तालाब में तैरने का वो आनंद, सब याद हैं, मुझे।
लेकिन जब मैं कुछ बड़ा हुआ, तो मेरी ये पसंद बदल गई। तब मन में न तो वो गांव रहा, न ही कोई बगीचा, न ही कोई खेल। मुझे बस पढ़ना और योगभ्यास करना ही अच्छा लगने लगा। इसलिए मै जा पहुंचा खानपुर गुरुकुल।

 

4. अगर आपका इरादा नेक हैं, तो जमकर मेहनत करो, आपके लक्ष्य पूरा होंगा।

 

5. देश का युवा आत्मनिर्भर बने, और गलत विचारों और गलत कामो से बचे।

योग गुरु रामदेव के अनसुने सफलता सूत्र

● एक बार भी गलत काम मत करो, क्योंकी अगर उस गलत चीज की लत लग गई, तो आपका पुरा जीवन बर्बाद होंगा।

● योग, आयुर्वेद,  स्वदेशी, शिक्षा व संस्कारो के द्वारा निष्काम सेवा के द्वारा मैं अपने जीवन व जगत को पुण्यो से प्रकाशित करूंगा।

● जीवन में वाणी, व्यवहार, व विचारों के दोषों को दूर करने के लिए तथा जीवन पथ पर आगे बढ़ने के लिए प्रतिदिन शाम को आँख बंद कर आत्म निरक्षण करें।

● किसी काम में जब स्वार्थ हो, तो उससे प्राप्त हुआ अर्थ-अनर्थ का कारक बनता हैं।

● सभी लक्ष्यों की प्राप्ति का प्रथम आधार आरोग्य। और आरोग्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार हैं।

● प्रतिदिन जीवन उपयोग में आने वाली स्वदेशी वस्तुओं के ही प्रयोग का व्रत ले। स्वदेशी मात्र कोई वस्तु नही, यह तो ईश्वरीय न्याय, बहुत विराट व गंभीर जीवन का दर्शन हैं।

● स्वदेशी- भाषा, वेशभूषा, भजन ये मात्र भावना या स्वार्थ पर टिका एक दर्शन नही, ये तो देश के सम्पूर्ण गौरवशाली विकास का व समृद्धि का मूल हैं।

● हमारे पास शरीर, मन, वाणी, पद के रूप में जो भी मिला हैं।, वह सब भगवान या देश की सेवा में समर्पित कर देना, क्योंकी जो भी हमें मिला हैं, हमारे पास हैं, सब भगवान और देश से ही तो मिला हैं।

● सामर्थ्य का भोग करने से हमारे पुण्य खत्म हो जाते हैं।
सामर्थ्य सेवा में लगाने से हमारे पुण्य बढ़ जाते हैं। यही हमारी संस्कृति और परम्परा हैं। जो व्यक्ति ऐसा जीवन जीता हैं। उसका जीवन दिव्य, महान, यशश्वी और सर्वलोकहितकारी बन जाता हैं।

बाबा रामदेव जी के 15 स्वास्थ्य घरेलू उपचार

1. कील-मुहासों के लिए- पानी ज्यादा पीयें,  नीम के पत्ते 3-3 सुबह-शाम खाये, मिर्च-मसाला एंव गर्म चीजें कम खाये।

2. कब्ज व पेट रोगों में उपयोगी आहार- अमरूद, पपीता, गाजर, सेब, दूधी, मुन्नका, अंजीर एंव सभी हरी सब्जियां।

3. बवासीर रोग– खाली पेट गाय के एक कप ठंडे दूध में एक नीम्बू निचोड़कर तुरन्त पीयें।

4. पीलिया – बड़ी दूधी ( लौकी ) को घिसकर पीने से पीलिया रोग शांत हो जाता हैं।

5. सिर में भारीपन तथा सिरदर्द – बादाम का तेल व गाय का घी थोड़ा सा गुनगुना करके 5-5 बूँद नाक में सुबह खाली पेट तथा सायंकाल सोते समय डालने से सिरदर्द में लाभ मिलता हैं।

6. मधुमेह का उपचार- नीम के 7 पत्ते सुबह खाली पेट चबाकर अथवा पीसकर पानी के साथ लेने से मधुमेह में आराम मिलता हैं।

7. नहाने के पानी में नीम्बू का रस मिलाकर नहाने से शरीर की दुर्गन्ध दूर होती हैं।

8. नहाने से पहले दोनों पैरो के अंगूठो में सरसो का शुद्ध तेल मलने से वृद्धावस्था तक नेत्रों की ज्योति कमजोर नही होती। प्रातःकाल नंगे पाव हरी घास पर चलने से आँखों की रोशनी बढ़ती हैं।

9. अंकुरित अन्न, फलो और दलिये को भोजन का हिस्सा बनाये। भोजन के बाद 5 मिनट वज्रासन करने से पाचन तंत्र अच्छा होता हे।

10. हमेशा कमर सीधी रखकर बैठे। जमीन बिना दीवार के सहारे बैठे।

11. भोजन के तुरंत बाद आइसक्रीम न खायें। खाने के तुरंत बाद न लेटे।

12. सांस हमेशा नाक से छोड़े। मुख से सांस नही लेना चाहिए।

13. शरीर की शुद्धि के लिए सप्ताह में एक दिन बिना कुछ खाये सिर्फ पानी पीकर व्रत जरूर करें।

14. नशीले पर्दाथों के सेवन से तन, मन, धन, धर्म और आत्मा की हानि तथा अपनी और परिवार की बदनामी होती हैं।

15. प्रसन्नता स्वास्थ्य की सबसे बडी चाबी हैं।

 योग गुरु बाबा रामदेव जीवन परिचय

 

इन्हें भी पढ़े ;-

अकेलेपन को कैसे दूर करें?

पैशन का मतलब क्या है? जुनून को फॉलो करने के फायदे

100+ Today Quotes in Hindi 2021 | आज का अनमोल वचन [२०२१]

आचार्य बालकृष्ण जी के 30 आयुर्वेदिक नुस्खे 

भारत के 5 लोकप्रिय यूटूबर्स के मोटिवेशनल कोट्स और उनका यूट्यूब चैनल नाम

राजीव दीक्षित जी के अनमोल विचार

पुष्कर राज ठाकुर के अमीर और सफल बनाने वाले कोट्स 

पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य के अनमोल वचन

डॉ. विवेक बिन्द्रा के 80 अनमोल विचार |

संदीप माहेश्वरी के 35 प्रेरणादायक विचार

 

Tages;- Baba Ramdev quotes anmol vachan suvichar,

Leave a Comment